scriptLack of space in paddy storage, 18 thousand MT paddy in Raisen and Ujj | धान भंडारण में जगह की कमी, 18 हजार एमटी धान रायसेन और उज्जैन में भंडारण कराने प्रबंध संचालक को पत्र | Patrika News

धान भंडारण में जगह की कमी, 18 हजार एमटी धान रायसेन और उज्जैन में भंडारण कराने प्रबंध संचालक को पत्र

उमरिया और डिंडौरी ने डेढ लाख क्विंटल में 83 हजार क्विंटल भंडारण के बाद बंद कराया परिवहन

अनूपपुर

Published: January 14, 2022 11:58:33 am

अनूपपुर। जिले के ३० उपार्जन केन्द्रों पर २९ नवम्बर से जारी धान खरीदी में अब तक ११६६९ पंजीकृत किसानों से ५९५५४५.२१ क्विंटल हुई धान खरीदी अब प्रशासन की मुसीबत बन गई है। जहां शासन के निर्देश में पूर्व में उमरिया और डिंडौरी जिलों में भंडारण के लिए भेजे जा रहे १८ हजार एमटी धान में दोनों जिलों द्वारा ८३५१ मीट्रिक टन धान भंडारण के बाद अनूपपुर से परिवहन बंद करवा दिया है। दोनों जिलों में भंडारण के लिए शेष बची मात्राओं के साथ जिले के गोदामों में जगह के अभाव में उपार्जन केन्द्रों पर असुरक्षित भंडारित धान के सुरक्षित भंडारण में जिला प्रशासन ने मप्र स्टेट सिविल सप्लाइज कॉर्पोरेशन लिमिटेड के प्रबंध संचालक को पत्र लिखते हुए १८ हजार एमटी धान के अन्यत्र भंडारण की अपील की है। इस अपील पत्र में जिला प्रशासन ने रायसेन और उज्जैन जिले के नाम प्रस्तावित किया है। ११ जनवरी को कार्यालय कलेक्टर खाद्य शाखा द्वारा कलेक्टर के माध्यम से प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति विभाग को भेजे गए पत्र में बताया गया है कि जिले में भंडारण कमी को देखते हुए २८५०० मीट्रिक टन धान के अंतर जिला परिवहन किए जाने लेख किया गया था, जिसमें १५००० मीट्रिक टन का रोड मूवमेंट उमरिया एवं डिंडौरी जिले के लिए दिया गया था। यहां दोनों जिलों में निर्धारित तय मात्रा १५००० एमटी में ८३५१ मीट्रिक टन धान का परिवहन १० जनवरी तक करते हुए अब दोनों जिलों द्वारा आगामी भंडारण नहीं कराए जाने के निर्देश दे दिए हैं। जिसके कारण अनूपपुर से निर्धारित शेष मात्रा के भंडारण में परिवहन उमरिया और डिंडौरी जिलों के लिए बंद हो गया है। वहीं जिले में लगातार हो रहे धान उपार्जन और शेष मात्राओं के कारण उपार्जन केन्द्रों पर धान खरीदी और भंडारण प्रभावित हो रहा है। जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा बताया गया है कि जिला रायसेन एवं उज्जैन के जिला प्रबंधकों से बातचीत में अनूपपुर जिले की धान का भंडारण अपने जिलों में कराने की सहमति प्रदान की है। अगर रायसेन और उज्जैन में १८ हजार एमटी यानि १ लाख ३० हजार क्विंटल रायसेन और ५० हजार क्विंटल धान उज्जैन में भंडारित हो जाता है तो शेष धान को जिले के अन्य गोदामों में भंडारण की व्यवस्था कराई जा सकती है। विदित हो कि जिले में वर्ष २०२१-२२ के लिए जिला प्रशासन द्वारा ९ लाख क्विंटल धान का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिसमें किसानों से खरीदी के दौरान ही जिले में उपलब्ध छोटे-बड़े २३ गोदामों व कैप में उपार्जित धान के भंडारण के लिए जगह की कमी बन गई। जिसे देखते हुए प्रशासन ने प्रबंध संचालक से अन्यत्र धान भंडारण की अपील की थी। जिसमें प्रबंध संचालक द्वारा १ लाख ५० हजार क्विंटल धान को उमरिया और डिंडौरी में भंडारण के लिए अनुमति प्रदान की थी। इसमें डिंडौरी में १ लाख क्विंटल और उमरिया में ५० हजार क्विंटल निर्धारित किए गए थे।
बॉक्स: तीन ओपन कैप निर्माणाधीन, दारसागर कैप फुल
विभागीय जानकारी के अनुसार पूर्व में दारसागर में ३ लाख क्षमता धान भंडारण की ओपन कैप के साथ खूंटाटोला, राजेन्द्रग्राम एवं पयारी में ओपन कैप का निर्माण कार्य कराया जा रहा था। जिसमें यह अनुमान था कि दारसागर ओपन कैप दिसम्बर माह तक तथा खूंटाटोला, राजेन्द्रग्राम और पयारी ओपन कैप भी जनवरी तक भंडारण के लिए उपलब्ध हो जाएंगे। लेकिन दारसागर के अलावा तीनों अन्य ओपन कैप का निर्माण अधूरा है। वहीं ३ लाख की क्षमता वाली दारसागर में २.५० लाख क्विंटल धान का भंडारण किया जा चुका है। अब जगह की कमी में उपार्जन केन्द्र से धान का परिवहन बंद हो चुका है।
बॉक्स: वर्तमान धान खरीदी और परिवहन की स्थिति
पंजीकृत किसानों की संख्या- १८२७०
खरीदी की गई किसानों की संख्या- ११६६९
कुल खरीदी की मात्रा- ५९५५४५.२१ क्विंटल
परिवहन के लिए तैयार मात्रा- ५७८८२३.९३ क्विंटल
कितने किसानों की धान परिवहन- ८०१८
कुल परिवहन की मात्रा- ३६३४०२.८० क्विंटल
शेष मात्रा-२३२१४२.४१ क्विंटल
प्रतिशत मात्रा- ६६.१७
वर्सन:
उमरिया और डिंडौरी में हो रहे भंडारण का परिवहन रोक दिया गया है। अन्य जगहों पर भंडारण कराने प्रशासन द्वारा पत्राचार किया गया है। इसमें उज्जैन और रायसेन के लिए प्रस्ताव तैयार करते हुए १८ हजार एमटी धान उनके यहां भंडारित की अपील की गई है।
प्रदीप द्विवेदी, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी अनूपपुर।
------------------------------------------------------
Lack of space in paddy storage, 18 thousand MT paddy in Raisen and Ujj
धान भंडारण में जगह की कमी, 18 हजार एमटी धान रायसेन और उज्जैन में भंडारण कराने प्रबंध संचालक को पत्र

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की मौजूदगी में शौर्य का प्रदर्शनरेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की किलेबंदी, जमीन से आसमान तक करीब 50 हजार सुरक्षाबल मुस्तैदरायबरेली में जहरीली शराब पीने से 6 की मौत, कई गंभीर, जांच के आदेशBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयरेलवे ट्रेक पर प्रदर्शन किया तो कभी नहीं मिलेगी नौकरी, पढ़े पूरी खबरUP Election 2022: “यहां वोट मांगने मत आइये” सियासी दलों के नेताओं को चेतावनी, जानिए कहाँ का है मामलाLucknow Super Giants : यूपी की पहली आईपीएल टीम का नाम है लखनऊ सुपर जाइंट्स
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.