आम जनों की समस्याओं पर अधिकारियों की अनदेखी, 18 विभाग प्रमुखों को नोटिस

जुर्माना सहित दो वेतन वृद्धि रोक की चेतावनी, सीएम हेल्पलाइन में भी दो माह माह के वेतन पर रोक का अल्टीमेटम

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 03 Mar 2021, 10:50 AM IST

अनूपपुर। आम नागरिकों की समस्याओं को शासकीय विभागों के माध्यम से किए जाने वाले निराकरण में अब अधिकारियों की अनदेखी उनपर भारी नजर आने लगी है। शासन स्तर पर आवेदकों की समस्याओं के निराकरण के लिए बनाए गए वरिष्ठ अधिकारियों के पैनल में निर्धारित समय के बाद भी निराकरण नहीं होने पर अब जिला प्रशासन ने गम्भीरता दिखाई है। जिसमें लोक सेवा प्रदाय गारंटी अधिनियम और सीएम हेल्पलाइन में विभागों के हिस्से में आई शिकायतों के निराकरण नहीं होने पर कलेक्टर ने दो वेतन वृद्धि रोक सहित मार्च माह के वेतन आहरण पर भी रोक की चेतावनी दी है। इसके लिए विभागीय अधिकारियों को भी नोटिस जारी कर अतिरिक्त समय में सभी शिकायतों के निराकरण के निर्देश दिए हैं। विभागीय जानकारी के अनुसार लोक सेवा गांरटी प्रदाय योजना के तहत ९ विभागों को नोटिस जारी किया गया है। इनमें अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पुष्पराजगढ़, तहसीलदार तहसील जैतहरी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पुष्पराजगढ़, मुख्य नगरपालिका अधिकारी कोतमा, मुख्य नगरपालिका अधिकारी पसान, मुख्य नगरपालिका अधिकारी जैतहरी, सचिव ग्राम पंचायत सेमरवार जनपद पंचायत जैतहरी, सचिव ग्राम पंचायत गोरसी जैतहरी, विकासखंड शिक्षा अधिकारी जैतहरी, पुष्पराजगढ़ तथा नायब तहसीलदार बिजुरी शामिल हैं। जानकारी के अनुसार यहां ५८४९ आवेदन प्राप्त हुए थे, जिनमें २७०५ सेवा में कार्रवाई की गई। इसके अलावा १६९ सेवा अमान्य कर दिया गया। जबकि समय सीमा के निकलने के बाद कुल ३१ शिकायतों में २९ सेवा उपलब्ध कराई गर्ई, जबकि २ सेवा अमान्य कर दिया गया।
बॉक्स: लोक सेवा में कहां कितने प्रकरण लम्बित
तहसील कार्यालय जैतहर में ८, एसडीएम पुष्पराजगढ़ में ५, जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ में १, सीएमओ कोतमा में ४, सीएमओ पसान में १ सीएमओ जैतहरी में १, ग्राम पंचायत सेमरवार १ गोरसी में १, निर्वाचन शाखा जैतहरी १, बीआरसी पुष्पराजगढ़ २, नायब तहसीलदार बिजुरी न्यायालय में ३ प्रकरण लम्बित हैं।
बॉक्स: सीएम हेल्पलाइन के लिए ८ मार्च तक का अल्टीमेटम
सीएम हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों का 8 मार्च तक निराकरण नहीं करने पर विभागीय अधिकारियों का दो माह का वेतन रोकने के कलेक्टर ने चेतावनी दी है। इससे पूर्व भी कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा बैठक में शिकायतों को लंबित रखने वाले अधिकारियों का वेतन रोकने का आदेश दिया था। वहीं अब ९ विभागों को फिर से नोटिस जारी किया गया है। इनमें सीएमचओ, एसडीएम (राजस्व)अनूपपुर/ कोतमा/ जैतहरी/ पुष्पराजगढ़, तहसीलदार अनूपपुर/ कोतमा/ जैतहरी/ पुष्पराजगढ़, उपायुक्त सहकारिता अनूपपुर, जनपद पंचायत सीईओ अनूपपुर/ कोतमा/ जैतहरी/ पुष्पराजगढ़ तथा वन विभाग के एल 1 एवं एल 2 अधिकारी, परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण अधिकारी और जिला आपूर्ति अधिकारी शामिल हैं।
बॉक्स: सीएम हेल्पलाइन के लंबित प्रकरण
जानकारी के अनुसार सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों में २६ फरवरी तक बढ़े मामलों में कुल २४६५ के पूर्व प्रकरणों में ११५ नए प्रकरण बढ़ गए। इस प्रकार कुल २६८० मामले लंबित हैं। इनमें सर्वाधिक राजस्व विभाग ८०, पंचायत एवं ग्रामीण विकास ९, खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग १२, नगरीय विकास एवं आवास विभाग १८, गृह विभाग १७, सहकारिता विभाग ८, महिला व बाल विकास विभाग ६ सहित अन्य विभागों में लम्बी सूची दर्ज है।
वर्सन:
कलेक्टर की समीक्षा के बाद सभी अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है। सीएम हेल्प के लिए ८ मार्च तक का समय दिया गया है, नहीं तो दो माह के वेतन आहरण पर रोक लगा दी जाएगी।
सरोधन सिंह, अपर कलेक्टर अनूपपुर।
------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned