प्रतिबंधित किरर घाट मार्ग पर बाइकों की आवाजाही मामले में लापरवाही बरतने पर वनपाल निलंबित

कलेक्टर व एसपी की शिकायत पर वनमंडलाधिकारी ने जांच के बाद की कार्रवाई

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 21 Aug 2021, 12:05 PM IST

अनूपपुर। रीवा- अमरकंटक मुख्य मार्ग के किररघाट में ७ जुलाई की शाम हुई तेज बारिश और पानी के बहाव में तीन स्थानों से धंसकी चट्टान और प्रशासन द्वारा प्रतिबंधित किए गए मार्ग पर बाइकों की आवाजाही मामले में अब वनमंडलाधिकारी अनूपपुर ने खबरों पर संज्ञान लेते हुए जांच के बाद दोषी पाए गए वनपाल को निलंबित कर दिया है। इस मामले में पूर्व ही कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो पर नाराजगी जताते हुए मामले की शिकायत वनमंडलाधिकारी से की थी। जिसपर १९ जून को पुलिस अधीक्षक ने प्रारम्भिक जांच पड़ताल करते हुए वनविभाग से तत्काल दोनों तैनात कर्मचारियों को हटाते हुए अन्य की तैनाती कराई थी। बताया जाता है कि किरर घाट मार्ग पर अति वर्षा के कारण कई स्थानों में मिट्टी कटाव होने से 9 जुलाई से किररघाट मार्ग को आवागमन में खतरे की संभावना को देखते हुए कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी सोनिया मीणा ने किररघाट मार्ग पर आवागमन प्रतिबंधित कर आम जनों को वैकल्पिक मार्ग के प्रयोग की सूचना, बैरीकेटिंग तथा सुरक्षा की दृष्टि से कर्मचारियों की ड्यूटी किरर घाट में लगाई गई थी। लेकिन अवरुद्ध मार्ग की सुरक्षा के लिए तैनात वनपाल द्वारा कर्तव्य में लापरवाही बरती गई। इस मामले में वायरल वीडियो के सामने आने पर वन संरक्षक एवं पदेन वन मंडलाधिकारी वनमंडल अनूपपुर एमआर बघेल ने वायरल वीडियो के सत्यता जांच के लिए उप मंडलाधिकारी अनूपपुर को निर्देश दिए। उप वन मंडलाधिकारी अनूपपुर ने जांच उपरांत नरेश कुमार गुप्ता वनपाल वन चौकी प्रभारी किरर परिक्षेत्र अनूपपुर को अवैध रूप से राशि वसूलने का दोषी पाया। जिन्हें वन मंडलाधिकारी अनूपपुर ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में गुप्ता को नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता कि पात्रता होगी। निलंबन काल में इनका मुख्यालय वन परिक्षेत्र कार्यालय अमरकंटक नियत किया गया है।
बॉक्स: पत्रिका ने उठाया था मामला
सोशल मीडिया में वायरल हुर्ई वीडियो पर पत्रिका ने प्रतिबंधित मार्ग से हो रही आवाजाही पर खबर प्रकाशित किया था, जिसमें पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल ने एसडीओपी पुष्पराजगढ़ आशीष भराडे की रिपोर्ट पर वनविभाग अधिकारियों को निर्देशित कर बेरिकेट पर तैनात वनरक्षक और चौकीदार को हटवाते हुए नए वनकर्मियों को तैनात कराया था। साथ ही नगर सेना और थाना पुलिस बल के दो-दो जवानों को दोनों छोर पर तैनात के निर्देश दिए थे। वहीं अब खबरों को देखते हुए वनमंडलाधिकारी ने भी कार्रवाई कर वनपाल को निलंबित कर दिया है।
-------------------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned