तिपान नदी में नए पुल का निर्माण, 12 मीटर चौड़ी पुल से एक साथ गुजर सकेंगे तीन वाहन

विधायक ने भूमिपूजन कर पुल निर्माण की रखी आधारशिला, दोनों पुल पर यातायात रहेंगी बहाल

अनूपपुर। जिला मुख्यालय-जैतहरी मार्ग स्थित तिपान नदी पर लगभग ३० वर्ष पूर्व बनी पुल के र्जीणशीर्ष होने की कगार पर पहुंच गई है। जिसके सामानांतर नए पुल निर्माण के लिए २० नवम्बर को अनूपपुर विधायक बिसाहूलाल सिंह ने भूमिपूजन कर निर्माण की आधारशिला रखी। निर्माण एजेंसी के रूप में पुल निगम शहडोल द्वारा११० मीटर लम्बी पुल का निर्माण कराया जाएगा। यह पुल वर्तमान पुल से २० मीटर अधिक लम्बी होगी। साथ ही इसकी चौड़ाई भी वर्तमान पुल से ३.५ मीटर अधिक होगा। पुल निर्माण पर लगभग ६०७.१५ लाख की लागत प्रस्तावित निर्धारित की गई है। जिसमें अनुमानित लागत ६१०.७३ लाख तथा तकनीकि स्वीकृति ४७५.०४ लाख तय की गई है। इसे पुल निर्माण निगम शहडोल के अधीनस्थ श्रीराम कंस्ट्रक्शन कंपनी बिजुरी द्वारा तैयार किया जाएगा। पुल निर्माण १४ माह में पूर्ण किए जाने का लक्ष्य रखा गया है। यानि २५ फरवरी २०२१ तक अनूपपुर-जैतहरी मार्ग पर तिहरी लाईन वाली पुल अनूपपुर नगरवासियों के लिए सौगात के रूप में मिलेगी। जिसपर एक साथ तीन वाहनों की आवाजाही सम्भव हो सकेगी। पुल निर्माण निगम के अनुसार वर्तमान में अनूपपुर-जैतहरी-बिलासपुर मुख्य मार्ग पर नगरपालिका अनूपपुर वार्ड क्रमंाक १० स्थित तिपाननदी पुल पर ९० मीटर लम्बी और ८.५ मीटर चौड़ी पुल खड़ी है, जो अब मेंटनेंस के अभाव में जगह जगह से क्षतिग्रस्त होने लगी है। हालांकि पुल निगम ने इसे मजबूत माना है। लेकिन रेलिंग सहित अन्य स्थानोंं पर भारी यातायात के दवाब में पड़ रही दरार को देखते हुए नए पुल की आवश्यकता भी माना है। पुल निगम अधिकारियों का कहना है कि वर्तमान पुल पूर्व की भांति संचालित होगी, जहां १४ माह बाद नए सामानांतर निर्मित पुल का भी उपयोग कर वर्तमान पुल को राहत प्रदान की जाएगी। यहीं नहीं पुराने पुल के खराब होने पर पुन: उसी पुल के स्थान पर नया पुल खड़ा किया जाएगा। यह स्थिति क्रमवत: दोनों पुल पर लागू होगी। इससे अनूपपुर नगरीय क्षेत्र में बनने वाली यातायात दवाब को कम करने में मदद मिलेगी। फिलहाल नए सामानांतर पुल निर्माण को लेकर नगरवासियो में हर्ष का माहौल बना हुआ है।
विदित हो कि पूर्व मेंं पीडब्ल्यूडी विभाग अब बीएनआर अधीनस्थ से बनाए गए इस पुल का मेेेंटनेस विभाग द्वारा अरसे समय से नहीं कराया गया है। जिसके कारण पुल में जगह जगह दरारें पड़ गई है। जबकि पुल पर बनाए गए रैलिंग कई स्थानों से टूट चुकी है। जिसकी मरम्मती के लिए न तो स्थानीय विभाग पीडब्ल्यूडी और ना ही ब्रिज निगम शेहडोल द्वारा कोई मरम्मती कार्य कराया गया। अनूपपुर से जैतहरी पैंड्रा रोड होते हुए बिलासपुर को जोडऩे वाली यही एक मात्र सडक़ मार्ग हैं, जो अनूपपुर मुख्यालय से गुजरी है। हालांकि इस मार्ग पर जैतहरी से आगे पैंड्रा व बिलासपुर तक अनेक पुल बने हुए है। लेकिन मुख्यालय स्थित तिपाननदी पर बनी पुल अब जर्जर हो चुकी है। दिनरात हैवी यातायात के कारण कभी भी पुल पर कोई बड़ा हादसा होने की सम्भावना बनी रहती है। इससे पूर्व इस पुल के निर्माण के लिए वर्ष २०१४ में ही सडक़ निर्माण के प्रस्ताव के दौरान मांग की गई। लेकिन बजट सहित अन्य मामलों के कारण पुल निर्माण की प्रक्रिया अटक गया था।
वर्सन:
यह पुल उच्चस्तरीय क्षमताओं के मापदंड से निर्मित होगी। इसके निर्माण में १४ माह का समय लगेगा, लेकिन इसके बन जाने के बाद अनूपपुर-जैतहरी आवाजाही करने वाले वाहनों को लाभ मिलेगा।
बिसाहूलाल सिंह, विधायक अनूपपुर।

Rajan Kumar Gupta
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned