पांच सूत्री मांगों को लेकर आंगनबाड़ी और सहायिका कार्यकर्ताओं ने सौंपा ज्ञापन

जेल भरो हुंकार रैली में 59 सदस्यों ने दी गिरफ्तारी

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 07 Mar 2020, 08:02 AM IST

अनूपपुर। मानेदय सहित अन्य विभिन्न मांगों को लेकर आंगनबाड़ी, सहायक मिनी कार्यकर्ता एकता यूनियन (सीटू) के बैनर तले ६ मार्च को आंगनबाड़ी व सहायिका कार्यकर्ताओं ने रैली निकाली। जहां नगर भ्रमण करते हुए नायब तहसीलदार नीलेश सिंह को ज्ञापन सौंपा। वहीं जेल भरो हुंकार रैली में ५९ सदस्यों ने गिरफ्तारी भी दी, जिसे एक्सीलेंस स्कूल परिसर में ही पुलिस ने अस्थायी जेल बनाते हुए गिरफ्तारी और जमानती कार्रवाई की। मुख्य मांगों में महिलाओं पर हिंसा, कार्यस्थल पर यौन उत्पीडऩ, आर्थिक शोषण व सामाजिक उत्पीडऩ के खिलाफ शामिल रहा। जिलाध्यक्ष अफसाना बेगम ने ज्ञापन के माध्यम से बताया की देश में महिलाओं और बच्चो पर ङ्क्षहसा और अत्याचार गंभीर रूप से बढ़ते जा रहे है। केन्द्र में मोदी की अगुवाई में भाजपा सरकार आने के बाद से महिलाओं और बच्चो के खिलाफ हिंसा में तेजी देखी गई है। कामगार महिलाओं के खिलाफ भेदभाव बेरोकटोक जारी है। श्रम शक्ति के सर्वेक्षण के अनुसार काम में महिलाओं की हिस्सेदारी की दर २००४ के ४१.६ प्रतिशत से गिरकर २०१७-१८ में २२ प्रतिशत हो गई है। पुरूषो की तुलना में महिलाओं का वेतन ग्रामीण क्षेत्रो में ३४ प्रतिशत कम है और शहरी क्षेत्रो में १९ प्रतिशत कम है। जहां पांच मांगों में सभी को रोजगार दो, महिलाओं के अवैतनिक कार्य को स्वीकृति दो, सभी महिला श्रमिको के लिए न्यूनतम वेतन और पुरूषों के समान वेतन देने, योजना कर्मियो आंगनबाड़ी, आशा-ऊषा, मध्यान्ह भोजन कर्मी आदि को श्रमिको के रूप में स्वीकृति, सभी कानूनी प्रावधान जैसे कार्यस्थल पर यौन उत्पीडऩ निवारण समिति, झूलाघर आदि की सविधा लागू करने तथा महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अत्याचार और हिंसा बंद कर दोषियों के लिए कड़ी सजा सुनिश्चित करने की मांग की गई है।
---------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned