तीर्थयात्रियों से भरी बस पलटी, 28 से अधिक यात्री घायल, महिला की कटी हाथ

मौके पर पहुंचे एसडीएम, तहसीलदार, थाना प्रभारियों ने आपातकालीन व निजी वाहनों से घायलों को पहुंचाया अस्पताल

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 23 Sep 2021, 11:43 AM IST

अनूपपुर। रीवा-अमरकंटक मुख्य मार्ग के किररघाट में तीन स्थानों पर धंसकी चट्टानों के बाद राजेन्द्रग्राम-बैहरघाट मार्ग से बहाल किए गए यातायात व्यवस्था में २२ सितम्बर को जैतहरी के बैहरघाट पर दूसरी बार बस पलटने की घटना घटी। जिसमें बस में सवार ३२ तीर्थ यात्रियों में से २८ यात्री घायल हो गए। इनमें ६ यात्री गम्भीर हालत में होने पर इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन यहां भी दो अतिगम्भीर घायलों को इलाज के लिए उच्च संस्थान रेफर किया गया है। घटना दोपहर १.१५ मिनट की बताई जा रही है। जानकारी के अनुसार अनूपपुर से सटे छत्तीसगढ़ राज्य के जांजगीर चांपा से २१ सितम्बर की दोपहर तीर्थयात्रियों को लेकर बस क्रमांक सीजी ११ डीबी १८२२ बिहार के गया जिले के लिए रवाना हुई थी। जो मप्र के अमरकंटक होते हुए मैहर होते आगे के लिए बढ़ती। लेकिन २२ सितम्बर की सुबह तीर्थयात्रियों का जत्था अमरकंटक दर्शन करने के उपरांत राजेन्द्रग्राम- बैहरघाट मार्ग होते हुए अनूपपुर की ओर आ रहे थे, तभी बैहरघाट के पास मोड़ से नीचे उतरने के दौरान सामने से आ रही बाइक को बचाने में बस चालक ने अपना नियंत्रण खो दिया, तेज रफ्तार से दौड़ रही बस अचानक बीच सडक़ पर पलट गई। इस घटना में बाइक सवार तो बाल-बाल बच गया, लेकिन बस में सवार २८ से अधिक तीर्थयात्री घायल हो गए। इसमें चालक को भी चोंटे आई, जबकि खलासी बाल बाल बच गया। बस के पलटते ही अंदर चीख-पुकार मच गई। स्थानीय लोगों ने किसी ्रप्रकार बस के सामने और खिडक़ी का कांच तोड़ते हुए घायलों को बाहर निकाला। इस दौरान बस पलटने की सूचना स्थानीय लोगों द्वारा जैतहरी पुलिस थाना सहित राजेन्द्रग्राम और एसडीएम को दी गई। सूचना के बाद दोनों थाना क्षेत्रों के साथ पुष्पराजगढ़ एसडीएम अभिषेक चौधरी, तहसीलदार टीआर नाग सहित थाना प्रभारी राजेन्द्रग्राम नरेन्द्र पॉल सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। वहीं जैतहरी थाना प्रभारी केके त्रिपाठी ने बस पलटने की सूचना पर तत्काल मोजरबियर पावर प्लांट जैतहरी की एम्बुलेंस वाहन सहित सीएचसी जैतहरी की एम्बुलेंस, जननी एक्सप्रेस वाहन को मौके पर भेजा। इस दौरान मौके पर मौजूद अधिकारियों द्वारा निजी वाहनों की भी सहायता लेते हुए सभी घायल को सीएचसी जैतहरी में भर्ती कराया। थाना प्रभारी जैतहरी केके त्रिपाठी ने बताया कि इस घटना में कोई जनहानि नहीं हुई है। लेकिन एक महिला की हाथ कंघे से जरूर कट गई है। महिला बस की खिडक़ी से बाहर हाथ निकाली हुई थी। चालक को भी चोंटे आई है, लेकिन वह वाहन छोडक़र अस्पताल में भर्ती होने से इंकार कर दिया है।
बॉक्स: छह गम्भीर जिला अस्पताल में कराए गए भर्ती, दो रेफर
जिला अस्पताल की सूचना के अनुसार सीएचसी जैतहरी और घटना स्थल से गम्भीर हालत में भेजे गए छह गम्भीर घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिसमें ५० वर्षीय शुरवारी बाई पति नोहर सिंह पटेल निवासी दिमानी जांजगीर, ६१ वर्षीय रामेश्वरी मरावी पति गेंद सिंह मरावी निवासी कोटेटरा, ३५ वर्षीय कौशल्या मरावी पति घनश्याम सिंह मरावी, ५५ वर्षीय भूरी बाई यादव पति झिंगुर यादव बम्हिनडीह, ८५ वर्षीय नारद प्रसाद, पिता भैयाराम कश्यप, ४१ वर्षीय घनश्याम मरावी पिता रणवीर सिंह मरावी शामिल हैं। इनमें दो घायलों की हालत गम्भीर देखते हुए अन्यत्र रेफर किया गया है।
बॉक्स: दो माह में दूसरी घटना
राजेन्द्रग्राम-बैहरघाट जैतहरी मुख्य मार्ग पर पिछले दो माह के दौरान बस दुर्घटना की दूसरी बड़ी घटना सामने आई है। इससे पूर्व १७ जुलाई को बस पलटी थी, जिसमें कंडक्टर की मौत हो गई थी तथा १९ घायल हुए थे। वहीं २१ सितम्बर को इस घटना में २८ यात्री घायल हुए हैं।
वर्सन:
पूर्व में घटना स्थल से थोड़ा आगे बैहरघाट में बस पलटी है। दो दर्जन से अधिक यात्री को चोंटे आई हैं, कुछ गम्भीर भी हुए हैं। अधिकारियों की मुस्तैदी में सभी घायलों को स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया है। जिनका इलाज जारी है।
केके त्रिपाठी, थाना प्रभारी जैतहरी।
----------------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned