scriptdogs roaming in district hospital pressing deadbody of newborn | मानवता शर्मसार : नवजात का शव मुंह में दबाकर जिला अस्पताल में घूमते रहे कुत्ते, एक हाथ खा लिया | Patrika News

मानवता शर्मसार : नवजात का शव मुंह में दबाकर जिला अस्पताल में घूमते रहे कुत्ते, एक हाथ खा लिया

-जिला अस्पताल की बड़ी लापरवाही
-कुत्ते का निवाला बना मासूम
-कुत्ता मूंह दबाकर ले जा रहा था बच्च का शव
-राहगीरों ने देखा तो छुड़ाया शव

अनूपपुर

Published: May 01, 2022 02:56:49 pm

अनूपपुर. जिला अस्पताल परिसर में मानवता को शर्मसार करने एवं दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां रविवार सुबह एक नवजात का शव मिलने से हड़कंप मच गया। इस बच्चे को आवारा कुत्ता अपना आहार बनाने अपने साथ मुंह में दबा कर ले जा रहा था, तभी राहगीरों की नजर कुत्ते पर पड़ी। तब तक कुत्ते ने बच्चे के एक हाथ खा लिया था। लोगों के द्वारा कुत्ते से मासूम को अलग कराया गया, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी, फिलहाल शव को जिला अस्पताल के पीएम रूम में रख दिया गया है।

अस्पताल के कचरे के ढेर से आज एक मासूम को मृत अवस्था में आवारा कुत्ता अपना निवाला बनाने ले जा रहा था, जिसे राहगीरों की मदद से उसे मरचूरी रूम में रखवाया गया है। जिसके बाद यह आशंका जताई जा रही है कि, प्रसव के दौरान मृत्यु हो जाने पर किसी के द्वारा कचरे के ढेर में शव को फेक दिया गया होगा। चिकित्सालय प्रबंधन मामले की जांच की बात कह रहा है। हालांकि, इस मामले में अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही साफ नजर आ रही है।

News
मानवता शर्मसार : नवजात का शव मुंह में दबाकर जिला अस्पताल में घूमते रहे कुत्ते, एक हाथ खा लिया

यह भी पढ़ें- E-Scooter मे लगी भयंकर आग, सिर्फ चेसिस रह गया बाकी, आप भी रखें इस बात का ध्यान


मासूम की मौत का जिम्मेदार कौन?

जिला अस्पताल के कचरे के ढेर से आज एक नवजात शिशु को मृत अवस्था में आवारा कुत्ता अपना निवाला बनाने ले जा रहा था। मगर राहगीरों और मीडिया कर्मी की मदद से उसे मरचूरी रूम रखवाया गया है। मामले में जिला अस्पताल प्रबंधन पर सवाल खड़े हो रहे है कि, अस्पताल में डिलीवरी के बाद हुई लापरवाही के कारण आज ये स्थिति निर्मित हुई है। क्या अस्पताल प्रबंधन की इतनी भी जिम्मेदारी नहीं बनती कि, मृत नवजात को सही तरीके से ठिकाने लगा दें। वहीं, इस मामले नवजात के परिजन की लापरवाही को भी कम नहीं माना जा सकता। किस निर्दयी मां ने मृत शिशु को क्यों छोड़ दिया, यह भी बड़ा सवाल है। नवजात किसकी लापरवाही से आवारा कुत्ते का निवाला बन गया, ये तो जांच में स्पष्ट हो ही जाएगा, लेकिन ये तो स्पष्ट है कि, जिम्मेदार अगर अपनी अपनी जिम्मेदारी समझें तो इस तरह के झकझोर देने वाले हालात दोबारा निर्मित न हों।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.