युवती के शादी तुड़वाने की धमकी से नाराज युवक ने युवती की गला घोंटकर कर दी हत्या

युवती के शादी तुड़वाने की धमकी से नाराज युवक ने युवती की गला घोंटकर कर दी हत्या

By: shivmangal singh

Published: 16 May 2018, 08:30 PM IST

तीन साल से युवती व युवक के बीच चल रही थी शादी की चर्चा, अन्य युवक से प्रेम प्रसंग की शक पर हत्या का बनाया प्लान
अनूपपुर। जैतहरी थानांतर्गत गांव ठोडीपानी में ९ मई की सुबह गढढाटोला खेत में मिले कल्लू राठौर की २८ वर्षीय पुत्री सोनादेवी राठौर के शव तथा पुलिस जांच में गलाघोंट कर हुई हत्या के मामले में आखिरकार पुलिस ने ५ दिन उपरांत अंधी हत्या के मुख्य आरोपी २७ वर्षीय भगवानदास उर्फ भोंग्गल राठौर पिता रामकुमार राठौर निवासी चोरभठी जैतहरी को गिरफ्तार कर हत्या की अनसुलझी गुत्थी का पर्दाफास किया। जिसमें गिरफ्तार आरोपी ने युवती की हत्या करने की बात कबूली। इस दौरान पुलिस ने आरोपी भगवानदास राठौर की निशानदेही पर मृतिका के मोबाईल को भी जब्त किया। पुलिस आरोपी से अन्य बिन्दूओं पर पूछताछ कर रही है। पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने मंगलवार १५ मई को जैतहरी थाने में प्रेसवार्ता आयोजित कर बताया कि हत्या की जांच पड़ताल में यह बात सामने आई कि युवती सोनादेवी राठौर का भगवानदास उर्फ भोंग्गल से पिछले ३ साल से सम्बंध चला आ रहा था। जिसमें दोनों शादी करना चाहते थे। लेकिन युवती सोना भगवानदास को पिछले तीन साल से शादी के मामले में भगवानदास को टालमटोल कर रही थी। जिसे देखते हुए बाद में भगवानदास ने अपनी शादी ११ मई को भगतबांध गांव में तय कर दी। इसी दौरान सोनादेवी राठौर को जानकारी मिली तो उसने भगवानदास से शादी कैंसिल कर उससे शादी करने का दवाब बनाया। इस दौरान सोनादेवी राठौर उससे शादी नहीं करने पर भगतबांध में भगवानदास लगी शादी को तुडवानें की धमकी दी। शादी को लेकर दोनों के बीच वाद विवाद भी हुआ। जिसके उपरांत भगवानदास अपने घर चोरभठी चला आया तथा शाम को फोन कर उसे पंचायत भवन के आगे बुलाया, जहां सोनादेवी राठौर रात ७.३० बजे अपने घर से निकल भगवानदास से मिलने पहुंची। लेकिन पंचायत भवन के आगे सोनादेवी राठौर का इंतजार कर रहा भगवानदास ने मौका पाकर उसी के दुपट्टे से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को खींचकर गढढा खेत में फेंक बाइक से वापस घर लौट आया। आश्चर्य की बात यही कि युवक ने हत्या के उपरांत ११ मई को बारात लेकर भगतबांध पहुंचा और अपनी शादी रचाई। आरोपी भगवानदास राठौर का कहना है कि युवती द्वारा बार बार शादी की बात पर टालमटोल करने पर उसे शक हो गया था कि सोना का सम्बंध किसी और से है, बावजूद वह सोना को अन्य युवको से दूर रह उससे शादी करने को मनाता रहता था। सोना शादी के सम्बंध में अपने माता पिता से बातचीत नहीं की थी। बीच-बीच में पैसे की मांग भी करती रहती थी। सोनादेवी उसे ब्लैकमेल कर रही है। अंतिम समय में जब सोनादेवी ने शादी तुडवाने की बात कही तो उसे लगा कि अब वह यहां का भी नहीं रहेगा और वहां का भी नहीं रहेगा। इसी गुस्से में आकर उसने सोना की हत्या कर दी। हालांकि यह आश्चर्य की बात है कि १२ मई को दुल्हन के साथ बारात वापसी आने के दो दिन बाद१४ मई को पुलिस ने युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ आरम्भ की। इस दौरान उसके हाथों में रची मेंहदी के रंग भी फीके नहीं हुए थे और वह हत्या के आरोप में पुलिस के साथ खड़ा था।
वर्सन:
युवक और युवती के बीच तीन साल से शादी को लेकर बातचीत चल रही थी। लेकिन युवती अभी तक टालमटोल कर रही थी। युवक की शादी तय होने पर युवती ने उसे शादी तोडऩे का दबाव बनाया था। जिसमें अपनी शादी तुड़वाने की धमकी से नाराज युवक ने इस हत्या को अंजाम दिया और हत्या के उपरांत निर्धारित तिथि को शादी भी रचाई। युवक को लगा कि युवती उसे शादी के झांसे में ब्लैकमेल कर रही है।
सुनील कुमार जैन, पुलिस अधीक्षक अनूपपुर।
--------------------------------------

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned