रियायत में सोशल डिस्टेसिंग की उड़ी धज्जियां, बेपरवाह घरों से निकले नागरिक

बाजार में नहीं दिखा लॉकडाउन की सख्ती, पुलिस और प्रशासन रहे गायब

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 05 May 2020, 06:00 AM IST

अनूपपुर। ऑरेंज जोन में शामिल अनूपपुर जिले में लॉकडाउन के दौरान रियायत देते हुए शर्तो के साथ दुकानें खोलने की अनुमति प्रदान की गई। जिसमें सोशल डिस्टेसिंग और बिना मास्क के साथ वाहनों पर सवार होने दिशा निर्देश दिए गए। लेकिन जिला मुख्यालय अनूपपुर सहित चोरो विकासखंड अनूपपुर, कोतमा, जैतहरी और पुष्पराजगढ़ में लॉकडाउन के तहत दिए निर्देशों का पालन नहीं किया गया। आम दिनों की भांति दुकानों पर खरीदारी के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी। दुकान के सामने बने गोल घेरे शेापीस नजर आए। बाइक पर चालक के अलावा पीछे अन्य सवारी बेफ्रिक नजर आया। कमोवेश कार/जीप में भी यही हालात नजर आए। सबसे अधिक भीड़ बैंक शाखाओं के मुख्य गेट पर नजर आई, जहां सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाते हुए उपभोक्ता बैंक के गेट पर जमे रहे। यहां न मास्क, सोशल डिस्टेसिंग और ना ही सुरक्षा के लिए सेनेटाईजर जैसे कवच का इस्तेमाल किया गया था। हालंाकि बाजार में ७०-३० अनुपात में दुकानें खुली। सैलून, प्रेस, होटल, शराब दुकानें, खाद-बीज की दुकान सहित अन्य कुछ दुकानें बंद रही। प्रदेश सरकार ने सैलून, प्रेस जैसी जरूरत की दुकानों को छूट दी थी, बावजूद बाजार में दुकानें बंद रही। अगर रियायत के बाद शहर में लापरवाह बनी जिंदगी को देखा जाए तो आज अन्य दिनों की भांति पुलिस और प्रशासन दोनों गायब रहे। जिसका परिणाम यह रहा कि सुबह १० बजे शाम ४ बजे तक आम नागरिक बेपरवाह होकर सडक़ों पर आदेशों के उल्लंघन करते लॉकडाउन के निर्देशों की अवहेलना की।
---------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned