ठेकेदार को नहीं मिल रहे मजदूर, सडक़ निर्माण का कार्य अटका

ठेकेदार को नहीं मिल रहे मजदूर, सडक़ निर्माण का कार्य अटका

Rajan Kumar | Updated: 19 Aug 2019, 03:16:03 PM (IST) Anuppur, Anuppur, Madhya Pradesh, India

आधी-अधूरी सडक़ से नगर की यातायात व्यवस्था हुई बेदम, जगह जगह छूटे निर्माण से यात्री हो रहे हादसों के शिकार

अनूपपुर। अनूपपुर से बिलासपुर को जोडऩे वाली मुख्य मार्गो में शामिल अनूपपुर-जैतहरी मार्ग का नगरीय क्षेत्र अनूपपुर में निर्माण कार्य ठेकेदार की मनमानी में पूर्ण नहीं हो पा रहा है। पूर्व में ठेकेदार को पैसे की कमी में मैटेरियल नही मिल पा रहे थे, जहां जिला प्रभारी मंत्री द्वारा फरवरी माह में आवंटन किए गए ३ करोड़ की राशि के बाद अब सडक़ निर्माण के लिए ठेकेदार को मजदूर नहीं मिल रहे हैं। जिसके कारण माह भर से अनूपपुर-जैतहरी सडक़ का अंतिम निर्माण कार्य माहभर से बंद पड़ा है। इसके लिए जिला प्रशासन और विधायक द्वारा पूर्व में जल्द निर्माण कराने अल्टीमेंट के बाद अल्टीमेंटम जारी किए गए पर ठेकेदार ने निर्माण कार्य पूर्ण कराने में गम्भीरता नहीं दिखाई। जून माह के अंतिम अल्टीमेंटम के बाद अब अगस्त माह का आधा माह गुजर चुका है, बावजूद सडक़ निर्माण का कार्य जहां अधूरा छूटा था वहंी अटका पड़ा है। ठेकेदार की लापरवाही को देखते हुए बाद में खुद जिला प्रशासन और विधायक ठेकेदार से दूरी बना लिए। हालात यह है कि जिला प्रभारी मंत्री द्वारा जारी किए गए ३ करोड़ की राशि के उपरांत पिछले छह माह में डेढ़ किलोमीटर लम्बी सडक़ का निर्माण कार्य पूर्ण नहीं किया गया है। अनूपपुर नगरवासियों के लिए अनूपपुर-जैतहरी मार्ग की डेढ़ किलोमीटर लम्बी सडक़ नासूर जख्म के सामान बन गई है। सडक़ निर्माण में जगह जगह कट छोड़ दिए गए हैं। जिसमें किसी भी छोर पर यातायात बहाल नहीं किए जा सकते। दोनों छोर में जगह जगह आधा निर्माण कार्य अधूरा सडक़ छोड़ दिया गया है। विदित हो कि अनूपपुर से वेंकटनगर की प्रस्तावित ४०.६०० किलोमीटर की लम्बाई में अनूपपुर नगरीय क्षेत्र का यह हिस्सा निर्माण का अंतिम पड़ाव है। जिसे ठेकेदार पिछले डेढ़ साल से डेढ़ किलोमीटर लम्बी सडक़ का निर्माण पूरा नहीं कर सका। यह अंतिम कार्य अनूपपुर नगरीय क्षेत्र के अमरकंटक तिराहा से तुलसी महाविद्यालय के बीच निर्माणाधीन प्रारूप में अटके हुए हैं। उल्लेखनीय है कि अधूरी सडक़ के कारण पिछले दो माह में दो सडक़ हादसे हुए जिसमें एक की मौके पर मौत हो गई, जबकि दूसरा बाल बाल बच गया। वहीं भारी वाहनों की आवाजाही में इस अधूरी सडक़ से नगर की यातायात सबसे अधिक प्रभावित हुई। कभी कभी तो भारी वाहनों के काफिले मे घंटो जाम का समस्या बनती रही। जिसे हटाने के लिए भी कोई यातायात पुलिस या नगर पुलिस मौके पर नहीं पहुंचा। फिलहाल अधूरी सडक़ नगरवासियों के लिए किसी मुसीबत के सामान अपनी हकीकत बयां करने काफी है।
वर्सन:
पर्व के कारण ठेकेदार को मजदूर नहंी मिल रहे हैं। दो-तीन दिनों में मजदूरों की वापसी पर कार्य आरम्भ कराए जाएंगे।
अनिल मिश्रा, कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी विभाग अनूपपुर।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned