26 करोड़ के निर्माणाधीन बांध का फूटा किनारा, सैकड़ों किसानों के खेत जलमग्न

26 करोड़ के निर्माणाधीन बांध का फूटा किनारा, सैकड़ों किसानों के खेत जलमग्न

Amaresh Singh | Updated: 11 Jul 2019, 11:52:48 AM (IST) Anuppur, Anuppur, Madhya Pradesh, India

अधिक बारिश होने पर पांच गांव होंगे प्रभावित

अनूपपुर। कोतमा जनपद पंचायत के बेलियाबड़ी गांव में जलसंसाधन विभाग द्वारा बनाई जा रही 26 करोड़ की लागत वाली निर्माणाधीन बांध बुधवार की सुबह अचानक फूटकर बह गई। बांध का लगभग 15-20 फीट का एक हिस्सा उपर से नीचे तक पूरी तरह बह गई। जिसमें आसपास के सैकड़ों किसानों की सैकड़ों एकड़ की खेत जलमग्न हो गई। शुक्र था कि पास के पांच घर इस जल प्रलय की धार से दूर रहे, अन्यथा वह भी पानी के बहाव में बह जाते। घटना की सूचना मिलने पर कोतमा एसडीएम सहित जलसंसाधन विभाग अधिकारी, एसडीओपी कोतमा व ग्रामीण मौके पर पहुंचे। जहां बांध का निरीक्षण कर एसडीएम ने घटना के कारणों को जाना।

बांध के आसपास के रहवासियों को किया जाए विस्थापित
साथ ही अधिकारियों को निर्देशित किया कि बांध के आसपास जो घर है उसके परिजन फिलहाल कहीं और विस्थापित हो जाए। लेकिन परिजनों का कहना था कि वे घर छोड़कर किसके पास और कहां जाए। फिलहाल पिपरिया (बेलियाबड़ी) जलाशय ने पांच गांवों के लिए मुसीबत पैदा कर दिया, जहां ग्रामीण आगामी बारिश से होने वाली तबाई से भयभीत है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर जलाशय में अधिक पानी अटका तो बांध पूरी तरह ध्वस्त होकर बह जाएगी। इसका कारण बांध का निर्माण मिट्टी की जगह मुरूम से कराने की बात कह रहे हैं।

जलाशय का निर्माण 2017 में आरम्भ किया गया था
बताया जाता है कि पिपरिया जलाशय का निर्माण 2017 में आरम्भ किया गया था, जिसे 26 करोड़ 24 लाख 65 हजार की लागत से बनाया जा रहा है। इसके लिए लगभग 801 हेक्टेयर से भूमि लगभग 80-90 किसानों की जमीन को अधिग्रहित किया है। इस बांध का निर्माण तीन वर्ष में 2020 में पूर्ण किया जाना है। इस जलाशय से 7 किलोमीटर लम्बी नहर निकाली जाएगी तथा आसपास 5-6 गांवों को सिंचाई का लाभ दिया जाएगा। जिसमें अबतक आधी निर्माण कार्य पूर्ण हो सकी है। लेकिन इस दौरान पिछले कुछ दिनों से लगातार हुई बारिश में जलाशय में अधिक पानी का भराव हो गया और बांध फूट गया।


15 फीट मोटी पानी अब भी जमा
ग्रामीणों के अनुसार जलाशय में अब भी 15 फीट से अधिक मोटी पानी जमा हुआ है। जिस तरह से जोरदार मानसून की बारिश हो रही है उसे जलाशय में और दोगुनी पानी भराव होने की सम्भावना है। अगर पानी का अधिक भराव होगा, तो मुरूम की बंधी कमजोर बांध टूटकर पिपरिया गांव के साथ साथ बेलियाबड़ी, जोगीटोला, बरगंवा सहित आसपास के गांव को बहाकर तबाह कर देगी। लेकिन जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कुछ नहीं होगा। इस संबंध में बेलियाबड़ी कोतमा के सरपंच गुडिय़ा कोल ने कहा कि आज सुबह बांध का पानी अचानक बांध को तोड़ते आसपास के खेतों में भर गया है। इससे किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है। लेकिन जिस प्रकार से बांध टूटी है, और लगातार बारिश हो रही है, इससे खतरा टलना नहीं कहा जा सकता। एसडीएम और विभागीय अधिकारी से बांध से सुरक्षा दिलाने की अपील की गई है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned