लॉकडाउन: 60 घंटे के लिए घरों के भीतर शहरी लोग, सडक़ों पर सन्नाटा

दुकानें रही बंद, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर दिनभर भ्रमण करता रहा पुलिस वाहन

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 11 Apr 2021, 12:28 PM IST

अनूपपुर। कोरोना संक्रमण से नागरिकों को बचाने वर्ष २०२० में २३ मार्च को लगाए गए लॉकडाउन के सालभर बाद वर्ष २०२१ में पहली बार ९ अप्रैल की शाम ढाई दिन लगभग ६० घंटे का नगरीय लॉकडाउन लगाया गया है। जहां १० अप्रैल की सुबह इसका व्यापाक असर दिखा। जिला मुख्यालय अनूपपुर सहित जैतहरी, कोतमा, बिजुरी, पसान, राजनगर, डोला, डूमरकछार और अमरकंटक सहित तहसील मुख्यालय राजेन्द्रग्राम में लॉकडाउन के कारण नागरिको का दैनिक दिनचर्याएं घरों के भीतर पूरी हुई। बाहर प्रशासनिक सख्ती में नगरीय जनजीवन घरों में बंद रहा। शहर की सडक़ें सूनी और वीरान नजर आई। बाजारों में व्यापारिक प्रतिष्ठानों के शटर पूर्णत: बंद रहे। शासकीय कार्यालयों पर ताला लटका रहा। वहीं पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की वाहन रह-रहकर सायरन बजाती गुजरती रही। हालंाकि इस दौरान जरूरतमंद लोग मास्क पहनकर आवाजाही करते नजर आए, बसों का परिचालन जारी रहा, लेकिन लॉकडाउन और स्थानीय सवारी वाहनों के नहीं चलने से नामात्र लोगों की उपस्थित नजर आई। बस स्टैंड में भी कम संख्या में ही यात्री नजर आए। शनिवार की भांति रविवार को भी पूर्णत: लॉकडाउन सफल बनाने प्रशासनिक अमला रणनीति बना रहा है। एसडीएम अनूपपुर कमलेश पुरी ने बताया कि प्रशासनिक स्तर पर शनिवार की तरह पूर्णत: शहर बंद कराने रविवार को भी यही रणनीति अपनाई जाएगी। थाना प्रभारी खेम सिंह पेंद्रो का कहना है कि शनिवार को अमूमन जिले में बंद रहता था, आज लॉकडाउन के कारण लोगों की आवाजाही कम रही। व्यापारिक प्रतिष्ठानें बंद रही। रविवार को भी शहर के प्रत्येक चौराहों पर बेरिकेट लगवाते हुए पुलिस बलों की उपस्थिति में पूर्णत: लॉकडाउन को पूरा कराया जाएगा। इसी तरह जैतहरी, पसान, कोतमा, राजेन्द्रग्राम, राजनगर, डोला, डूमरकछार में भी लॉकडाउन शांतिपूर्ण लगा रहा।
बॉक्स: टीका लगाने जिला अस्पताल उमड़े बेनेफेशरी, सावधानी की अनदेखी
कोरोना के बढ़ते संक्रमण के खतरे से बचाव में शनिवार को लॉकडाउन के बावजूद १२ सेंटरों पर टीकाकरण के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी। हालंाकि दोपहर टीका समाप्त के कारण टीकाकरण बंद कर दिया गया। वहीं जिला अस्पताल में भी टीका लगाने लोगों की भीड़ आतुर नजर आई, जहंा नागरिकों ने सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी करते हुए पहले हम पहले हम जैसी नीति में ऑनलाइन पंजीयन कराने का प्रयास किया। जिसमें सावधानियां गौण हो गई, हालांकि बाद में स्वास्थ्य प्रशासन ने लोगों को समझाते हुए भीड़ को खत्म किया।
बॉक्स: अति आवश्यकत सेवाओं सहित मेडिकल सेंटर रहे मुक्त
शनिवार को प्रथम लॉकडाउन में प्रशासन द्वारा जारी आदेश के तहत जैतहरी पावर प्लांट, अमरकंटक ताप विद्युत केन्द्र चचाई, सोडा फैक्ट्री बरगवां, एसईसीएल के अधिकारी-कर्मचारियों, माल-गुड्स वाहनों, मेडिकल स्टोर, राशन दुकानें, अस्पताल, नर्सिंग होम, मेडिकल, क्लीनिक, बैंक एवं एटीएमए, दूध, सब्जी, अंडे, मांस की दुकानें तथा घर-घर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता, केन्द्र- राज्य सरकार एवं स्थानीय निकाय के सेवकों के आवागमन पर रोक नहीं थी। इसके अलावा एम्बुलेंस एवं फायर ब्रिगेड सेवाएं, टीकाकरण, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन आवाजाही करने वाले, सभी एलपीजी वितरण केन्द्र एवं पेट्रोल पंप, पीडीएस दुकानें, वेयर हाउस गोदाम एवं खाद्यान्न उठाव से संबंधित वाहनों का परिचालन जारी रहा।
---------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned