scriptHere the railway engineer was negligent in the construction work, so t | यहां निर्माण कार्य में रेलवे इंजीनियर ने बरती लापरवाही, तो पानी के लिए तरस गए वार्डवासी | Patrika News

यहां निर्माण कार्य में रेलवे इंजीनियर ने बरती लापरवाही, तो पानी के लिए तरस गए वार्डवासी

बिना सूचना और अनुमति रेलवे ने तोड़ी फिल्टर प्लांट की पाइप लाइन, आधा दर्जन वार्डो में जलापूर्ति ठप

अनूपपुर

Published: April 04, 2022 12:06:48 pm

अनूपपुर। नगरपालिका अनूपपुर में लगभग ५ साल बाद २० करोड़ की लागत से फिल्टर प्लांट योजना के तहत नगरीय क्षेत्र के १५ वार्डो में पहुचाई गई शुद्ध पेयजल आपूर्ति व्यवस्था में रेलवे की लापरवाही में आधा दर्जन वार्डो में जलापूर्ति पूरी तरह ठप हो गया है। नगर के वार्ड क्रमांक ९ से १५ तक फिल्टर प्लांट की पाइप लाइन से होने वाली जलापूर्ति बंद होने से इन वार्ड के नागरिकों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है। लोग वार्ड के पुराने हैंडपंप पर फिर से आश्रित हो गए हैं, जहां दूर-दराज के वार्डो में पानी के लिए नागरिकों को अधिक मशक्कत करनी पड़ी है। वहीं नगरपालिका भी पाइप लाइन के सुधार में रेलवे अधिकारियों के सम्पर्क में जुड़ी है। लेकिन अनूपपुर नगरपालिका क्षेत्र के वार्ड क्रमांक ९ से १५ तक के प्रभावित वार्डवासियों को फिलहाल पानी की समस्या से निजात नहीं मिल सकेगी। नगरपालिका सीएमओ ज्योति सिंह ने बताया कि रेलवे द्वारा अंडरब्रिज चचाई मार्ग पर बिना अनुमति ही पुल के नीचे से गुजरी पाइप लाइन को पुल निर्माण कार्य के दौरान जेसीबी से क्षति पहुंचा दिया था। जिसमें पाइप अनेक स्थानों से क्षतिग्रस्त हो गई थी। इसके लिए रेलवे इंजीनियर सहित अन्य अधिकारियों से सम्पर्क कर घटना के सम्बंध में जानकारी ली गई, लेकिन किसी अधिकारी से सम्पर्क नहीं होने के कारण अब तक इस मामले में कोई सुधार कार्य अब तक आरंभ नहीं हो पाया है। वहीं रविवार ४ अप्रैल को दपूमरे बिलासपुर के इंजीनियर से सम्पर्क होने पर इंजीनियर ने नगरपालिका द्वारा संसाधन उपलब्ध कराते हुए जल्द ही कार्य कराने का आश्वासन दिया है। लेकिन इंजीनियर ने इस मामले में खुद की लापरवाही से दूरी बना ली। साथ ही कार्य पूरा होने निश्चित तिथि की जानकारी नहीं दी है। सीएमओ ज्योति सिंह ने बताया कि इसके लिए वह यहां निर्माण स्थल पर कार्यरत इंजीनियर सहित अन्य अधिकारियों से सम्पर्क रखते हुए जल्द पाइप लाइन सुधार में जुटी है। सीएमओ का कहना है कि पुल के नीचे से पाइप लाइन गुजारने के लिए स्वयं रेलवे की ही अनुमति पर पाइप बिछाया गया था, लेकिन यहां कार्य के दौरान रेलवे इंजीनियरों ने बिना किसी सूचना पाइप लाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया।
बॉक्स: दो दिनों से वार्डो में नहीं पहुंचा पानी, रेलवे इंजीनियर नहीं दिखा रहे गंभीरता
रेलवे अंडरब्रिज चचाई मार्ग पर रेलवे द्वारा तीसरी लाइन के लिए तैयार किए गए जा रहे पुल के निर्माण में हाल के दिनों में ही रेलवे ने चचाई अंडरब्रिज मार्ग बंद करने की अनुमति ली थी। जहां रेलवे द्वारा बनाए गए नवीन पुल और पूर्व से नीचे बने रास्ते के बीच कम उंचाई नजर आई। इसमें कभी भी भारी वाहनों के प्रवेश में पुल को नुकसान या मार्ग बाधित होना प्रतीत नजर आया। जिसपर रेलवे द्वारा निर्माण स्थली पर मार्ग को २से ढाई फीट और गहरीकरण में लेते हुए बनाया जा रहा है। इस निर्माण में रेलवे ने पास की नाली से गुजरी फिल्टर प्लांट की पाईप की अनदेखी कर दी, जहां गहरीकरण के दौरान मशीन ने पाइपलाइन को तोडक़र रख दिया। इससे नगर या रेलवे लाइन के दूसरी ओर अमरकंटक तिराहा, बिहारी कॉलोनी, पुरानी बस्ती, सहित जिला न्यायालय परिसर तक आधा दर्जन वार्ड प्रभावित हो गए। उल्लेखनीय है कि नगर के इसी हिस्से में सर्वाधिक आबादी निवासरत है। जहां लगभग २४ सौ से अधिक आवास सहित व्यवसायिक प्रतिष्ठान और शासकीय व गैर शासकीय संस्थानें भी संचालित हैं।
बॉक्स: निर्माण कार्य की विभाग नहीं दे रहे जानकारी
सीएमओ ने बताया कि नगरीय क्षेत्र में निर्माण कार्य को लेकर शासकीय विभाग द्वारा संवाद प्रस्तुत नहंी किए जा रहे हैं। जहां रेलवे ने बिना अनुमति कार्य में पाइप लाइन तोड़ दी, वहीं एमपीआरडीसी द्वारा कराए गए सडक़ निर्माण कार्य में चार स्थानों पर पाइप लाइन के वॉल्व को कवर कर ढाल दिया गया। जिससे नगरपालिका को दोनों ही स्थानों पर अधिक आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है। नपा का मानना है कि पूर्व से शासन द्वारा कम उपलब्ध कराए जा रहे बजट में इस प्रकार के नुकसान से आर्थिक भार अधिक बढ़ रहा है।
वर्सन:
रेलवे इंजीनियर ने बिना अनुमति लिए और सूचना दिए पाइप लाइन को तोड़ दिया था, जिसके कारण नगर के दूसरी ओर जलापूर्ति बंद हो गई है। इंजीनियर से बातचीत हुई है, जल्द ही सुधार कार्य कराने का आश्वासन दिया है, लेकिन इसके लिए संसाधन नगरपालिका को ही जुटाना होगा। टीएल मीटिंग में संवादहीनता को लेकर रखी जाएगी बात।
ज्योति सिंह, सीएमओ अनूपपुर।
-----------------------------------------------------
Here the railway engineer was negligent in the construction work, so t
यहां निर्माण कार्य में रेलवे इंजीनियर ने बरती लापरवाही, तो पानी के लिए तरस गए वार्डवासी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.