संगठन की अनुमति में अटका केन्द्रीय विद्यालय की कक्षाओं का संचालन, भवन निर्माण नहीं बन रही सहमति

संगठन की अनुमति में अटका केन्द्रीय विद्यालय की कक्षाओं का संचालन, भवन निर्माण नहीं बन रही सहमति

By: shivmangal singh

Published: 16 May 2018, 08:18 PM IST

केवी प्राथमिक कक्षाओं के संचालन पर मंडराए संशय के बादल,दिल्ली मुख्यालय ने शिक्षा विभाग अनूपपुर को अबतक नहीं दिए आश्वासन
अनूपपुर। भले ही सहायक आयुक्त आदिवासी विभाग अनूपपुर द्वारा शासन के मिले निर्देश पर केन्द्रीय विद्यालय की कक्षाओं के संचालन की बात कह रहा है। लेकिन यह भी सत्य है कि पूर्व प्रस्तावित केन्द्रीय विद्यालय के संचालन तथा इस वर्ष से कक्षा संचालन किए जाने की शिक्षा विभाग की मंशा पर दिल्ली मुख्यालय ने पानी फेर दिया है। अप्रैल से आरम्भ हुए नए शिक्षा सत्र में केवी प्राथमिक कक्षाओं का संचालन नहीं आरम्भ हो सका है। माना जाता है कि भेजे गए प्रस्तावों के बाद बोर्ड को मनाने में न तो स्थानीय जनप्रतिनिधियों और ना ही सम्बधित विभाग के अधिकारियों ने कोई तत्परता दिखाई। जिसके कारण दो बाद से केन्द्रीय विद्यालय के संचालन की कवायदों पर अब विराम सा लग गया है। इसके कारण जिले में बेतहर उच्च शिक्षा के साथ कन्याओं की शिक्षा के लिए भी बेहतर विकल्प नहीं बन सके हैं। जबकि पूर्व से ही जिले में कन्या महाविद्यालय की कमी बनी हुई है। हालंाकि जिले में केन्द्रीय विद्यालय के साथ कन्या महाविद्यालय खोले जाने के लिए जिला पंचायत प्रशासनिक एवं सामान्य सभा ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव बनाकर शिक्षा विभाग से इसके संचालन के निर्देश दिए थे। लेकिन अबतक भवन निर्माण तो क्या कक्षाएं भी संचालित नहीं हो सकी।
केन्द्रीय विद्यालय के संचालन के लिए दो वर्ष पूूर्व जिपं सामान्य सभा में जिला पंचायत अध्यक्ष सहित जिला पंचायत सीईओं ने भी केन्द्रीय विद्यालय की मांग का समर्थन कर प्रस्ताव तैयार कर उच्च विभाग को भेजने के निर्देश दिए। जिसमें संयुक्त आदिवासी विकास विभाग ने केन्द्रीय विद्यालय का प्रस्ताव बनाकर क्षेत्रीय मुख्यालय कार्यालय रायपुर भेजा। जहां रायपुर मुख्यालय के अधिकारियों ने अपनी अनुमति के बजाय दिल्ली मुख्यालय स्थित केन्द्रीय विद्यालय बोर्ड की अनुमति पर कक्षाओं के संचालन और उनके भवन उपलब्धता की बात कही। लेकिन स्थिति यह है कि फाईल के दिल्ली गए डेढ साल से अधिक समय बीत गए है कोई आश्वान नहीं मिल सका है। केन्द्रीय विद्यालय संचलनालय दिल्ली को भेजे गए प्रास्तावों के साथ आदिवासी विभाग अनूपपुर द्वारा प्रारम्म्भि स्तर पर केन्द्रीय विद्यालय की प्राथमिक कक्षाओं के संचालन की औपचारिक व्यवस्था बनाई है। जिसमें भवन उपलब्ध नहीं होने पर अनुमति उपरांत प्राथमिक स्तर पर कक्षा १ से ५ वीं तक को मुख्यालय स्थित मॉडल स्कूल में संचालित किया जा सके। ताकि समयानुसार अधिक से अधिक बच्चों को भवन निर्माण उपरांत नामांकन कर बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराई जाती। लेकिन कक्षाओं के संचालन पर भी बोर्ड ने विभाग को अनुमति प्रदान नहीं की। विभाग का कहना है कि इसके लिए मुख्यालय से सटे मानपुर गांव के पास ६ एकड़ जमीन उपलब्ध कराते हुए टीम से भवन निर्माण की अनुमति मांगी गई थी।
बॉक्स: कन्या शिक्षा परिषद के नहीं भवन
जिले में कन्या शिक्षा परिषद के लिए भवन का अभाव बना हुआ है। मुख्यालय में संचालित कन्या शिक्षा परिषद की एक से आठवीं तक संचालित कक्षा आवासीय बालक एकलव्य विद्यालय में लगाई जा रही है। जो ५० बिस्तरों वाला बालक आवासीय परिसर है। जबकि नियमानुसार किशोरियों की सुरक्षा के मद्देनजर बालिकाओं की कक्षाएं एवं आवासीय परिसर बालक आवासीय परिसर में नहंी लगाई जा सकती।
वर्सन:
हमारे भेजे गए प्रस्ताव पर बोर्ड ने अभी अनुमति नहीं प्रदान की है। साथ ही कक्षाओं के संचालन पर अपनी सहमति नहंी दे रही है। अगर अभी भी कक्षाओं के संचालन के लिए आदेश आता है तो कक्षाओं का संचालन करवा दिया जाएगा। कन्या शिक्षा परिषद की तो उनके भवन के लिए भी प्रस्ताव को भेजा गया है।
पीएन चतुर्वेदी, संयुक्त आदिवासी विकास विभाग अनूपपुर।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned