लापरवाही: तीन घंटे तक बिना डॉक्टर संचालित रहा जिला अस्पताल, इलाज के लिए परेशान रहे मरीज

एक डॉक्टर की दो स्थानों पर ड्यूटी, दोपहर से शाम तक नहीं पहुंचे डॉक्टर व जिम्मेदार

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 22 Nov 2020, 11:46 AM IST

अनूपपुर। जिला अस्पताल में एक बार फिर से स्वास्थ्य सेवाएं अव्यवस्थित हो चली है। शनिवार की दोपहर जिला अस्पताल में लगभग तीन घंटे तक कोई चिकित्सक उपस्थित नहीं हुए। जहां इलाज के लिए आने वाले मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। इस दौरान मरीज पूरे अस्पताल परिसर में डॉक्टर की उपस्थिति की जानकारी में इधर-उधर भटकते रहे। लेकिन मरीजों की स्थिति और डॉक्टर की अनुपस्थिति को जानने कोई जिम्मेदार नहीं पहुंचे। शाम ५ बजे के आसपास आकस्मिक ड्यूटी के लिए एक डॉक्टर को उपलब्ध कराया गया, जिसके बाद मरीजों ने राहत पाई। लेकिन आश्चर्य कोरोना संक्रमण से जूझ रही दुनिया और मौसमी संक्रमण से बीमार होकर इलाज के लिए आने वाले मरीजों के प्रति लापरवाही अस्पताल प्रबंधकों की व्यवस्थाओं पर सवाल खड़ा करती है। बताया जाता है कि शनिवार की दोपहर प्रथम पाली समाप्ति के बाद दूसरी पाली में इमरजेंसी ड्यूटी चिकित्सक सहित ओपीडी विभाग में एक भी चिकित्सक मौजूद नहीं थे। इस दौरान एक डॉक्टर की ड्यूटी इमरजेंसी के लिए लगाई थी। लेकिन यहां भी अस्पताल व्यवस्थापक द्वारा लापरवाही बरती गई, एक ही डॉक्टर दो स्वास्थ्य केन्द्रों पर सेवाएं दे रहे हैं। जिसमें चिकित्सक रात और दिन की ड्यूटी परासी सीएचसी में करने के बाद दोपहर जिला अस्पताल में भी सेवाएं दे रहे हैं। जानकारी के अनुसार चिकित्सक ने कोविड मरीज के इलाज में विलम्ब होने के कारण अस्पताल देरी से पहुंचने की सूचना सिविल सर्जन जिला अस्पताल को दी थी, लेकिन उनकी सूचना के बाद भी सिविल सर्जन द्वारा तत्काल चिकित्स की व्यवस्था नहीं बनाया गया। इमरजेंसी चिकित्सक जिला अस्पताल के साथ परासी सीएचसी के लिए ड्यूटी पर हैं। डॉक्टर दिन के समय परासी स्वास्थ्य केन्द्र में ड्यूटी कर रहे थे। लेकिन इसकी भी जानकारी अस्पताल प्रबंधकों को तीन घंटे बाद चली, आनन फानन में अन्य चिकित्सक को मुस्तैद कराया गया।
----------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned