scriptFather called to office in interrogation in son's case, death due to c | पुत्र के केस में पूछताछ में पिता को बुलाया कार्यालय, हृदयगति रूकने से मौत | Patrika News

पुत्र के केस में पूछताछ में पिता को बुलाया कार्यालय, हृदयगति रूकने से मौत

पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे ग्रामीण, परिजनों ने पुलिस पर मानसिक प्रताडऩा का लगाया आरोप

अनूपपुर

Published: August 22, 2021 01:41:23 pm

अनूपपुर। कोतवाली थाना के बसबसपुर गांव निवासी लगभग ६० वर्षीय राजकुमार सिंह की हार्ट अटैक से हुई मौत के बाद २१ अगस्त की सुबह परिजनों के साथ ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक का घेराव करते हुए पुलिस अधिकारी की प्रताडऩा से मौत का आरोप लगाया। जिसमें परिजनों को न्याय दिलाने की मांग करते हुए एसडीओपी पर कार्रवाई कर निलंबन की अपील की। वहीं ग्रामीणों ने मामले में एसडीओपी कीर्ति बघेल से जांच न कराते हुए अन्य अधिकारी से जांच की अपील। जिसपर पुलिस अधीक्षक द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से जांच की बात करने पर ग्रामीणों ने मनाही कर दी गई। इस पर पुलिस अधीक्षक ने अपने निर्देशन में कोतमा एसडीओपी शिवेन्द्र सिंह परिहार से जांच कराकर आगे की कार्रवाई की बात कही। बताया जाता है कि वर्ष २०२० में पॉक्सो एक्ट के मामले में मृतक का पुत्र आरोपी है, जो घटना के बाद से अब तक फरार बताया जा रहा है। इसी मामले से पूछताछ में १९ अगस्त को पुलिस एसडीओपी अनूपपुर कीर्ति बघेल द्वारा मृतक राज कुमार सिंह को अपने कार्यालय बुलाया था। जहां कार्यालय से घर लौटने के बाद राज कुमार की तबियत बिगड़ गई और २१ अगस्त की सुबह हार्ट अटैक से मौत हो गया। पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल को सौंपे गए ज्ञापन में परिजनों का आरोप है कि प्रकरण से सम्बंधित पूछताछ के लिए एसडीओपी द्वारा मृतक राज कुमार सिंह व प्रशांत को सुबह ११ बजे बुलाया गया था, जहां अधिक प्रताडि़त किया गया। राज कुमार सिंह हाईब्लैक प्रेशर के मरीज थे, जिनका दवा चल रहा था। लेकिन उस दिन जानकारी देने के बाद भी दवा खाने नहीं दिया गया। पुलिस अधिकारी द्वारा अभ्रद व्यवहार करते हुए कहा गया कि तुम अपने लडक़े का पता बताओ नहीं तो पूरे घर वालों को जेल भेज दूंगी। सुबह ११ बजे की बुलाहट में रात ८ बजे छोड़ा गया। रात 9 बजे घर पहुंचे, जहां अत्यधिक परेशान और चिंतित लग रहे थे। वापसी के बाद भय से अधिक तबियत खराब हो गया और आज सुबह उनकी मौत हो गई।
बॉक्स: भडक़े परिजनों व ग्रामीणों को एसपी ने कराया शांत, जांच का दिया आश्वासन
मामले में ग्रामीणों ने पुलिस अधिकारी पर आरोप लगाते हुए बिना मामला दर्ज किए शव का अंतिम संस्कार करने से भी मनाही कर दी थी। जिसपर पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों व परिजनों को शांत करते हुए विवाद की स्थिति नहीं उत्पन्न करने और शांति से मामले को सुलझाने की अपील की। ग्रामीणों व परिजनों की मांग पर एसपी ने खुद अपने निर्देशन में जांच कराने का आश्वासन दिया। साथ ही दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की बात कही। जिसके बाद दोपहर शव का पंचनामा तैयार कराते हुए पुलिस ने पीएम कराया और परिजनों को शव सौंप दिए।
वर्सन:
परिजनों व ग्रामीणों का प्रताडऩा सम्बंधित आरोप है, जिसे मैं अपनी निगरानी में जांच कराउंगा। जो भी रिपोर्ट होगी उसके आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।
अखिल पटेल, पुलिस अधीक्षक अनूपपुर।
---------------------------------------
Father called to office in interrogation in son's case, death due to c
पुत्र के केस में पूछताछ में पिता को बुलाया कार्यालय, हृदयगति रूकने से मौत

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.