शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर सब्ज़ी पहुंचाने की होगी व्यवस्था, कलेक्टर ने दिए निर्देश

बेसहारा लोगों को चिन्हित कर वितरित किया जाएगा भोजन, स्वयं सेवी संस्थाओं से सहयोग की अपील

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 27 Mar 2020, 06:02 AM IST

अनूपपुर। कोरोना संक्रमण के कहर से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले नागरिकों को बचाने की पहल में अब जिला प्रशासन शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में जरूरत की सामग्रियों सहित सब्जी भी पहुंचाने की व्यवस्था बना रही है। जिसमें कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान जीवनोपयोगी वस्तुओं की आपूर्ति करने के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं को बनाने अधिकारियों को निर्देशित किया है। ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर सब्जी पहुंच सके इसकी व्यवस्था करने सचिव एवं रोजगार सहायक को निर्देशित किया है। जबकि शहरी क्षेत्रों में सोशल डिस्टेसिंग के साथ लॉकडाउन की व्यवस्था को पूरी तरह कारगर बनाने अब एसडीएम को वार्डो में आवश्यकत बस्तुओं की पूर्ति कराने निर्देश दिए हंै, इस दौरान नगरपालिका कोतमा में २६ मार्च से घर घर सामग्रियों को पहुंचाने के कार्य को आरम्भ भी कर दिया है। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्र में मज़दूरों की आजीविका के लिए पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि मनरेगा अंतर्गत व्यक्ति मूलक कार्य किए जा सकते हैं जिसमें 10 से कम लोगों की आवश्यकता हो। कार्य के दौरान सोशल डिस्टन्सिंग मानको का अनिवार्य रूप से ध्यान रखा जाए। कलेक्टर ने बताया कि सभी नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब बेसहारा लोगों को भोजन के पैकेट पहुंचाने की व्यवस्था किए जाने निर्देशित किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी कर्मचारी एवं नगरीय क्षेत्रों में नगरपालिका के अधिकारी कर्मचारी ऐसे लोगों का चिन्हांकन कर उन्हें खाद्य पैकेट उपलब्ध कराने की व्यवस्था करेंगे। स्वयं सेवी संस्थाएं जो इस प्रयास में सहयोग करना चाहती हैं सम्बंधित विभाग के अनुविभागीय दंडाधिकारी (एसडीएम) से सम्पर्क कर सहयोग कर सकती हैं। कलेक्टर ने बताया कि सुचारू व्यवस्था एवं सोशल डिस्टन्सिंग के प्रति आमजनो को जागरूक करने कोरोना नियंत्रण वालंटियर्स का चयन किया जा रहा है। शीघ्र ही उन्हें दायित्व सौंपें जाएँगे। साथ ही आम नागरिकों से अपील की है कि अनावश्यक बाहर न निकलें, बाहर निकलने पर सोशल डिस्टन्सिंग मानको का अनिवार्य रूप से पालन करें।
बॉक्स: धारा 144 अंतर्गत जारी प्रतिबंधात्मक आदेश में आंशिक संशोधन
रेलवे के कर्मचारियों जिनके पास वैध पहचान पत्र है को अपने निवास स्थान से कार्यस्थल तक आने.जाने में छूट, अति आवश्यक वस्तुएं एवं खाद्य सामग्री की दुकानों को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक खोले जाने की छूट, प्रत्येक दुकानदार अपनी दुकान में सैनेटाईजर की उपलब्धता बनाए रखे तथा ग्राहकों को खाद्य सामग्री प्रदाय करने के पूर्व सैनेटाईजर का उपयोग हाथों में कराएंगे। साथ ही ग्राहकों के बीच 1 मीटर की दूरी बनाए रखेंगे, जिले के समस्त पेट्रोल-डीजल पंप संचालकों को समस्त बैंकों में राशि जमा/ निकासी करने की छूट, एलआईसी कार्यालयों के कर्मचारी अल्टरनेट दिवसों में बैठकर अपने कार्यो का संपादन करेंगे तथा एलआईसी शाखा प्रबंधक अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को निवास स्थान से कार्यस्थल तक जाने वैध पहचान पत्र जारी करेंगे, बैंक की शाखाओं में दोपहर 12 बजे से 3 बजे भीतर जाकर राशि जमा और निकासी करने का कार्य किया जा सकेगा। बैंक शाखा के प्रत्येक काउंटर में एक समय पर 1 व्यक्ति एवं बैंक शाखा के अंदर अधिकतम 10 व्यक्ति ही उपस्थित होंगे।
---------------
आपदा राहत कोष में लाख रूपए जमा, कलेक्टर ने दिए २१ हजार का योगदान
कोरोना संक्रमण को आपदा मानते हुए अब इसमें उपयोग होने वाले संसाधनों के लिए मदद व आम नागरिकों से सहायतार्थ राहत कोष का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया है। जिसमें २४ घंटे के दौरान लगभग डेढ़ लाख रूपए से अधिक की सहायता राशि जमा हो गई है। कलेक्टर ने सर्वप्रथम २१ हजार रूपए की सहायता राशि राहत कोष में जमा कराई है। जिसके बाद आम नागरिकों, मीडियाकर्मी, और शासकीय सेवकों ने मदद में कदम बढ़ाया है।
----------------------------------------
बॉक्स: एक वाहन एक व्यक्ति की अनुमति
कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी चंद्रमोहन ठाकुर ने लॉकडाउन में आमजनो की अनुमति सीमा अब दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक कर दी है। इस आदेश का उद्देश्य है आमजनो के बीच 1 मीटर की निर्धारित दूरी बनी रहे। साथ ही एक परिवार से एक ही व्यक्ति के बाजार करने की अनुमति प्रदान की गई है। यानि एक वाहन में एक ही व्यक्ति को आने की अनुमति होगी। इसके साथ ही सभी नागरिक खरीदारी करते वक्त 1 मीटर की दूरी अनिवार्य रूप से बनाए रखेंगे।
----------------------------------------
कालाबाजारी करने वालों की दुकानें होगी सील
जिले में कोरोना संक्रमण के खतरे के मद्देनजर लगाया गया धारा १४४ और लॉकडाउन में व्यापारियों द्वारा ग्राहकों से उचित मूल्य की बजाय मनमाना दर पर सामान विक्रय करने की शिकायतों पर कलेक्टर ने अब सख्ती से कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। जिसमें समस्त व्यापारियों को चेताया है कि किसी भी प्रकार की कालाबाजारी या प्रिंट मूल्य से अधिक मूल्य लेने अथवा मूल्यों में अनावश्यक वृद्धि पाई जाने पर कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। सभी अनुविभागीय अधिकारियों को ऐसे मामलों पर दुकानो को सील कर कठोर कार्रवाई के लिए निर्देशित किया है। कलेक्टर ने सभी व्यापारियों से संकट के इस समय समाज का सहयोग करने की अपील की है।
------------------------------------------------
आज से सब्जी मंडी का संचालन शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय अनूपपुर ग्राउंड में
सब्जी खरीदने के दौरान सोशल डिस्टसिंग की विधिवत रूप से पालना सुनिश्चित करने अब 27 मार्च शुक्रवार से सब्जी मंडी का संचालन शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय अनूपपुर ग्राउंड में किया जाएगा। इससे पूर्व सब्जी मंडी परिसर में ही बाजार लगाए जा रहे थे। जहां नागरिकों की उमड़ी भीड़ तथा संक्रमण के खतरे को भांपते हुए एक्सीलेंस स्कूल परिसर में अस्थायी बाजार व्यवस्था बनाई है।
----------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned