प्रेम जाल में फंसाकर बना दिया हत्यारा

Shahdol online

Publish: Nov, 14 2017 05:25:09 (IST)

Anuppur, Madhya Pradesh, India
प्रेम जाल में फंसाकर बना दिया हत्यारा

पुलिस ने 12 घंटे में आरोपी को किया गिरफ्तार, सुलझी मर्डर मिस्ट्री

अनूपपुर. कोतवाली थाना से ५ किलोमीटर दूर बर्री ग्राम पंचायत में १२-१३ नवम्बर की रात रेलवे ट्रैक पर पाए गए ५० वर्षीय अधेड़ गोपी बैगा पिता मोतिया बैगा निवासी बर्री के शव तथा अंधी हत्या का प्रकरण मान जांच कर ही पुलिस ने घटना के १२ घंटे उपरांत ही हत्या के संदेही आरोपी शोभनाथ रौठोर को गिर$फ्तार कर लिया।
जहां पूछताछ में आरोपी ने रेलवे ट्रैक के पास साथ शराब पीने तथा किसी बात को लेकर हुए विवाद में मृतक द्वारा दो तमाचा जडऩे की बात कही। जहां गोपी बैगा उसपर कुल्हाड़ी से हमला न कर दे, उसने खुद ही कुल्हाड़ी से प्रहार कर मौत के घाट उतार देने की बात कही। साथ ही हत्या के साक्ष्य को रेलवे दुर्घटना दिखाने उसे घसीटकर ५० मीटर दूर रेलवे ट्रैक पर रखने की बात कबूली। जिसमें आने वाली ट्रेन की चपेट में उसका शव क्षप्त-विक्षप्त हो गया। पुलिस ने आरोपी को घटना स्थल ले जाकर भी घटना के अंजाम देने की फीडबैक ली। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा ३०२ के तहत मामला दर्ज कर अन्य बिन्दूओं पर पूछताछ कर रही है। पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन के अनुसार अनूपपुर-कोतमा रेल खंड पर रविवार-सोमवार १२-१३ नवम्बर की रात एक अधेड़ के कटकर मौत होने की सूचना रेलवे जीआरपी ने कोतवाली पुलिस को दी थी। जिसपर १३ नवम्बर सोमवार की सुबह मौके पर पहुंची पुलिस ने ५० वर्षीय गोपी बैगा पिता मोतिया बैगा का शव पाया, जो ट्रेन की चपेट में आने से कमर से दो हिस्सो में कट गया था। घटना स्थल के मुआयने के दौरान पाए गए शव से ५० मीटर की दूरी पर पटरी पर खून के धब्बे तथा एक कुल्हाड़ी भी पाया। जिसे शव के सिर बने निशान से मिलान करते हुए पुलिस ने हत्या की आशंका जताकर शव का पंचनामा तैयार कर पीए उपरांत परिजनों को सौंप दिया। पीएम जिला अस्पताल के तीन डॉक्टरों द्वारा टीम बनाकर की गई। जिसमें डॉक्टरों ने ट्रेन से कटने से पूर्व सिर पर कुल्हाड़ी के वार होने की जानकारी दी। परिजनों को बुलाकर की गई पूछताछ में यह बात सामने आया है कि गोपी बैगा आरटीओ कार्यालय के पास रविवार की सुबह १० बजे अपनी पत्नी के साथ अपने खेत आया था, जहां शाम को पत्नी ५ बजे वापस घर लौट गई। लेकिन गोपी बैगा रात तक वापसी नहीं की। परिजनों ने सम्भावना जताई कि खेत के पास ही उसके बने मकान में गोपी ठहर गया होगा। गोपी अक्सर आरटीओ कार्यालय स्थित अपने मकान पर ठहर जाया करता था। पुलिस का कहना है कि गोपी शराब पीने का आदि था, तथा उसके तीन लड़के हैं। जिसमें बड़ा लड़का पूना में काम करता है, दूसरा धारा ३७६ के मामले में जेल में बंद है तथा तीसरा १२ वर्ष का घर पर रहता है। मृतक की पहली पत्नी २० साल पहले गुजर चुकी है, जहां गोपी बैगा ने गांव के ही अन्य महिला को पत्नी के रूप में रख लिया था। ग्रामीणों के अनुसार पूर्व में महिला और आरोपी शोभनाथ राठौर के बीच सम्बंध थे, जिसमें गोपी और शोभनाथ के बीच पूर्व में विवाद भी हुआ था। वहीं घटना की रात आरोपी और मृतक दोनों मिलकर रेलवे ट्रैक किनारे ही शराब पी थी, जहां किसी बात को लेकर उनका विवाद बढ़ा और शोभनाथ राठौर ने हत्या कर दी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned