scriptAnuppur Smart Class Project Wins Skoch Silver Award, Awarded in Techno | अनूपपुर स्मार्ट क्लास प्रोजेक्ट ने जीता स्कॉच सिल्वर अवार्ड, स्कोच शिखर सम्मेलन में प्रौद्योगिकी श्रेणी में मिला सम्मान | Patrika News

अनूपपुर स्मार्ट क्लास प्रोजेक्ट ने जीता स्कॉच सिल्वर अवार्ड, स्कोच शिखर सम्मेलन में प्रौद्योगिकी श्रेणी में मिला सम्मान

locationअनूपपुरPublished: Jul 05, 2021 12:04:23 pm

Submitted by:

Rajan Kumar Gupta

दसवीं कक्षा एमपीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं में औसतन 10.45त्न सुधार, 2019 में 50 स्कूलों में शुरू हुआ था प्रोजेक्ट

Anuppur Smart Class Project Wins Skoch Silver Award, Awarded in Techno
अनूपपुर स्मार्ट क्लास प्रोजेक्ट ने जीता स्कॉच सिल्वर अवार्ड, स्कोच शिखर सम्मेलन में प्रौद्योगिकी श्रेणी में मिला सम्मान
अनूपपुर। अनूपपुर स्मार्ट क्लासेस परियोजना ने ३ जुलाई आयोजित 74वें स्कोच शिखर सम्मेलन में ‘प्रौद्योगिकी’ श्रेणी के तहत प्रतिष्ठित स्कोच सिल्वर अवार्ड जीता है। इस सम्मान से पिछड़े जिले के रूप में पहचाने जाने वाले अनूपपुर का मान बढ़ा है। बताया जाता है कि वर्ष 2021 के लिए जिलों के लिए स्कोच स्टेट ऑफ गवर्नेंस मूल्यांकन का कार्य अप्रैल में शुरू हुआ था, जिसमें नामांकन अवार्ड स्कॉच इन पर ऑनलाइन आमंत्रित किए गए थे। स्कोच अवार्ड 2021 के लिए मूल्यांकन और मूल्यांकन शुरू हुआ और अनूपपुर स्मार्ट क्लास परियोजना नामांकन को जूरी, डोमेन विशेषज्ञों की उपस्थिति में ऑनलाइन मूल्यांकन प्रस्तुति के लिए शॉर्टलिस्ट किया था । इसके लिए प्रस्तुति तत्कालीन कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर (आईएएस) अनूपपुर वर्तमान कलेक्टर, सीहोर द्वारा दी गई थी। जिसपर विशेषज्ञों के पैनल द्वारा परियोजना की बातचीत और मूल्यांकन के आधार पर स्मार्ट क्लास प्रोजेक्ट ने ऑर्डर-ऑफ-मेरिट सेमी फ़ाइनल के लिए अर्हता प्राप्त की। वहीं ३ जुलाई को आयोजित 74वें शिखर सम्मेलन में देश भर से बड़ी संख्या में प्रतिनिधियों ने भाग लिया। अंतिम दिन कुल 70 सेमीफाइनलिस्ट मौजूद थे और अनूपपुर स्मार्ट क्लास प्रोजेक्ट को ‘टेक्नोलॉजी’ श्रेणी के तहत प्रतिष्ठित स्कॉच सिल्वर अवार्ड प्रदान किया गया। वरिष्ठ अध्यापक डॉ. कौशलेन्द्र सिंह ने बताया कि अनूपपुर स्मार्ट क्लास परियोजना 2019 में अनूपपुर के 50 सरकारी स्कूलों में कक्षा ९वीं और १०वीं के लिए आरम्भ किया गया था। इन 50 स्कूलों ने 2019 में स्मार्ट क्लास परियोजना के तहत परिणामस्वरूप अपनी दसवीं कक्षा एमपीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं में औसतन 10.45त्न सुधार पाया गया।
बॉक्स: क्या है स्कोच अवार्ड
2003 में स्थापित स्कोच अवार्ड उन लोगों, परियोजनाओं और संस्थानों को सम्मानित करता है जो भारत को एक बेहतर राष्ट्र बनाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करते हैं। स्कोच पुरस्कार विजेताओं में शक्तिशाली और सामान्य समान रूप से शामिल हैं। उन्हें यह पुरस्कार समाज में योगदान देने में उनकी असाधारण उपलब्धियों के लिए दिया जाता है। वर्षों से स्कोच अवार्ड का रोल ऑफ ऑनर इसका प्रमाण है। पुरस्कार विजेता स्कोच पुरस्कार को एक स्वतंत्र संगठन द्वारा प्रदत्त देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान के रूप में महत्व देते हैं।
बॉक्स: ये विषय क्षेत्र थे शामिल
अवार्ड में डिजिटल, वित्तीय और सामाजिक समावेशन के बेतहर प्रयासों को शामिल किया गया है। इसमें बेहतर शासन, समावेशी विकास, प्रौद्योगिकी और अनुप्रयोगों में उत्कृष्टता, परिवर्तन प्रबंधन, कॉर्पोरेट नेतृत्व, कॉर्पोरेट प्रशासन, नागरिक सेवा वितरण, क्षमता निर्माण, सशक्तिकरण और अन्य ऐसे नरम मुद्दे शामिल हैं जो आमतौर पर ग्लैमर और उद्योग की चकाचौंध में खो जाते हैं। स्कोच अवार्ड न केवल असाधारण उपलब्धि हासिल करने वालों-संगठनों और व्यक्तियों को सम्मानित करता है, बल्कि प्रेरणादायक मार्गदर्शन और प्रेरक नेतृत्व को भी प्रोत्साहित भी करता है।
-----------------------------------------
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.