33 केवी क्षमता में आया फॉल्ट, 8 घंटे से अधिक बिजुरी नगर रहा ब्लैक आउट

बिजली की अघोषित कटौती से जनजीवन प्रभावित, जलापूर्ति हुई बाधित, दिनभर चला आंख मिचौली

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 21 Sep 2020, 06:00 AM IST

अनूपपुर। बिजुरी नगर में पानी की समस्या अब लोगों की मुसीबत बन गई है। जहां बिजली की लगातार अघोषित कटौती में नगरवासियों को पानी के लिए दिनभर तरसना पड़ रहा है। हालात यह बने कि १९ सितम्बर की दोपहर गुल हुई बिजली ८ घंटे बाद वापस लौटी। इसके बाद भी रात के समय बार बार बिजली का आना जाना लगा रहा। अधिकारियों ने बताया कि ट्रांसफर्मर पर अधिक लोड के कारण ३३ केवी क्षमता वाली बिद्युत लाइन के जम्फर बार बार निकल रहे हैं। जिसके कारण क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बाधित हो रही है। वहीं अधिकारियों ने पूर्व हुए मेंटनेंश के नाम पर चुप्पी साध ली। शनिवार को ब्लैक आउट की स्थिति के बाद भी२० सितम्बर को बिजुरी नगरीय क्षेत्र सहित आसपास के आधा सैकड़ा गांवों में अंधेरा छाया रहा। बताया जाता है कि १९ सितम्बर की दोपहर चली हल्की तेज हवा के साथ गिरी बारिश की बौछार के बाद नगर की बिजली आपूर्ति बंद हो गई थी। लेकिन यह सिलसिला २० सितम्बर को भी रातभर जारी रहा। उल्लेखनीय है कि बिजुरी भूमिगत खदान के बंद होने और जलापूर्ति प्रभावित होने पर कोतमा विधायक ने बिजली विभाग से नगर में बिजली आपूर्ति निर्बाध रखने के निर्देश दिए थे। जिसपर बिजली विभाग ने आश्वस्त भी किया था। लेकिन दो दिनों बाद ही नगर की बिजली व्यवस्था पूर्व के ढर्रे पर चल पड़ी। बिजुरी नगरपालिका में बिजली की कमी के कारण लोगों को जलापूर्ति नहीं हो सका। नगर में लगे समर्शिबल पम्प बिजली के अभाव में नहंी चले। यहां तक फिल्टर प्लांट सहित खदान से पानी टैंकर के माध्यम से होने वाली जलापूर्ति भी बिजली के अभाव में बंद रही।
बॉक्स: तीन घंटे का मेंटनेंश वर्क, बिजली गायब
१९ सितम्बर को नगर में बने ब्लैक आउट की स्थिति के बाद २० सितम्बर को बिजली विभाग ने तीन घंटे का मेंटनेंश वर्क में बिजली काट दी। सुबह ११ बजे से दोपहर २ बज तक बिजली आपूर्ति बंद रही। लेकिन मेंटनेंश वर्क समाप्त होने के बाद भी रात ९ बजे तक शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में अंधेरा पसरा ही रहा।
वर्सन:
३३ केवी का जम्फर निकल जाने के कारण फिलहाल बिजली गुल है। कल अज्ञात स्थल पर फॉल्ट होने के कारण उसके सुधार में अधिक समय लग गया था।
सुनील यादव, सहायक अभियंता बिजली विभाग कोतमा।
---------------------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned