हाथियों ने किसानों के खेतों की फसलों को बनाया आहार, घरों के दीवार को भी पहुंचाया नुकसान

15 दिनों से अधिक समय से हाथियों का जमा है डेरा, घर-बार छोड़ पंचायतों में रह रहे ग्रामीणों में नाराजगी

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 11 Oct 2021, 09:16 PM IST

अनूपपुर। छत्तीसगढ़ की सीमा पार से अनूपपुर जिले के कोतमा वनपरिक्षेत्र के मलगा-टांकी बीट के महानीम कुंडी के घने जंगलों में पिछले दो सप्ताह से डेरा जमाए ४२ हाथियों ने झुंड ने ९ अक्टूबर की रात मलगा पंचायत के पतेराटोला और गुल्लू टोला में १२-१४ किसानों के खेतों में लगी धान की फसल को आहार बनाते हुए नुकसान पहुंचाया है। वहीं कुछ घरों के बाउंड्रीवॉल को भी क्षतिग्रस्त किए हैं। लेकिन हाथियों के इस उत्पात में अब तक किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है। वहीं महनीम कुंडी से सटे ग्रामीण इलाके मलगा, पतेराटोला, टांकी, गुल्लूटोला, फुलवारीटोला, बैगानटोला, पाव टोला, यादव मोहल्ला में हाथियों के लगातार मूवमेंट से ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है। हालंाकि वनविभाग और राजस्व अमला द्वारा ग्रामीणों को सुरक्षित पंचायत भवनों में रखा जा रहा है, लेकिन ग्रामीण भी अपने घर-बार से दूर और हाथियों से लगातार फसलों और मकानों को हो रहे नुकसान से आक्रोशित हैं। ग्रामीणों का कहना है कि शासकीय मुआवजा राशि बने मकान और फसलों से काफी कम होता है, ऐसे में सालभर के लिए उगाई जाने वाली फसल के अभाव में परिवारों का भरण पोषण मुश्किल होगा। घरों को हो रहे नुकसान और उसे फिर से बनाने तक परिवार के सदस्यों को परेशानियों से जझना होगा। वनविभाग का कहना है कि हाथियों से हो रहे नुकसान में राजस्व और वनविभाग अमला रोजाना क्षतिग्रस्त हुए फसलों और मकानों का सर्वे रिपोर्ट तैयार कर रहा है। हाथियों के लगातार एक ही स्थल पर डेरा जमाए होने तथा पहुंचाए जा रहे नुकसान में क्षेत्र का अमला भी थक चुका है। जानकारी के अनुसार टांकी, मलगा, पतेराटोला, फुलवारी टोला, भलमुड़ी, सैतिनचुआ, नगरपरिषद डूमरकछार के बैगानटोला, पाव टोला एवं यादव मोहल्ला में हाथियों ने उत्पात मचाया है। इससे इतने गांव प्रभावित माने जा रहे हैं। जिसमें ग्रामीणों के घरों की दीवारें, दरवाजा एवं बाउंड्रीवॉल को नुकसान पहुंचाते हुए सैकड़ो एकड़ की फसल भी बर्बाद कर डाले। हाल के दिनों में कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के भ्रमण के दौरान ग्रामीणों ने पिछले वर्ष भी हाथियों के समूह द्वारा किए गए मकान एवं फसल नुकसान का उचित मुआवजा दिलाने की मांग की है।
-------------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned