गणेश आश्रम के अधिकार को लेकर सौंपा ज्ञापन

खंडेश्वरी व उसके सहयोगियों द्वारा लूट और जबरन कब्जा के खिलाफ मामला दर्ज की अपील

By: shivmangal singh

Published: 24 Jul 2018, 06:04 PM IST

अनूपपुर. राजेन्द्रग्राम स्थित गणेश आश्रम बैहगढ़ नाला धरहरकला में गणेश आश्रम के अधिकार को लेकर पिछले दिनों दो साधु-संत गुटों के बीच हुए विवाद में सोमवार 23 जुलाई को सोनमुडा महंत सोमेश्वर गिरी के साथ दर्जनों साधुओं ने खंडेश्वरी एवं उसके सहयोगियों के द्वारा गणेश आश्रम में जबरन कब्जा करने तथा आश्रम से 50 हजार रूपए लूटने के आरो लगाते हुए कलेक्टर के नाम अपर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। जिसमें महंत सोमेश्वर गिरी ने बताया कि वह अमरकंटक स्थित सोनभद्र का मंहत है तथा प्रार्थी का परम तपस्वी शिष्य मंहत लालगिरी जी महराज (फक्कड़ बाबा) गणेश आश्रम में थे, जिनके द्वारा मंदिर में पूजा पाठ के साथ देख-रेख की जाती थी। शिष्य 115 वर्ष उम्र का था जहां पिछले माह शिष्य के कहने पर ओंमकारेश्वर उज्जैन तीर्थदर्शन तथा भागवतकथा कराकर भंडारा कराया था। गणेश आश्रम खुला आश्रम था, जहां पिछले कुछ वर्ष से खंडेश्वरी नाम का एक अन्य बाबा रहने लगा था। खंडेश्वरी गांजा, अफीम लोगों को पिलाकर वातावरण को दूषित कर दिया है। जिसमें लालगिरी द्वारा पुलिस को मौखिक शिकायत की थी। साथ ही डीजीपी भोपाल को भी पत्र लिखकर खंडेश्वरी को जबरन आश्रम हड़पने की बात कही थी। महंत सोमेश्वर गिरी ने आश्रम में रखे सामानों को खंडेश्वरी द्वारा अपने कब्जे में रखे को वापस दिलाने के साथ साथ आश्रम को भी वापस सौंपे जाने की अपील की है। विदित हो कि 18 जुलाई को गणेश आश्रम के क्षेत्राधिकार को लेकर महंत सोमेश्वर गिरी तथा खंडेश्वरी के बीच विवाद हुआ था, जिसमें आश्रम के वास्तविक अधिकार को लेकर मामले ने तूल पकड़ा था। हालांकि अबतक इसमें किसी ने अपना आधिपत्य कायम नहीं किया है। लेकिन आश्रम अधिकार को लेकर मामला पेचिदा बना हुआ है। साथ ही डीजीपी भोपाल को भी पत्र लिखकर खंडेश्वरी को जबरन आश्रम हड़पने की बात कही थी। महंत सोमेश्वर गिरी ने आश्रम में रखे सामानों को खंडेश्वरी द्वारा अपने कब्जे में रखे को वापस दिलाने के साथ साथ आश्रम को भी वापस सौंपे जाने की अपील की है।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned