scriptHail hit 38 villages of Pushprajgarh, tur crop of 1007 farmers got rui | पुष्पराजगढ़ के 38 गांवों में ओला की मार, 1007 किसानों की अरहर फसल हो गई बर्बाद | Patrika News

पुष्पराजगढ़ के 38 गांवों में ओला की मार, 1007 किसानों की अरहर फसल हो गई बर्बाद

84.65 हेक्टेयर में लगी अरहर में 25-35 प्रतिशत क्षति, 50 लाख मुआवजा की मांग

अनूपपुर

Published: January 13, 2022 10:00:43 pm

अनूपपुर। जिले में दिसम्बर २०२१ के दौरान पश्चिमी विक्षोप में बदले मौसम के मिजाज और उत्तर भारत में हुई बर्फबारी के साथ शीतलहर की चपेट में अनूपपुर में अब बर्बादी के निशां सामने आए हैं। जिसमें शीतलहर और पाला के प्रभाव में पुष्पराजगढ़ के ३८ गांव के प्रभावित होने की जानकारी सामने आई है। यहीं नहीं यहां पाला ने रबी की अन्य फसलों को छोडक़र अरहर को अपना शिकार बनाया है। जिसमें लगभग ८४ हेक्टेयर से अधिक रकबे में लगी अरहर की फसल पाला की मार में झुलस गई। शीतलहर के उपरांत पूर्वानुमान था कि जिले के चारों विकासखंड में इसका खास असर रबी की फसल के साथ नगदी रूप में उपजाई जाने वाली सब्जी की फसलों पर भी पड़ेगा । लेकिन वर्तमान में स्थानीय प्रशासन द्वारा जिला प्रशासन को भेजी गई फसल क्षति की जानकारी में पुष्पराजगढ़ विकासखंड के ३८ गांव पाला की चपेट में प्रभावित होना बताया गया है। हालंाकि यह प्रारंभिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट है। सर्वेक्षण कार्य जारी रहने के कारण कुछ गांव और प्रभावित होकर सामने आ सकते हैं। लेकिन पुष्पराजगढ़ तहसीलदार टीआर नाग के अनुसार वर्तमान में सर्वेक्षण के उपरांत पाला की मार में लगभग ३८ गांवों के ८४.६४८ हेक्टेयर भूमि की रिपोर्ट सामने आने की बात बता रहे हैं। तहसीलदार ने बताया कि यह असामायिक बर्षा एवं शीतलहर से पाला खमरौध-बेनीबारी क्षेत्र की पहाड़ी इलाकों से सटे गांवों में लगी अरहर की फसल प्रभावित हुई है। जिसमें लगभग १००७ किसानों की अरहर की फसल बर्बाद हुई है। जिसके लिए प्रभावित किसानों को फसल क्षतिपूर्ति के लिए रूप में प्रशासन के माध्यम से शासन से ५० लाख ३५ हजार रूपए की मांग की गई है। अधीक्षक-भू अभिलेख एसएस मिश्रा ने बताया कि जिले में शीतलहर का प्रकोप १९ दिसम्बर से आरंभ हुआ था, जहां अमरकंटक सहित आसपास के मैदानी हिस्सों में बर्फ की पतली सफेद चादर जम गई थी। यह सिलसिला लगातार बना और इसमें पाला की मार में किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा। जिसके लिए कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देशित करते हुए सर्वेक्षण कर पाला प्रभावित फसलों की जानकारी मांगी गई थी। जिसमें पुष्पराजगढ़ के ३८ गांव सामने आए हैं। इससे पूर्व लगभग ८-१० फीसदी नुकसान के अनुमान में ८ गांवों का नाम सामने आया था।
बॉक्स: २५-३५ फीसदी तक नुकसान
तहसीलदार पुष्पराजगढ़ टीआर नाग ने बताया कि यहां अरहर की फसलों में पाला का प्रभाव २५-३५ फीसदी के बीच पाया गया है। जिसमें लगभग १००७ किसान प्रभावित हुए हैं। यहां इनकी लगभग ८४.६५ हेक्टेयर भूमि में लगी अरहर की फसल झुलसी है। जिसके कारण इनका क्षति मुआवजा प्रदान किया जाएगा। शीतलहर में पुष्पराजगढ़ के खांटी, बेनीबारी, कछराटोला, नरदहा, तुलरा, इटौर, चिल्हियामार, लमसरई, अचलपुर, जुहली सहित नर्मदा कछार वाले गांव शामिल है। जबकि जिले के अन्य विकासखंड अनूपपुर, कोतमा और जैतहरी से राजस्व विभाग अधिकारियों ने निरंक जानकारी भेजी है।
बॉक्स: पुष्पराजगढ़ में 1 हजार 976 हेक्टेयर रकबे में लगा है अरहर
बताया जाता है कि जिले में दलहनी फसलों के लक्षित ३८ हजार हेक्टेयर में लगभग 2433 हेक्टेयर रकबे में अरहर की फसल लगाई गई है, जिसमें सिर्फ पुष्पराजगढ़ विकासखंड में ही 1 हजार 976 हेक्टेयर रकबे पर किसानों द्वारा अरहर की खेती की गई है। लेकिन इनमें ८४ हेक्टेयर अब प्रभावित हो चला है। बताया जाता है कि शीतलहर के दौरान अमरकंटक सहित जिलेभर में न्यूनतम तापमान २ से ५ डिग्री सेल्सियस के बीच बनी रही। जिसके कारण तापमान गिरने तथा पाला पडऩे से इस फसल को सबसे अधिक नुकसान पहुंचा है। अरहर की फसल में फूल लगने का समय था।
वर्सन:
पुष्पराजगढ़ के पहाड़ी इलाकों से सटे ग्रामीण अंचलों में पाला का अधिक प्रभाव पड़ा है। जिसमें सर्वेक्षण में अब तक ३८ गांव प्रभावित होकर सामने आए हैं। कुछ गांव और बढ़ सकते हैं। शासन से १००७ किसानों के मुआवजा के लिए ५० लाख से अधिक की मांग की गई है।
टीआर नाग, तहसीलदार पुष्पराजगढ़।
-----------------------------------------------------------
Hail hit 38 villages of Pushprajgarh, tur crop of 1007 farmers got rui
पुष्पराजगढ़ के 38 गांवों में ओला की मार, 1007 किसानों की अरहर फसल हो गई बर्बाद

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Covid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 5,760 नए मामले, संक्रमण दर 11.79%Republic Day 2022 parade guidelines: कोरोना की दोनों वैक्सीन ले चुके लोग ही इस बार परेड देखने जा सकेंगे, जानिए पूरी गाइडलाइन्सएमपी में तैयार हो रही सैंकड़ों फूड प्रोसेसिंग यूनिट, हजारों लोगों को मिलेगा कामकांग्रेस के तीन घोषित प्रत्याशी पार्टी छोड़ कर भागे, प्रियंका गांधी हुई हैरानDelhi Metro: गणतंत्र दिवस पर इन रूटों पर नहीं कर सकेंगे सफर, DMRC ने जारी की एडवाइजरीदलित का घोड़े पर बैठना नहीं आया रास, दूल्हे के घर पर तोड़फोड़, महिलाओं को पीटाNational Voters' Day: पहली बार वोट देने वाले जानें अपने अधिकार और जिम्मेदारी के बारे मेंराज्य की तकदीर बदलने वाली योजनाएं केन्द्र में अटकी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.