scriptDue to the fear of penalty, non-standard paddy started becoming standa | पेनाल्टी के भय से अमानक धान बनने लगी मानक, ट्रक लौटाने की बजाय अपग्रेडेशन करने दे रहे मोहलत | Patrika News

पेनाल्टी के भय से अमानक धान बनने लगी मानक, ट्रक लौटाने की बजाय अपग्रेडेशन करने दे रहे मोहलत

प्रशासन की बढ़ी परेशानी, अमानक धान की जांच में भेजा दल, रिपोर्ट के बाद होगी कार्रवाई

अनूपपुर

Published: December 27, 2021 08:11:26 pm

अनूपपुर। जिले में ३० केन्द्रों पर किसानों से की जा रही खरीदी और जगह के अभाव में उमरिया और डिंडौरी जिले में कराए जा रहे १५ हजार एमटी धान भंडारण में मानक और अमानक धान मामले में अब सर्वे कंपनी पर पेनाल्टी का भय दिखने लगा है। दोनों केन्द्रों पर अनूपपुर से पहुंच रहे ट्रक में धान को अमानक पाने पर उसे अनलोडिंग करते हुए इसकी सूचना जिला प्रबंधक मप्र सिविल स्टेट सप्लाइज कार्पोरेशन लिमिटेड अनूपपुर को दे रहे हैं। जिसमें सम्बंधित जिला प्रबंधक द्वारा यह भी बताया जा रहा है कि किन किन समितियों से आए धान अमानक पाए गए हैं, जो उन सेंटर पर अलग अलग स्टेकों में रखे हुए हैं। इन स्टेकों में भंडारित अमानक धान को दो दिनों में अपग्रेड कराने सम्बंधित समितियों को निर्देशित करें। यह आदेश सम्बंधित डिंडौरी और उमरिया जिले के जिला प्रबंधकों द्वारा २५ दिसम्बर से जारी किया जा रहा है। जबकि इससे पूर्व अनूपपुर जिले से भेजे गए १५ से अधिक ट्रक धान में उमरिया और डिंडौरी जिलों से सर्वेयर ने जांच के दौरान इसे अमानक बताते हुए बिना टीसी जारी किए वापस अनूपपुर लौटा दिया था। जिसके बाद विभागों के बीच मची हडकंप में मामले में एमडी भोपाल ने इस पर गंभीरता दिखाते हुए मामले की जांच कराने और सर्वेयर द्वारा गलत पाए जाने पर सम्बंधित सर्वेयर कंपनी के खिलाफ पेनाल्टी लगाने और परिवहन में हुए खर्च की राशि वसूल करने के निर्देश दिए थे। एमडी भोपाल का कहना था कि जब पूरे प्रदेश में एक ही कंपनी के सर्वेयर धान की अमानकता और मानकता की जांच कर रहे हैं तो इसमें अनूपपुर जिले में सर्वेयर द्वारा किसानों मानक पूर्ण धान खरीदी करते हुए भंडारण के लिए उमरिया या डिंडौरी भेजा जा रहा है तो यहां पर उसी कंपनी के सर्वेयर किस आधार पर मानक धान को अमानक बता रहे हैं। इस मामले में पत्रिका ने खबर को प्रकाशित किया था और यह भी बताने का प्रयास किया कि किसानों से धान खरीदी मामले में सर्वेयर नजराने के उपरांत ही किसानों की धान की मानकता की पुष्टि कर रहे हैं। इसमें कुछ केन्द्रों पर हुई शिकायत और विभागीय अधिकारियों की जांच में सही पाने का तथ्य भी सामने रखा था।
बॉक्स: आमनक धान में विभाग ने जांच दल भेजा डिंडौरी, रिपोर्ट के बाद कार्रवाई
शासन के निर्देश में अनूपपुर से प्रस्तावित ५ हजार एमटी धान उमरिया और १० हजार एमटी धान डिंडौरी भेजे जाने वाले धान में सप्ताहभर में ही ६ ट्रक धान को अमानक बताकर रिजेक्ट कर वापस भेजने के मामले में नागरिक आपूर्ति प्रबंधक एवं डिप्टी कलेक्टर विजय डहेरिया द्वारा एक जांच दल डिंडौरी भेजा है। इसें फूड निरीक्षक, सोसायटी प्रबंधक, सहित सर्वेयर को भेजा गया है, जो वहां अनूपपुर से भेजे गए मानक धान को अमानक बताए जाने पर अपनी जांच कर रिपोर्ट नान प्रबंधक को सौंपेगे। इसमें जांच रिपोर्ट के बाद नान प्रबंधक द्वारा आगे की कार्रवाई की जाएगी। विभागीय आंकड़ों में देखा जाए तो अनूपपुर वापस लौटे ६ ट्रक का जिक्र उमरिया और डिंडौरी द्वारा अमानक बताए गए धान की जानकारी पोर्टल पर फीड ही नहीं है। वहीं पोर्टल पर मात्र २ ट्रक को अमानक बताया गया है, जिसमें १ ट्रक धान बिना जानकारी उमरिया द्वारा अपग्रेड कर दिया गया है।
बॉक्स: ५ बोरी से लेकर १२०० बोरी तक अमानक, पोर्टल पर नहीं पूरी जानकारी
उमरिया और डिंडौरी से अपग्रेडेशन के लिए भेजी गई जानकारी में यह बात सामने आई है कि दो ट्रक अमानक धान में विभिन्न सोसायटी में ४ बोरी धन से लेकर १२०० बोरी तक यानी पूरी ट्रक ही अमानक धान बताया गया है। डिंडौरी से भेजी गई जानकारी में वहां गए ४६७८ क्विंटल धान में ४१२१ क्विंटल अमानक बताया गया है। जबकि उमरिया जिले से भेजी गई जानकारी में १०४० क्विंटल धान अमानक बताए गए हैं। वहीं विभागीय पोर्टल में मात्र १८०६ क्विंटल धान ही अमानक बताए जा रहे हैं। जबकि ६ ट्रक धान के अलावा दो अन्य ट्रक आमनक और मानक के बीच सामने आया है।
वर्सन:
पोर्टल में ६ ट्रक धान और कम अमानक की जानकारी दिखाई जा रही है इसकी जांच की जाएगी। अमानक धान की जांच के लिए दल को डिंडौरी भेजा गया है, जांच रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। नियम के अनुसार अमानक धान को उसे उतारकर शेष का भंडारण किया जाना था, लेकिन उन्होंने वापस भेजा है।
विजय डहेरिया, नाना प्रबंधक एवं डिप्टी कलेक्टर अनूपपुर।
---------------------------------------------------
Due to the fear of penalty, non-standard paddy started becoming standa
पेनाल्टी के भय से अमानक धान बनने लगी मानक, ट्रक लौटाने की बजाय अपग्रेडेशन करने दे रहे मोहलत

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.