अस्थायी संविदा भर्ती के लिए उमड़ी भीड़, सोशल डिस्टेसिंग और सुरक्षा उपायों की कर अनदेखी

भीड़ से बचने नहीं अपनाया गया गोल घेरा, भीड़ हटाने नहीं मुस्तैद सुरक्षा गार्ड

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 22 May 2020, 06:00 AM IST

अनूपपुर। कोरोना संक्रमण से प्रभावित होने वाले मरीजों व उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए अतिरिक्त संविदा के रूप में अस्थायी सहायक कर्मचारियों की भर्ती प्रक्रिया में २१ मई को जिला अस्पताल परिसर में जमकर शासकीय आदेशों की धज्जियां उड़ाई गई। आवेदन जमा करने और आवेदन लेने सैकड़ो की तादाद में महिला और पुरूष आवेदक एक दूसरे से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बिना लम्बी कतार में नजर आए। यहीं नहीं आवेदन जमा करने के लिए भी सिविल सर्जन कार्यालय विल्डिंग में सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ी रही। जहां दोनों ही स्थानों पर खड़े लगभग दो सैकड़ा से अधिक आवेदकों ने न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए २ गज की दूरी बनाई और ना ही सुरक्षा उपायों के रूप में मास्क का इस्तेमाल किया। इस दौरान सीएमएचओ सहित अन्य विभागीय वरिष्ठ पदाधिकारी सिविल सर्जन कार्यालय विल्डिंग में उपस्थित रहे, लेकिन किसी अधिकारी ने आवेदकों द्वारा बरती जा रही इस प्रकार की लापरवाही और अव्यवस्था को दूर कराने पहल नहीं की। यहां तक आवेदकों को आवेदन लेने स्वसहायता भवन से मिलने की बात कह और अधिक अव्यवस्था को जन्म दे दिया। हालात यह रहे कि यहां आवेदन जल्दी पाने लोगों की लम्बी कतार बन गई। यह हालात सुबह १० बजे से शाम चार बजे तक बनी रही। बताया जाता है कि आवेदन भरने की अंतिम तिथि २२ मई है। और आवेदन पत्र जमा करने का प्रारूप राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यालय अनूपपुर में कार्यालयीन समय सुबह ११ बजे से शाम ५.३० बजे तक २१ मई तक प्राप्त करने की जानकारी दी गई थी। जिसे लेकर सैकड़ो आवेदकों की भीड़ अचानक २१ मई की सुबह जिला अस्पताल परिसर में उमड़ पड़ी। विभागीय जानकारी के अनुसार कोविद १९ महामारी की रोकथाम और बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग जिला अनूपपुर के द्वारा अस्थायी आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। अस्थायी आइसोलेशन वार्ड संचालन के लिए ३ माह के लिए कुछ अस्थायी सहायक कर्मचारियों सपोर्ट स्टाफ जैसे १३ पद के लिए एम्बुलेंस चालक, ६५ पद के लिए वार्ड ब्यॉय महिला/ पुरूष और ३६ पद के लिए हाउस कीपर(सफाई कर्मी) की आवश्यकता पाने उनकी भर्ती किया जाना प्रस्तावित किया गया था। इसके लिए विज्ञापन १६ मई को जारी किए गए थे। लेकिन इन आवेदनों की पूर्ति प्रक्रिया में स्वास्थ्य विभाग ने सुरक्षा मानकों की अनदेखी कर दी। आवेदकों से पत्र लेने चूना का गोला घेरा तक नहीं बनाया गया था और यहां तक कार्यालय में आवेदन जमा करने के दौरान किसी प्रकार की सुरक्षा उपायों सोशल डिस्टेंसिंग अनुपालन आवेदकों को हिदायत नहीं दी गई थी। सुरक्षा के लिए ना ही सुरक्षा गार्ड तैनात कराए गए थे। विभागीय कर्मचारियों का कहना था कि इस प्रकार की लापरवाही में कार्यालय में काम करने वाले कर्मचारियों में भी कोरोना संक्रमण का भय का माहौल बना रहा।
वर्सन:
आवेदकों से कार्यालय में भीड़ एकत्रित नहीं होने के निर्देश देते हुए बिल्डिंग के नीचे खड़ा होने के लिए भेजा गया था।
बीडी सोनवानी, सीएमएचओ अनूपपुर।
-----------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned