भारी वाहन ने अधेड़ को कुचला, मौत

भारी वाहन ने अधेड़ को कुचला, मौत

Amaresh Singh | Updated: 20 Jul 2019, 05:27:20 PM (IST) Anuppur, Anuppur, Madhya Pradesh, India

नागरिकों में गुस्सा, रोजाना जाम की समस्या से जूझ रहे नगरवासी

अनूपपुर। जिला प्रशासन की अनदेखी में सुस्त गति से निर्माणाधीन अनूपपुर-जैतहरी सीसी मार्ग आखिरकार गुरूवार की रात अधेड़ के मौत का कारण बन गई। रात 10.30 बजे निर्माणाधीन सड़क पर पैदल चल रहे अज्ञात अधेड़ को सामने से तेज रफ्तार में दौड़ रही भारी वाहन ने कुचल डाला, जिसमें अज्ञात लगभग 40-45 वर्षीय अधेड़ की मौके पर मौत हो गई। वाहन अधेड़ के कमर और पैर को पूरी तरह कुचल दिया।

चालक वाहन लेकर फरार हो गया
घटना के बाद वाहन चालक मौके से वाहन लेकर फरार हो गया, वहीं आसपास के लोगों ने सड़क पर तड़प रहे अज्ञात को देखकर तत्काल घटना की सूचना 100 डायल, कोतवाली पुलिस और एम्बुलेंस 108 को दी। लेकिन मौके पर एम्बुुलेंस 108 नहीं पहुंच सका। जिसके बाद लोगों ने नाराजगी जताते हुए सड़क जाम कर दिया। जिसमें दोनों दिशाओं में भारी वाहनों की लम्बी कतार लग गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने तत्काल अन्य वाहन से अज्ञात घायल को उपचार के लिए जिला अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। अस्पताल की सूचना पर पुलिस ने शव का पंचनामा कर पीएम उपरांत सुरक्षित फ्रीजर में रखवा दिया है। अभी तक मृतक का कोई परिचित अस्पताल नहीं पहुंचा है। बताया जाता है कि रात 10.30 बजे के आसपास लगभग 40-45 वर्षीय अज्ञात व्यक्ति सड़क पार कर रहा था, तभी जैतहरी की ओर से राखड़ लेकर जा रही भारी वाहन ने अमरकंटक तिराहा स्थित निर्माणाधीन सड़क के पास कुचल दिया।


तेज रफ्तार वाहनों पर लगाम लगाने नहीं रहते जवान
नगरवासियों का कहना है कि रात 9 बजे सैकड़ों की तादाद में भारी वाहनों का राखड़ लेने जैतहरी स्थित पावर प्लांट की ओर तथा वहां से राखड़ लेकर शहडोल-कटनी की ओर आवाजाही होती है। शहर के विभिन्न चौराहों पर इन तेज रफ्तार की लगाम लगाने कोई पुलिस जवान या यातायात जवान मौजूद नहीं होता। नगरीय सीमा में भारी वाहन के प्रवेश के दौरान बरती जा रही असुरक्षा और उनकी लम्बी कतारों में तेज रफ्तार से दौडऩे वाली कैप्सूल वाहन साक्षात मौत के सामान दिखती है। इस दौरान पैदल चलने वाले यात्री सहित बाइक सवार सड़क किनारे वाहनों की लाइन खत्म होने का इंतजार करना पड़ता है। इससे रोजाना जाम की समस्या बनती है जो अनूपपुर नगरवासियों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। उल्लेखनीय है कि 57 करोड़ की लगात से अनूपपुर-जैतहरी-वेंकटनगर 40.600 मीटर लम्बी सड़क वर्ष 2016 से निर्माणाधीन है। जिसमें ठेकेदार ने बाद में विलम्बता के कारण अधिक बजट बताते हुए रिवाईज इस्टीमेंट में 11 करोड़ की और बढोत्तरी करते हुए 68 करोड़ से सड़क निर्माण की जिम्मेदारी सम्भाली। लेकिन पिछले डेढ़ साल से अनूपपुर नगरपालिका की सीमा तुलसी महाविद्यालय से अमरकंटक तिराहे के बीच पूरी सड़क का निर्माण नहीं कर सका है। प्रशासनिक अधिकारियों की अनदेखी और निर्माण एजेंसी की लापरवाही में ठेकेदार ने सुस्त गति से निर्माण कराया। यहां तक फरवरी 2019 में तीन करोड़ की राशि आवंटन के दौरान माहभर में काम पूर्ण करने के दिए निर्देश में पांच माह बीत गए हैं, और वर्तमान में भी डेढ़ किलोमीटर लम्बी सड़क आधी पूर्ण हो सकी है।


सड़क पर पैदल चलने की नहीं जगह
ठेकेदार द्वारा औनेे-पौने रूप में तैयार किए जा रहे सीसी सड़क में अधिकांश हिस्से जगह जगह से विभाजित है। इसमें एकल छोर भी पूर्ण नहीं गई है। जगह जगह 8 फीट चौड़ी निर्माणाधीन सड़क पर दिन रात भारी वाहनों की आवाजाही के दौरान पैदल चलने की भी जगह नहीं बचती। पुलिस अधीक्षक किरणलता केरकेट्टा ने कहा कि दुर्घटना दुखद है, वर्तमान में अनूपपुर-जैतहरी सड़क की सुरक्षा के क्या व्यवस्थाएं बनाई गई है कोतवाली प्रभारी से जानकारी लेती हूं। अब कम संख्या में भारी वाहनों की प्रवेश एक साथ कराई जाएगी। साथ ही नो इंट्री को लेकर भी चर्चा कर आगे की व्यवस्था बनवाती हूं।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned