चिटफंड कंपनियों के विरोध में राष्ट्रीय आमजन पार्टी का तीसरे दिन भी धरना आंदोलन जारी

चिटफंड कंपनियों के विरोध में राष्ट्रीय आमजन पार्टी का तीसरे दिन भी धरना आंदोलन जारी

shivmangal singh | Publish: Sep, 04 2018 05:10:27 PM (IST) Anuppur, Madhya Pradesh, India

कंपनियों से पैसे वापस नहीं लौटाने पर विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारे दी चेतावनी

अनूपपुर. राष्ट्रीय आमजन पाटी द्वारा अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार ३ सितम्बर को तीसरे दिन भी इंदिरा तिराहा पर धरना प्रदर्शन जारी रखा। राष्ट्रीय आमजन पार्टी के अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार राठौर ने बताया कि विभिन्न मांगो को लेकर राष्ट्रीय आमजन पार्टी का आंदोलन के तीसरे दिन भी जारी है, इस दौरान सैकड़ो निवेशको ने अपने अपने दस्तावेज एकत्रित किए है। जिनमें पीएसीएल, रोजवैली, गरिमा, ओंम सांई नाथ, सांई प्रकाश, पिनकॉन, पन्ना क्रेडिट को-ऑपरेटिव, कोलकत्ता वेयर, सांईराम, सनसाईनाथ, बीएनगोल्ड, बीएनजी, सृष्टि वेयर, मिलियन माइंस, केएमजे इत्यादि कंपनी बांड पेपर की छायाप्रति शामिल है। जबकि लगभग 500 सहयोगियों ने राष्ट्रीय आमजन पार्टी की सदस्यता ग्रहण लेकर संकल्प लिए है कि अगर चुनाव के पहले हमारे मेहनत एवं खून पसीने की कमाई का पैसा वापस नहीं हुआ तो हम अपना प्रत्याशी विधानसभा चुनाव में उतारेगे व गद्दी छीनने और ब्याज सहित अपना पैसा वापस लेंगे।
उन्होंने बताया कि शासन द्वारा ही चिटफंड कंपनियों को रजिस्ट्रेशन दिया जाता है। मप्र. शासन ने ऐसे चिटफंड कम्पनियों को ऑफिस खोलने की अनुमति दी है तो हमने भी अपना पैसा लगाया और प्रधानमंत्री ने 2 लाख कंपनियों को बंद कर दिया। जिससे लाखों कर्मचारी बेरोजगार हो गए एवं 2 करोड निवेशको का पैसा वापस नहीं दिया जा रहा है।
इसका जवाब जनता चुनाव में देगी। राष्ट्रीय आमजन पार्टी ने बताया कि शासन एवं प्रशासन से हमारी मांग है कि जिन कंपनियों को संरक्षण देते हुए रजिस्ट्रेशन दिया गया उनसे हमारे जमा पैसे जल्द से जल्द वापस कराए। धरने पर बैठे आम आदमी पार्टी के पदाधिकारियों ने कहा कि अगर चिटफंड कंपनी से लोगों को पैसा नहीं दिलाया जाता है तो आगे और भी उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। धरने पर बैठे लोगों का कहना है कि चिटफंड कंपनी ने लोगों के विश्वास के छल किया है और उनकी गाढ़ी कमाई को छल पूर्वक हड़पने का कार्य किया है। जिसके लिए चिटफंड कम्पनियों में कार्यरत कर्मचारियों के विरुद्ध भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। लोगों का कहना है कि अगर इनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई नहीं होती है तो इनके हौसले और बुलंद हो जाएंगे और ये फिर से किसी न किसी माध्यम से लोगों को छलने का कार्य करेेंगे। जिससे लोगों को निजात दिलाने के लिए इन पर कार्रवाई किया जाना अति आवश्यक है।

Ad Block is Banned