खाद्यान्न लेने वाले हितग्राहियों को देना होगा जीवित होने का प्रमाण, आधार कार्ड के साथ थम्ब मशीन में लगेंगे निशान

मृत सदस्यों और अन्य स्थानों से राशन उठाने वाले परिवारों की होगी छंटनी, दिसम्बर माह से आरम्भ हुई नई व्यवस्था

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 16 Dec 2020, 11:53 AM IST

अनूपपुर। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को शासकीय स्तर पर मिलने वाली खाद्यान्न योजना में अब परिवार के सदस्यों को अपना जिंदा होने का प्रमाण विभाग को देना होगा। विभाग ऐसे परिवार के सदस्यों का साल में एक बार आधार कार्ड के साथ थम्ब इम्प्रेशन मशीन के माध्यम से जीवित होने का प्रमाण लेकर आगामी सालभर के लिए उनके लिए खाद्यान्न आवंटन की व्यवस्था बनाएगी। इससे विभाग परिवार के मृत सदस्यों की छंटनी के साथ साथ अन्य स्थानों से राशन उठाने वाले हितग्राहियों को आसानी से विलोपित करने की प्रक्रिया पूरी करेगी। साथ ही पात्र हितग्राही के अलावा अन्य सदस्य के शासकीय योजना का दुरूपयोग पर भी अंकुश लगा सकेगी। इसके लिए नागरिक खाद्य आपूर्ति मंत्रालय द्वारा दिसम्बर माह एक नई व्यवस्था बनाई है, जिसमें खाद्यान्न योजना से लाभांवित होने वाले परिवार के सदस्यों का जीवित प्रमाणीकरण के लिए दिसम्बर माह का निर्धारण किया गया है। दिसम्बर माह में दर्ज हुए वास्तवित परिवारों की संख्या के आधार पर आगामी जनवरी माह के लिए पात्र हितग्राहियों के लिए सम्बंधित दुकान में खाद्यान्न का आवंटन कराया जाएगा। जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी एके श्रीवास्तव ने बताया कि इस नई व्यवस्था में राशन दुकान पर निर्धारित मात्रा में अनाज उपलब्धता, वास्तविक पात्र हितग्राही और अन्य स्थानों से खाद्यान्न उठाव करने वाले हितग्राही का सम्बंधित दुकान से नाम विलोपित करने की कार्रवाई आसानी से पूरी की जा सकेगी।
बॉक्स: आधार कार्ड के साथ थम्ब के लगेंगे निशान
अभी तक बैंकिंग व्यवस्था में पेंशनधारियों को साल में एक बार लाइफ सर्टिफिकेट देने की व्यवस्था थी। लेकिन अब खाद्य वितरण प्रणाली व्यवस्था में यह प्रक्रिया अपनाई जाएगी। जिसमें हितग्राही अपने सोसायटी पर पहुंचकर कार्ड में दर्ज परिवारों के नाम के आधार पर जीवित होने की पुष्टि करने के साथ थम्ब निशान से मशीन में वास्तविकता की पुष्टि करेंगे। हितग्राही ई-केवाईसी पोर्टल के माध्यम से भी ऑनलाइन अपनी जीवित का प्रमाण दे सकेंगेे। परिवार के सदस्य की अनुपस्थिति में सम्बंधित व्यक्ति की जानकारी लेकर उसके नामों का विलोपन करेंगे। हालंाकि अंगूठे की लकीरों के मिटने की वैकल्पिक व्यवस्था में पर्ची के माध्यम से खाद्यान्न प्रदान किया जाता रहेगा। वहीं छह माह से लगातार खाद्यान्न नहंी उठाने वाले हितग्राहियों के भी नाम खाद्यान्न पात्रता सूची से हटा दिया जाएगा।
बॉक्स: कहां कितने परिवार
जनपद पंचायत पात्र हितग्राही परिवार संख्या
अनूपपुर २२९४० ९०८६७
जैतहरी ४०८३७ १५९३७४
कोतमा १३२३१ ५१३२७
पुष्पराजगढ़ ५१२८८ २१८८२७
नगर अनूपपुर १८२५ ७८४०
कोतमा २७१९ ११४३७
जैतहरी ११२६ ४५६७
बिजुरी २२८१ ९२८०
अमरकंटक ९१५ ३८०४
पसान १९०० ८६२१
------------------------------
टोटल १३९०६२ ५६५९४४
वर्सन:
अभी तक परिवार में किसी सदस्य के मृत होने बाद भी राशन का उठाव बना रहता था, लेकिन जीवित प्रमाण प्रक्रिया में विलापित किया जा सकेगा।
एके श्रीवास्तव, जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी अनूपपुर।
-----------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned