फॉलोअप: पीडियाट्रिक यूनिट पहुंचे अपर कलेक्टर, स्टाफ के दर्ज किए बयान

फॉलोअप: पीडियाट्रिक यूनिट पहुंचे अपर कलेक्टर, स्टाफ के दर्ज किए बयान
फॉलोअप: पीडियाट्रिक यूनिट पहुंचे अपर कलेक्टर, स्टाफ के दर्ज किए बयान

ayazuddin siddiqui | Updated: 21 Aug 2019, 06:29:15 PM (IST) Anuppur, Anuppur, Madhya Pradesh, India

जांच प्रतिवेदन के आधार पर कलेक्टर करेंगे आगे की कार्रवाई
अस्पताल में उपचारत बालक की मौत के बाद परिजन शव के साथ पहुंचे थे कलेक्ट्रेट

अनूपपुर. जिला अस्पताल में सोमवार 19 अगस्त की सुबह उपचार के लिए भर्ती हुए 2 वर्षीय बालक रामकृपाल केवट के मौत की जांच में मंगलवार को अपर कलेक्टर बीडी सिंह तथा एसडीएम अनूपपुर अमन मिश्रा जांच पड़ताल में जिला अस्पताल पहुंचे। जहां पीडियाट्रिक यूनिट में घटना के दिन मौजूद रहे स्टाफ के बयान दर्ज कराए। साथ ही मामले में जिला अस्पताल सिविल सर्जन से पूछताछ की।
हालंाकि दो सदस्यी अधिकारियों के दल ने वर्तमान जिला अस्पताल व्यवस्थाओं के सम्बंध में ज्यादा ध्यान और पूछताछ नहीं की। लगभग दो घंटे तक जिला अस्पताल में मौजूद रहे अधिकारियों के दल ने दो स्टाफ नर्स और एक सहायक के बयान लिए। साथ ही घटना के दिन हुए घटनाक्रम पर जानकारी ली। अपर कलेक्टर बीडी सिंह का कहना था कि पीडि़त परिजनों के बयान सोमवार को कलेक्ट्रेट परिसर में दर्ज किए गए थे, आज स्टाफ के बयान दर्ज करवाएं गए हैं। इनमें कुछ कमियां तो सामने आई है, लेकिन जांच प्रतिवेदन को कलेक्टर को सौंपा जाएगा, जहां कलेक्टर द्वारा ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। विदित हो कि भालूमाड़ा जमुना निवासी कल्लू केवट के दो वर्षीय पुत्र रामकृपाल केवट को सोमवार की सुबह अचानक बुखार आया था, जहां उपचार के लिए कल्लू केवट सुबह 9.30 बजे परासी स्थित अनूपपुर बीएमओ डॉ. आरके वर्मा के निज निवास गया था। लेकिन डॉक्टर वर्मा के शहडोल जाने के कारण उनकी पत्नी ने परासी शासकीय अस्पताल से एम्बुलेंस वाहन उपलब्ध कराते हुए कल्लू को पुत्र सहित अनूपपुर जिला अस्पताल भेज दिया था। यहां जिला अस्पताल 11 बजे पहुंचने के बाद पीडियाट्रिक यूनिट में भर्ती कर उपचार आरम्भ किया गया। लेकिन चंद समय बाद बालक की मौत हो गई। जिसमें परिजनों ने ऑक्सीजन समाप्त होने के कारण बालक की मौत का आरोप लगाया था।
इनका कहना है
कल परिजनों के बयान दर्ज हुए थे, आज अस्पताल के स्टाफ के बयान दर्ज किए गए हैं। जांच प्रतिवेदन कलेक्टर को सौंपा जाएगा, जहां मामले में कलेक्टर ही आगे की कार्रवाई करेंगे। जांच में खामियां सामने आई है।
बीडी सिंह, अपर कलेक्टर, अनूपपुर।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned