लगातार बारिश: रपटा पर केवई ने भरी उफान, दो दर्जन गांवों की आगमन बंद

लगातार बारिश: रपटा पर केवई ने भरी उफान, दो दर्जन गांवों की आगमन बंद

shivmangal singh | Publish: Sep, 09 2018 08:56:57 PM (IST) Anuppur, Madhya Pradesh, India

लगातार बारिश: रपटा पर केवई ने भरी उफान, दो दर्जन गांवों की आगमन बंद

कोतमा नगर को बाईपास से जोडऩे वाली रेलवे अंडरब्रिज भी जलमग्न, परेशान नगरवासी
अनूपपुर। जिले में गुरूवार-शुक्रवार को दिन-रात हुई मानसूनी झमाझम बारिश में जिले का कोतमा केवई रपटा फिर से उफान भरने लगा है, जहां लगभग डेढ़ से दो फीट मोटी पानी के तीव्र बहाव बना हुआ है। पानी के तेज बहाव के कारण कोतमा-आमाडांड मार्ग पूरी तरह बंद हो गया है। जिसके कारण शुक्रवार से कोतमा-आमाडांड वीरान सा हो गया है। इस मार्ग से आवाजाही करने वाले दो दर्जन से अधिक गांव केवई के दूसरी पार तक ही समिति रह गए हैं, उनका कोतमा मुख्य बाजार क्षेत्र से सम्पर्क टूट गया है। हालंाकि इससे पूर्व भी अधिक बारिश के दौरान रपटा पर बहाव बना। लेकिन एकाध दिनों में रपटा सामान्य दिनों की भांति यातायात के रूप में बहाल हो गया। लेकिन इस बार के बारिश तथा पानी के जमाव में स्थानीय लोगों का कहना है कि जिस प्रकार से नदी की धारा में तीव्रता बनी हुई और पानी मोटा है इसे कम होने में कुछ दिन और लगेंगे। फिलहाल दो दिनों से केवई रपटा पर यातायात पूरी तरह बंद है। विदित हो कि कोतमा और आमाडांड के बीच पीएमजीएसवाई द्वारा १८० मीटर लम्बा पुल का निर्माण कराया जा रहा है। लेकिन पिछले दो सालों से पुल का निर्माण अबतक पूर्ण नहीं होने पर रपटा ही गांवों को जोडऩे का मुख्य सम्पर्क मार्ग है। जिसमें आमाडांड, खोड्री, राजनगर, जमुड़ी, उरा, मलगा, फुलकोना और आसपास के ५० हजार की आबादी की आवाजाही जुड़ी है। केवई रपटा असुरक्षित बना है। जिसमें बिना रेलिंग की बनी रपटा थोड़ी सी चूक में अबतक आधा दर्जन से अधिक लोगों को असामायिक मौत का शिकार बना चुकी है। इससे पूर्व वर्ष २०१० में ही तीन लोग दरिया में बह गए। इनमें २४ जुलाई २०१० को मंजू केवट पुरानी बस्ती बुढ़ार, ३० जुलाई नितेश उर्फ निन्नी टांडिया पुलिस कॉलोनी कोतमा, ७ नवम्बर ७ वर्षीय खेल्लु अहिरवार की मौत हो गई। जबकि अगस्त २०१३ में शिक्षक लक्ष्मण तिवारी बह गए। वर्ष २०१४ में वाहन सहित फिरदौस की मौत की बहकर हो गई, जिसका शव आजतक उनके परिजनों को नहीं मिल सका। इसके अलावा अन्य मौतें भी शामिल हैं।
बॉक्स: इधर रेलवे अंडरब्रिज हुआ जलमग्न
एक ओर जहां कोतमा-आमाडांड मुख्य मार्ग ओवरफ्लो हो रही रपटा के कारण बंद है, वहीं दूसरी ओर कोतमा रेलवे अंडरब्रिज पानी पानी हो गया है। जिसके कारण बायपास के रूप में अनूपपुर से जोडऩे वाली कोतमा मार्ग पूरी तरह बंद हो गया है। रेलवे अंडरब्रिज के भीतर लगभग एक से डेढ़ फीट पानी जमा हुआ है। जिसके कारण नगरीय क्षेत्र की आवाजाही पूरी तरह प्रभावित है।
वर्सन:
अभी मैं मींटिंग में हूं, तहसीलदार को मौके पर भेज जो भी व्यवस्थाएं सम्भव होगी बनाया जाएगा। केवई रपटा पर अधिक पानी है, लोगों की सुरक्षा के लिए टीम को लगाया गया है।
मिलिंद नागदेवे, एसडीएम कोतमा।

Ad Block is Banned