घरों तक पहुंची बिजली की तार चोर ने काटा, तीन साल से अंधेरे में गुजर रहा आदिवासी परिवारों का जीवन

सीएम हेल्पलाइन से लेकर विभागीय अधिकारियों तक शिकायतों के बाद भी घरों में नहीं पहुंची बिजली

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 25 Oct 2020, 08:16 PM IST

अनूपपुर। अनूपपुर जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत दैखल में बांकाटोला-धनकुटा मार्ग पर तीन साल पूर्व आदिवासी पीएम आवास योजना के तहत बसे दर्जनभर परिवारों के घरों में आजतक बिजली की रोशनी उजाला नहीं फैला सकी है। लगभग ७०-८० परिवारिक सदस्य आज भी रात के अंधेरे में अपना जीवन यापन करने को विवश है। बिजली के अभाव में यहां निवासरत परिवारों के घरों में आधुनिक तकनीकि उपकरणों का अभाव है। सबसे बड़ी समस्या कि रात के समय अंध्ेारा होने पर बच्चों को पढ़ाई नहीं हो पाती। बोर्ड परीक्षा या स्कूल परीक्षाओं के समय यहां के स्कूली बच्चे रात के समय अपनी पढ़ाई नहीं कर पाते। हालंाकि इस सम्बंध में ग्रामीणों ने बिजली समस्या से निजात देने सीएम हेल्प लाइन के साथ साथ विभागीय अधिकारी, प्रशासनिक अधिकारियों व विद्युत विभाग के आयोजित कैंप में भी अपनी समस्याओं को रख चुके हैं। यहां तक ग्राम पंचायत से भी बिजली व्यवस्था बनाने बार बार अपील कर चुके हैं। लेकिन आश्चर्य पिछले दो साल से लगातार शिकायतों के बाद भी बिजली आपूर्ति आजतक नहीं हो सकी है।
ग्रामीणों ने बताया कि जैसे ही यहां पीएम आवास योजना के तहत हितग्राहियों ने रहना आरम्भ किया, ग्रामीणों की मांग पर विद्युत ठेकेदार द्वारा तीन खम्भे को लगाते हुए बिजली के तार बिछा दिए गए थे। हालांकि बिजली विभाग द्वारा तार बिछाने के बाद इन्हें चालू नहीं किया गया था। ग्रामीणों को उम्मीद थी कि बिजली के तार बिछ गए हैं तो बिजली भी चालू हो जाएगी। लेकिन इसी दौरान तीन माह बाद अज्ञात चोरो ने तीनों बिजली के खम्भें से लगी तार को काटकर चुरा ले गए। नवीन आदिवासी पीएम आवास परियोजना स्थल पर तीन बिजली के खम्भे तो लगे हैं लेकिन उनमें तार का कहीं कोई अता पता है। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि धीरे धीरे जैसे पीएम आवास योजना की राशियां स्वीकृत होती जा रही है, यहां मकानों का निर्माण दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है।

-----------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned