छत्तीसगढ-मप्र की सीमा पर हाथियों ने जमाया डेरा, आधा दर्जन गांवों पर विभाग की निगरानी

रात के समय टांकी गांव की ओर नहीं हुआ हाथी दल का मूवमेंट, पूर्व में गांव में मचाया था उत्पात

By: Rajan Kumar Gupta

Updated: 03 Jul 2021, 12:27 PM IST

अनूपपुर। छत्तीसगढ़ की सीमा लांघकर अनूपपुर के कोतमा वनपरिक्षेत्रांतर्गत टांकी पूर्व के बैगानटोला और बडक़ाटोला में उत्पात मचाने के बाद अब हाथियों का झुंड मप्र-छग की सीमा पर डेरा जमाए हुए हैं। ३० जून की रात दोनों गांवों में उत्पात मचाने के बाद दोबारा तीन सदस्यी हाथियों का दल १ जुलाई की रात टांकी गांव की ओर रूख नहीं किया है। इससे वनविभाग अमला सहित ग्रामीणों ने राहत महसूस की है। लेकिन मप्र-छग के बीच सीमा पर डेरा जमाए हाथियों के डटे होने से वनअधिकारियों की मुसीबत कम नहीं हुई है। वन उपमंडलाधिकारी मान सिंह मरावी ने बताया कि हाथियों के सीमावर्ती क्षेत्र में डेरा जमाए को देखते हुए वनीय सीमा से सटे आधा दर्जन गांवों में विभागीय अमला ने निगरानी बढ़ा दी है। साथ ही ग्राम वन समिति सहित पंचायत सचिव व सरपंचों को भी निर्देश देते हुए निगरानी बनाए रखने की अपील की गई है। वन उपमंडलाधिकारी ने बताया कि इससे पूर्व भी हाथियों का दल टांकी क्षेत्र में रहवास बना चुका है, इसके अलावा ३० जून को बडक़ाटोला और बैगानटोला में आहार की खोज में तोड़-फोड़ मचाते हुए बाड़ी और घरों को नुकसान पहुंचाया है, जिसे देखते हुए उसके पुन: वापसी से इंकार नहीं किया जा सकता। इसके लिए आसपास के आमाडांड, मलगा, टांकी, राजनगर, ढीमर जैसे गांवों में वनविभाग अमले की विशेष निगरानी लगाई गई है। साथ ही शाम के बाद जंगलों की आवाजाही के साथ खेतों में बने झोपड़ी, मकान में नहीं सोने की सलाह दी गई है।
बॉक्स: गांवों में रेंजर और बीट गार्ड के सम्पर्क नम्बर किए जारी
हाथियों के मूवमेंट और ग्रामीणों की सुरक्षा को देखते हुए अब वनविभाग ने कोतमा और बिजुरी वनपरिक्षेत्र के रेंजर और बीटगार्ड के मोबाइल नम्बर को गांवों में सार्वजनिक रूप से जारी करवा दिया गया है, ताकि ग्रामीणों द्वारा कभी भी किसी हलचल की जानकारी अधिकारियों व बीट गार्ड को पहुंचा सके। फिलहाल हाथियों की वापसी सीमा से बाहर नहीं होने के कारण वनविभाग अमला की चिंता बढ़ी हुई है।
वर्सन:
रातभर गश्त लगाकर हाथियों के मूवमेंट पर निगरानी बनाए रखी गई थी, लेकिन हाथियों का झुंड नहीं आया। तीनों हाथी मप्र-छग की सीमा के बीच पानी वाले स्थल पर डेरा डाले हैं। बीट गार्ड और रेंजर के सम्पर्क नम्बर गावों में जारी कर दिया गया है।
मान सिंह मरावी, वन उपमंडलाधिकारी अनूपपुर।
--------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned