भोपाल से लौटे कोतमा विधायक को होम क्वारंटीन का आदेश

विधायक का आरोप, भेदभाव कर रहा प्रशासन

By: Rajan Kumar Gupta

Updated: 23 May 2020, 09:00 PM IST

अनूपपुर। अनूपपुर के कोतमा से रेड जोन भोपाल और 22 मई की सुबह हुई वापसी के बाद स्वास्थ्य सुरक्षा के मद्देनजर विधायक सुनील सराफ को कोतमा एसडीएम के निर्देशन में स्वास्थ्य अमला ने होम क्वारंटीन कर दिया है। जहां कोतमा विधायक आगामी 14 दिनों तक अपने घर के एक कमरे में क्वारंटीन रहेंगे। इसके साथ ही होम क्वारंटीन के दिशा निर्देशन में खुद को परिजनों से अलग कमरे और कई उपायों को अपनाने की सलाह दी गई है। एसडीएम कोतमा ने होम क्वारंटीन का आदेश दिया है। विधायक के अनुसार, कोतमा पहुंचने से पूर्व आगमन की जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों को दी थी, जिसके बाद उनके पहुंचने पर स्वास्थ्य अमला ने उन्हें प्राथमिक जांच के बाद होम क्वारंटीन कर दिया। एक रात भोपाल में समय व्यतीत करने के बाद कोतमा वापसी की है।
विधायक का आरोप, भेदभाव कर रहा प्रशासन
विधायक ने प्रशासन पर कोरोना जांच में भेदभाव का भी आरोप लगाया है। उनका कहना है कि भाजपा के कुछ वरिष्ठ पदाधिकारी 15 मई के आसपास भोपाल गए थे, वे लगभग पांच दिनों का समय व्यतीत कर वापसी अनूपपुर की है। लेकिन यहां ऐसे पदाधिकारियों को प्रशासन ने संस्थागत क्वारंटीन या फिर होम क्वारंटीन भी नहीं किया। इस प्रकार की लापरवाही से क्षेत्र में कभी भी असुरक्षा का माहौल उत्पन्न हो सकता है। जबकि प्रशासनिक अमले में भी कुछ पदाधिकारी भोपाल और जबलपुर जैसे रेड जॉन से वापसी किए हैं, लेकिन वे होम क्वारंटीन के श्रेणी में शामिल नहीं हुए।
कोरोना को खुला आमंत्रण
एक ओर जहां कोतमा विधायक भोपाल जैसे रेड जोन से वापसी कर रहे हैं, वहीं राजनीति से जुड़े अन्य पदाधिकारी और प्रशासनिक अधिकारी भी सुरक्षा मानकों व उपायों को दरकिनार कर जबलपुर और भोपाल की दौड़ लगा रहे हैं। कोरोना जैसे संकट में एक चूक कभी भी जिले के लिए भारी पड़ सकती है।

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned