बिना कनेक्शन विद्युत बिल और खराब ट्रांसफार्मर दुरूस्त नहीं किए जाने पर सांसद ने जताई नाराजगी

सांसद ने बगैर गुणवत्ता के निर्माण कार्य करने वाले ठेकेदारों के विरूद्ध कार्रवाई करने के दिए निर्देश

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 24 Jan 2021, 11:33 AM IST

अनूपपुर। जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित किया गया। जिसमें सांसद हिमाद्री सिंह ने बिना कनेक्शन बिद्युत बिल आने और खराब ट्रंासफार्मर दुरूरूत नहीं किए जाने पर नाराजगी जताते हुए अधिकारियों को फटकार लगाई। साथ ही बगैर गुणवत्ता के निर्माण कार्य करने वाले ठेकेदारों केे विरूद्ध कार्रवाई करने के भी निर्देश जिला प्रशासन को दिए। सांसद ने विद्युत उपभोक्ताओं की शिकायतों का तत्परता से हल निकालने पर जोर देते हुए विद्युत मंडल के अधिकारियों को निर्देश दिए कि बिजली की जरूरत को ध्यान में रखते हुए विद्युत उपभोक्ताओं की शिकायतों को गंभीरता से सुनें और उनका निराकरण करें। उन्होंने विद्युत मंडल के अधिकारियों से पूछा कि सौभाग्य योजना के अंतर्गत अभी कितने गांव और मजरे-टोले विद्युत कनेक्शन से छूटे हुए हैं। और इसके लिए आप क्या कर रहे हैं?। आदिवासी विकास मद के अंतर्गत भिजवाए गए विद्युत कनेक्शन के प्रस्तावों के बारे में पूंछतांछ की। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत सडक़ों के निर्माण की समीक्षा करते हुए विभागीय अधिकारी से साफ शब्दों में कहा कि जो ठेकेदार कार्य नहीं कर रहे हैं, उन्हें हटाएं और गुणवत्तापूर्ण कार्य नहीं करने पर कार्रवाई करें। पूर्व में बनी सडक़ों को अपग्रेड करें और इन सडक़ों से भारी भरकम वाहनों के गुजरने से होने वाले क्षरण को भविष्य को देखते हुए उनकी मजबूतीकरण के प्रस्ताव भी बनाए जाएं। सांसद ने तालाब, बांध, नहरों का कार्य गुणवत्तापूर्ण ढंग से ना करने वाले ठेकेदारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के कार्यपालन यंत्री जल संसाधन को निर्देश दिए।
बॉक्स: कुपोषण पर रोकथाम के निर्देश
सांसद ने कुपोषण की रोकथाम के लिए महिलाओं पर गर्भावस्था से ही ध्यान देने पर जोर देते हुए कहा कि गर्भवती महिलाओं को चिन्हित कर उनके टीकाकरण और उन्हें मल्टी विटामिन एवं पौष्टिक आहार देने पर ध्यान दिया जाए। सहायक आयुक्त आदिवासी विकास से पूंछा कि जिले में कितनी शालाएं भवन विहीन हैं और कितनी शालाओं के लिए भवन स्वीकृत हो चुके हैं और कितने भवनों का निर्माण कार्य चल रहा है। उन्होंने बैगा बस्तियों में सडक़, पानी, बिजली, आंगनबाड़ी जैसी मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने को कहा। पेयजल व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी को हिदायत दी कि वे जनप्रतिनिधियों की पेयजल संबंधी समस्याओं को गंभीरता से सुनकर उनका निराकरण करें।
----------------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned