scriptHere sage Bhrigu did penance, with the blessings of mother Narmada, th | यहां ऋषि भृगु ने की थी तपस्या, मां नर्मदा के आशीर्वाद से पांच कुंड से निकली थी जलधारा | Patrika News

यहां ऋषि भृगु ने की थी तपस्या, मां नर्मदा के आशीर्वाद से पांच कुंड से निकली थी जलधारा

अमरकंटक के जंगलों में आज भी श्रद्धालु एतिहासिक एवं धार्मिक महत्त के लिए करते हैं आराधना

अनूपपुर

Published: February 26, 2022 09:54:08 pm

अनूपपुर। मां नर्मदा के उद्गम स्थल के साथ प्रवाहित होने वाली नर्मदा नदी विश्व की सबसे प्राचीनत नदियों में एक हैं, जहां पवित्र नगरी अमरकंटक से 4 किलोमीटर दूर घने जंगलों के बीच स्थित धूनी पानी स्थित है। मान्यता है कि महर्षि भृगु ने यहां धूनी रमा कर मां नर्मदा की आराधना की थी। जहां किसी भी तरह का जल स्रोत नहीं होने की वजह से महर्षि भृगु को प्रतिदिन पानी की समस्या होती थी। उन्हें पानी लेने के लिए थोड़ी ही दूर स्थित चिलम पानी नाम के जल स्रोत तक जाना पड़ता था। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार जंगल के जीव-जन्तु जो भृगु ऋषि के साथी भी थे, उन्हें भी पानी के लिए भटकना पड़ता था। अपने साथियों की सुविधा के लिए उन्होंने जल स्रोत के लिए मां नर्मदा से प्रार्थना की थी, तब मां नर्मदा के आशीर्वाद से धूनी के समीप ही पांच जल स्रोत फूट पड़े थे।
बॉक्स: पांचो कुंड से आज भी निकलती है जलधारा
धूनी पानी मे मंदिर के दाहिनी ओर अमृत कुंड और बांई ओर सरस्वती कुंड है। इन दोनों कुंडों के अलावा तीन छोटे कुंड भी हैं। भृगु कुंड, नारद कुंड और मोहान कुंड। मां नर्मदा की कृपा से धूनी के समीप पांच जलस्रोत के प्रकट होने के कारण ही इस स्थान का नाम धूनी-पानी पड़ गया। धूनी पानी पहुंचने के लिए पगडंडी रास्ते से 4 किलोमीटर चलकर घने जंगल के बीच जाना पड़ता है। दूर-दराज से आने वाले श्रद्धालु तथा परिक्रमावासी यहां पहुंच कर मां नर्मदा की आराधना करने के साथ ही महर्षि भृगु की तपोस्थली को देखकर भाव विभोर हो उठते हैं।
----------------------------------------------------------
Here sage Bhrigu did penance, with the blessings of mother Narmada, th
यहां ऋषि भृगु ने की थी तपस्या, मां नर्मदा के आशीर्वाद से पांच कुंड से निकली थी जलधारा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मामले के बीच गोवा के सीएम का बड़ा बयान, प्रमोद सावंत बोले- 'जहां भी मंदिर तोड़े गए फिर से बनाए जाएं'BJP को सरकार बनाने के लिए क्यों जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारीआक्रांताओं द्वारा तोड़े गए मंदिरों के बारे में बात करना बेकार है: सद्गुरुबेल्जियम, पहला देश जिसने मंकीपॉक्स वायरस के लिए अनिवार्य किया क्वारंटाइनएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट की बात कर रहे हैं, जानें क्या है यह एक्टकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिअफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.