कोरोना: गर्भवती कोरोना संक्रमित महिलाओं के लिए अस्पताल में विशेष कॉर्नर की सुविधा

विषम परिस्थितियों से निपटने 1 डिफिब्रिलेटर सक्रिय, 36 बेड पर केंद्रीकृत ऑक्सीजन की सप्लाई

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 23 May 2020, 06:00 AM IST

अनूपपुर। कायाकल्प योजना के बाद कोरोना संकट में जिला अस्पताल नई तकनीको से लैस कोरोना संक्रमण से बचाव एवं सुरक्षा में विषम परिस्थितियों से निपटने और भी सशक्त बन गया है। जहां गर्भवती कोरोना संक्रमित महिलाओं के लिए विशेष कॉर्नर की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा सकेगी। यहीं नहीं विषम परिस्थितियों से निपटने एक डिफिब्रिलेटर को भी सक्रिय किया गया। पूर्व से सुविधायुक्त होने और वर्तमान में कोरोना संक्रमण से निपटने तैयार विशेष वार्ड व उपकरण के कारण अब अब जिला अस्पताल राष्ट्रीय एनक्यूएएस परीक्षण के लिए चयनित किया गया है। सिविल सर्जन डॉ. एससी राय ने बताया कि जिला अस्पताल में कोरोना के लिए स्थापित आइसोलेशन वार्ड में 28 बिस्तरों पर ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है। कोरोना मरीज़ों के लिए 3 वेंटीलेटर आरक्षित हैं साथ ही क्रिटिकल मरीज़ के लिए 1 डिफिब्रिलेटर भी स्थापित किया जा चुका है। इसके साथ ही पृथक वार्ड में 36 बेड पर केंद्रीकृत ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था का कार्य पूर्ण हो चुका है। डॉ. राय ने यह भी बताया कि अगर कोई गर्भवती महिला कोरोना संक्र्रमित हो जाती है तो सुरक्षित डिलीवरी एवं अन्य उपचार के लिए विशेषीकृत एवं पृथक कॉर्नर स्थापित किया गया है। कोरोना मरीज़ों के लिए पृथक से 2 एम्बुलेंस, शव वाहन की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर द्वारा 10 आईसीयू बेड की क्षमता विस्तार नियमित रूप से आगंतुक मरीज़ों एवं उनके परिजनों को जागरूक करते रहने के लिए ऑडीओ ब्रॉडकास्ट सिस्टम एवं इंटरकॉम की सुविधा के लिए शासन स्तर पर पत्राचार किया है, जिस पर शीध्र कार्य किया जाएगा। नोडल अधिकारी कोरोना नियंत्रण एवं बचाव डॉ. आरपी श्रीवास्तव का कहना है कि जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को नियमित रूप से सक्षम बनाया जा रहा है। वर्तमान में जिले में जिला अस्पताल एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ऑक्सीजन सुविधा युक्त 56 बेड कोरोना मरीज़ों के लिए आइसोलेशन बेड के रूप में चिह्नांकित हैं। कोरोना मरीज़ों के लिए समस्त शासकीय सुविधाएं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहित कुल 211 आइसोलेशन बेड हैं। इसके साथ ही 7 निजी स्वास्थ्य सेवा संस्थानों का चिन्हांकन किया गया है जिनमें 89 आइसोलेशन बेड हैं। इस प्रकार जिले में कोरोना मरीज़ों के लिए 300 आइसोलेशन बेड की वर्तमान में व्यवस्था है।
---------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned