महिला की गौशाला में फांसी के फंदे पर मिली लाश, पुलिस की उपस्थिति में पीएम और अंतिम संस्कार

ससुराल पक्ष ने हत्या कर फंासी पर लटकाने का लगाया आरोप, दोनों पक्षों के बीच नोंकझोंक

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 21 Feb 2021, 11:40 AM IST

अनूपपुर। भालूमाड़ा थाना अंतर्गत ग्राम दैखल में १९ फरवरी की रात १० बजे ३२ वर्षीय महिला संतोषी रजक पति हीरालाल रजक का शव उसके गौशाला में छप्पर के बल्ली में लगे फांसी के फंदे से लटका पाया गया। पत्नी के फांसी के फंदे पर लटका पाने पर पति हीरालाल ने तत्काल परिजनों को जगाते हुए बताया और ग्राम पंचायत सरपंच को सूचित किया। वहीं पुलिस ने घटना की सूचना पर सुरक्षा में पुलिस बल को तैनात किया। २० फरवरी की सुबह पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पंचनामा तैयार करते हुए पीएम उपरांत परिजनों को सौंप दिया। लेकिन इस दौरान सुबह बेटी की मौत की सूचना पर ससुराल पहुंचे मायका पक्ष के परिजनों ने जमकर परिजनों से विवाद करते हुए हंगामा मचाया। मायक पक्ष के परिजनों ने अपनी बेटी की लाश को देखते हुए ससुराल पक्षवालों द्वारा उसकी हत्या कर फांसी के फंदे पर लटकाने की बात कहते हुए पति तथा अन्य पर आपराधिक मामला दर्ज किए जाने की मांग की। मायका और ससुराल पक्ष के सदस्यों के बीच नोंक झोंक होते हुए हाथपाई की नौबत तक उतर आई। जिसपर मामले की गम्भीरता को देखते हुए भालूमाड़ा और फुनगा से और पुलिस बल को मंगाते हुए मामले को शांत कराया गया। महिला के शव का पीएम से लेकर अंतिम संस्कार तक दर्जनों की तादाद में पुलिस अधिकारी व अमला मौजूद रहा। जांच अधिकारी फुनगा चौकी प्रभारी रामभुवन शर्मा ने बताया कि पति हीरालाल शाम को बाजार से सब्जी लेकर आया था, जहां रात को खाना खाकर अपने दोनों बच्चों के साथ सो गया। पत्नी जेठानी के पास बैठी थी। लगभग १० बजे वह बाथरूम के लिए निकला था, जब वापस कमरे में जा रहा था तो देखा की पत्नी का शव गौशाला में फांसी से लटका हुआ है। जबकि मायका पक्षवाले हत्या कर फांसी पर लटकाने का आरोप लगाया है। फिलहाल मर्ग कायम किया गया, पीएम रिपोर्ट बाद भी आगे की कार्रवाई हो सकेगी।
बॉक्स: दो बार बिगड़ा विवाद का माहौल, पुलिस बल की उपस्थिति में पीएम व अंतिम संस्कार
पुलिस बल के उपस्थिति बाद भी ससुराल तथा मायके पक्ष के लोगों के बीच वाद विवाद बढ़ता चला गया। नौबत मारपीट तक पहुंच गई। पुलिस बल ने दोनों बार मामला सम्भाला और सुबह ११ बजे शव को अपनी निगरानी में पीएम के लिए भेजा, यहीं नहीं पुलिस की मौजूदगी में ही अंतिम संस्कार कराया गया।
------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned