देर से ही सही पर न्याय तो मिला

उपभोक्ता फोरम ने व्यवसायी को दिलाया मोबाइल व हर्जाना

 

By: shivmangal singh

Published: 13 Mar 2018, 05:08 PM IST

जैतहरी. जैतहरी नगर के प्रतिष्ठित व्यवसायी विपिन अग्रवाल व अनुज जैन ने स्थानीय मोबाइल विक्रेता मनीष मोबाइल सेंटर से 20 जनवरी २०14 को मोबाइल सेट जो 47 हजार 999 रुपए का क्रय किया था। लेकिन अचानक मोबाइल वारंटी पीरियड में होने के बावजूद खराब हो गया। मनीष मोबाइल जैतहरी व कम्पनी से उपभोक्ताओ को कोई राहत एवं सुविधा नहीं दिया गया। जिसके बाद उपभोक्ताओं द्वारा जिला उपभोक्ता फोरम अनूपपुर में 30 अक्टूबर २०१6 को परिवाद दायर किया। उपभोक्ताओं की तरफ से शहडोल सम्भाग के अधिवक्ता अमरीश श्रीवास्तव, विष्णुकांत तिवारी ने पैरवी की और अंतत: उपभोक्ताओं को कम्पनी से नया मोबाइल सेट दिलाकर पूर्ण संतुष्टि दिलाई। वहीं उपभोक्ताओं की हर्जे खर्चे की राशि 40 हजार रुपए भी प्रदाय करने के लिए पुन: आवेदन किया था।
जहां कम्पनी द्वारा 40 रुपए की डीडी जमा किया गया। इस मामले में योगेश दत्त शुक्ला, अरुण प्रताप सिंह, श्रीमति दुर्गा सदस्य उपभोक्ता फोरम अनूपपुर की अहम भूमिका रही।
------------------------
राजस्व निरीक्षक पर लगाया जुर्माना
अनूपपुर. कलेक्टर अजय कुमार शर्मा ने लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम 2010 के अंतर्गत अधिसूचित सेवा के तहत भूमि का सीमांकन समय-सीमा में नहीं करने पर राजस्व निरीक्षक मंडल फुनगा वृत्त फुनगा कोमल बनवासी पर 5 हजार रूपए की शास्ति अधिरोपित की है।
ग्राम अमलई निवासी बेचूलाल केवट द्वारा भूमि के सीमांकन कराए जाने के लिए आवेदन दिया गया था, लेकिन राजस्व निरीक्षक कोमल बनवासी द्वारा निर्धारित समय-सीमा 30 दिवस हो जाने पर भी सीमांकन नहीं किया गया। कलेक्टर ने शास्ति की राशि जमा कराकर चालान की एक प्रति 3 दिनों के भीतर लोक सेवा प्रबंधन कार्यालय कलेक्टर में जमा करने के निर्देश दिए हैं।
--------------------
शिक्षक ने शिकायत वापस लेने छात्रा पर बनाया दवाब
कोतमा. भालूमाडा थाना क्षेत्र अंतर्गत एक शिक्षक द्वारा गुरु- शिष्या के पवित्र रिश्ते को शर्मसार करते हुए नाबालिग छात्रा के साथ पूर्व में की गई छेड़छाड़ की गई थी, जिसपर छात्रा ने साहस दिखाते हुए पूर्व में ही थाना में आरोपी शिक्षक धर्मराज केवट के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। घटना के बाद से ही आरोपी द्वारा छात्रा व उसके परिजनो को डरा धमका कर मामला वापस लेने का दवाब बनाया जा रहा था। जहां 1 मार्च को पुन: छात्रा को धमकी देने के साथ मामले पर राजीनामा का दवाब बनाया गया। छात्रा की शिकायत पर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned