किराना दुकान में गांजा रखने वाले आरोपी को चार वर्ष का सश्रम कारावास

12 गवाहों का कथन, 39 दस्तावेजों को देखते हुए न्यायालय ने सजा सुनाई

By: Rajan Kumar Gupta

Updated: 25 Sep 2021, 01:04 PM IST

अनूपपुर। जैतहरी थाना के मनागंज स्थित संचालित किराना दुकान में पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना पर की गई कार्रवाई और जब्त हुए १किलो ५०० ग्राम गांजा के मामले में विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस राजेश कुमार अग्रवाल ने आरोपी २५ वर्षीय पिंटू उर्फ शिवशंकर गुप्ता पिता फूलचंद गुप्ता को दोषी पाते हुए चार वर्ष का सश्रम कारावास एवं 5 हजार रूपए के जुर्माने की सजा सुनाई है। राज्य की ओर से अपर लोक अभियोजक सुधा शर्मा ने मामले की पैरवी की। अभियोजन मीडिया प्रभारी राकेश कुमार पांडेय ने बताया कि जैतहरी थाने में पदस्थ उपनिरीक्षक केएन बंजारे को मुखबिर की सूचना मिली थी कि पिंटू अपने दुकान में गांजा बिक्री करने के लिए रखा है। जहां मौके पर पुलिस ने जांच पड़ताल करते हुए दुकान में काउंटर के नीचे कार्टून में गांजा पाया। जब्त करते हुए पंचनामा तैयार किया। गांजे का कुल वजन 1 किलो 500 ग्राम पाया गया। वहीं मौके से आरोपी को गिरफ्तार कर अपराध पंजीबद्व किया गया। विवेचना बाद मामला न्यायालय में पेश किया गया। जहां राज्य की ओर से अपर लोक अभियेाजक ने लगभग मामले का साबित करने के लिए 12 गवाहों का कथन न्यायालय में अंकित कराया। प्रकरण से संबंधित 39 दस्तावेजों को देखते हुए न्यायालय ने आरोपी को दोषी पाते हुए यह सजा सुनाई है।
--------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned