डाक मतपत्र से मतदान को लेकर बुजुर्गो व दिव्यांगों में उत्साह, कहा आजादी के बाद पहली बार ऐसी व्यवस्था

सामान्य प्रेक्षक ने डाक मतपत्र मतदान प्रक्रिया का किया निरीक्षण, दो दिनों में 961 मतदाता कर चुके मतदान

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 25 Oct 2020, 08:21 PM IST

अनूपपुर। कोरोना संक्रमण के बीच उम्र दराज बुजुर्गो व दिव्यांगों में अधिकांश मतदाताओं के मतदान से वंचित रह जाने की आशंका में इस बार निर्वाचन आयोग ने घर घर जाकर डाक मतपत्र मतदान कराने की व्यवस्था बनाई है। जिसमें पिछले दो दिनों में अनूपपुर विधानसभा उपचुनाव के लिए हुए मतदान में अबतक ९६१ मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। इस डाक मतपत्र चुनाव की प्रक्रिया को मतदान दिवस ३ नवम्बर से एक दिन पूर्ण किया जाना निर्धारित किया है। चलित डाक मतपत्र कर्मी दल घर घर पहुंचकर बुजुर्गो, दिव्यांगों और कोरोना संक्रमित मरीजों से मतदान करा रहे हैं। इस मतदान में घर पहुंच रहे दलों को दुआओं के साथ बस एक बार सुनने को मिल रही है कि आजादी के बाद पहली बार ऐसी सुविधा बनी, जहां बुजुर्गो और दिव्यांगों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ा। वहीं सामान्य प्रेक्षक टीएस राजसेकर ने भी शुक्रवार से प्रारम्भ हुई चिन्हित श्रेणी के मतदाताओं से डाक मतपत्र की सुविधा प्रक्रिया का निरीक्षण किया। सामान्य प्रेक्षक ग्राम बकही की 81 वर्ष की मतदाता संखुबाई एवं मतदान केंद्र 10 अमलाई मोहड़ा दफाई में वृद्ध मतदाता बाबूलाल द्वारा डाले गए डाक मतपत्र मतदान को देखा। जानकारी अनुसार अब तक कुल 961 मतदाताओं स 80 वर्ष से अधिक उम्र श्रेणी के 463, दिव्यांग श्रेणी के 483 मतदाता एवं कोविड मरीज़ श्रेणी के 15 मतदाताओं द्वारा डाक मतपत्र से मतदान किया है।
विदित हो कि विधानसभा क्षेत्र में कुल 1380 चिन्हित श्रेणी के मतदाताओं द्वारा फ़ॉर्म 12 डी में आवेदन प्रस्तुत किया गया था। जिसमें 80 वर्ष से अधिक के 584, दिव्यांग श्रेणी के 770, और कोविड मरीज़ 26 मतदाता हैं।
बॉक्स: घरएमां वोट डारएं का मिलाए बड़ी मेहरबानी भय
चोलना के 80 वर्ष के बुजुर्ग कतकू सिंह ने डाक मतपत्र से मतदान कर कहा घरएमां वोट डारएं का मिलाए बड़ी मेहरबानी भय। बुजुर्ग होय के कारण स्कूल म वोट डराए म बड़ी परेशानी होत रही। कारोना के कारण आसौह त आउर बीमारी के खतरा रहा।
बॉक्स: अपना पंचये घर मा पधारेन ता हम वोट डार पाएं हमीं बड़ी खुशी है
ग्राम छातापटपर की 98 वर्षीय मतदाता रनिया बाई ने डाक मतपत्र से मताधिकार का प्रयोग किया। घर पहुंचे मतदान सेवा से ख़ुश होकर रनिया बाई ने कहा कि मास्टर बताइन वोट डालय का है, हम कहन कि हमहि स्कूल जाएं मा बहुत थकावट होत हि ए, लेकिन उ कहिंन कि कहु नहीं जाएंकाये वोट घरये मा डारें का है। आज अपना पंचये घर मा पधारेन ता हम वोट डार पाएं हमीं बड़ी खुशी है।
बॉक्स: आज़ादी के बाद से पहली बार देखी ऐसी सुविधा
वार्ड क्रमांक 13 बस्ती अनूपपुर के मतदाता ८३ वर्षीय रामस्वरूप श्रीवास्तव ने कहा आज़ादी के बाद पहली बार मतदान के लिए इस तरह की सेवा से उनका परिचय हुआ है। श्रीवास्तव के घर चलित मतदान दल द्वारा डाक मतपत्र सेवा के माध्यम से मतदान कराया गया।
------------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned