5 सूत्रीय मांगों को लेकर कोटवार संघ ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, नियमितकरण किए जाने की मांग

नीली वर्दी की जगह खाकी वर्दी दिए जाने की मांग

By: Rajan Kumar Gupta

Updated: 16 Dec 2020, 12:35 PM IST

अनूपपुर। शासन के आंख, कान माने जाने वाले नीली वर्दीधारी कोटवारों ने मंगलवार को जिला मुख्यालय के तहसील कार्यालय परिसर में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। जिसमें मुख्यमंत्री द्वारा वर्ष २००७ में नीली वर्दी की जगह खाकी वर्दी दिए जाने के आदेश में शहडोल सम्भाग के तीनों जिलों अनूपपुर, शहडोल और उमरिया में इसका लाभ नहीं मिलने की बात कहते हुए कार्रवाई की मांग की। साथ ही सौंपे गए ज्ञापन में ५ विभिन्न बिन्दूओं पर शामिल कर उसपर कार्रवाई की अपील की है। कोटवारों के द्वारा ज्ञापन के माध्यम से बताया गया कि वर्तमान में कोटवार को बहुत कम वेतन दिया जाता है जिसके साथ थी नियमितीकरण ना होने से उनके भविष्य पर खतरा बना हुआ है। अन्य सभी विभागों में दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी को नियमित किए जाने के प्रावधान है। लेकिन कोटवारों के लिए ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है। ७० वर्षों से कार्यरत कोटवार को नियमित करते हुए शासकीय सेवक घोषित करने, वेतन व पारिश्रमिक में वृद्धि करने, कोटवारों का पदनाम परिवर्तित करते हुए चैनमैन पद किए जाने, नीली वर्दी की जगह खाकी वर्दी प्रदान किए जाने, कोटवारों के द्वारा भर्ती प्रक्रिया में संशोधन करते हुए पदोन्नति एवं किसी भी परिस्थिति में उन्हें कार्य से ना हटाए जाने की मांग रखी और मुख्यमंत्री से नियमों में संशोधन किए जाने की मांग की है। इसके अलावा ज्ञापन में यह भी बताया गया कि 22 जून 2007 को कोटवार पंचायत का आयोजन किया गया था जिसमें कोटवारों की स्थिति सुधारने के लिए जो निर्णय लिए गए थे उन्हें लागू किया जाए। ज्ञापन सौंपते समय संगठन के जिलाध्यक्ष भगवान दास केवट, महेश कोल, श्यामसुंदर राठौर व सभी कोटवार शामिल रहे ।
-----------------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned