खुले में फेंका जा रहा नगर व अस्पताल का कचरा

खुले में फेंका जा रहा नगर व अस्पताल का कचरा

ayazuddin siddiqui | Publish: Sep, 11 2018 05:25:50 PM (IST) Anuppur, Madhya Pradesh, India

वार्ड 4 में संक्रमण की आशंका, नागरिक परेशान

कोतमा. नगर पालिका के वार्ड क्रमांक 4 निगवानी मार्ग किनारे खुले मे नाले के पास नगर सहित अस्पताल का मेडिकल वेस्ट डम्प कराया जा रहा है। घनी आबादी के पास खुले में फेंका जा रहा कचड़ा संक्रमण का संकेत दे रहा है। जहां बारिश के पानी में सड़कर कचड़ा की आबोहवा से वार्डवासी बीमार हो रहे।
जबकि अस्पताल, स्कूल आने जाने वालो को दुर्गंध का सामना करना पड़ता है। जिसका सबसे ज्यादा प्रभाव स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों सहित अस्पताल आने वाले मरीज हो रहे हैं। बताया जाता है कि सड़क के किनारे पिछले 2 साल से लगातार खुले में कचडा फेंका जा रहा है, जो पूरेे क्षेत्र को बदबू व संक्रमण की चपेट में ले लिया है। कचड़े एंव गदंगी में आवारा पशुओं सहित सुकर भी दिनभर विचरण करते गदंगी को फैला रहे हैं। इस सम्बंध में वार्डवासियों ने कई बार नगरपालिका से कचड़ा नहीं फंेकने सहित कचड़े को हटाने की मांग की।
जिसपर रेउला के पास जमीन तलाश कर व्यवस्था कराने का सिर्फ आश्वासन दिया गया है। लेकिन अबतक कचड़ा डम्पिंग ग्राउंड बनाने की नपा ने पहल नहीं की है। नपा द्वारा कहा जाता है कि पूर्व में कलेक्टर के द्वारा नगर से निकलने वाले कचड़े के निष्पादन के लिए रेउला रोड पर टचिंग ग्राउंड की उपलब्ध करवाई गई थी। लेकिन आजतक स्थानीय राजस्व अधिकारी के द्वारा इस जमीन का सीमांकन नहीं किया जा सका है। बताया जाता है कि अस्पताल से निकलने वाले कचरा मानवीय जीवन के लिए अत्यधिक खतरनाक है। क्योंकि यह बायोवेस्ट जैसे ही हवा के सम्पर्क में आता है उसकी रसायनिक क्रिया हवा में घुल जाती है और फिर यही प्रदूषित वायु लोगों के सम्पर्क में आती है। जिससे कई तरह के संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। वहीं शहर से निकलने वाला कचरा भी लोगों को कम नुकसान नहीं पहुंचाता है। कहीं भी कचरा फेंक दिए जाने से नगर के लोगों का सांस लेना मुश्किल हो रहा है।
इनका कहना है
जो जमीन रेउला में अलाट हुई थी, वो ग्रामीण क्षेत्र में फंस गई है। नगर पालिका द्वारा दूसरे जमीन के लिए आवेदन करने पर जल्द जमीन उपलब्ध कराई जाएगी।
मिलिंद नागदेवे, एसडीएम कोतमा।

Ad Block is Banned