बजट के अभाव में पार्क का कायाकल्प अटका, देखभाल के लिए ठेकेदार ने किया इंकार

झाडिय़ों व कबाड़ से भरा बच्चों का चिल्ड्रेन पार्क

अनूपपुर। पिछले चार सालों से कायाकल्प के अभाव में वीरान पड़ी चिल्ड्रेन पार्क अनूपपुर के सौन्दर्यीकरण को लेकर नगरीय प्रशासन से लेकर जिला प्रशासन पेशोपश में रही है। जिसमें हर बार पार्क के सौन्दर्यीकरण को लेकर बनाए गए रणनीति और उसके क्रियान्वयन में कभी बजट तो कभी पहल की कमी सामने आई है। इसके पूर्व तत्कालीन कलेक्टर पी अनुग्रह ने पार्क का निरीक्षण कर उसके कायाकल्प की योजना बनाई थी। लेकिन उनके स्थानांतरण के साथ पार्क की सौन्दर्यीकरण कार्य भी अटक गया। जिसे पुन: नगरपालिका द्वारा निजी ठेके पर तीन माह में कायाकल्प कराने जैसी योजना तैयार की। इसमें साौन्दर्यीकरण पर आने वाली सामग्रियों का खर्च नगरपालिका वहन करती। लेकिन यहां भी निजी ठेकेदार ने मासिक मानदेय में अधिक राशि की मांग कर दी। जिसके भुगतान में असमर्थ नगरपालिका ने सौन्दर्यीकरण से दूरी बना ली। वहीं निजी ठेकेदार ने भी कम पैसे पर काम करने से इंकार कर दिया। जिसके कारण अनूपपुर नगरपालिका क्षेत्र का एकमात्र चिल्ड्रेन पार्क पिछले चार सालों से वीरान पड़ा हुआ है। यहां बच्चों से लेकर नगरवासियों के लिए पार्क के दरवाजे पर ताला बंद हैं। पार्क में जंगली झाडिय़ों व नगरपालिका की कबाड़ सामग्रियों भरी पड़ी है। आदिवासी लोककला संस्कृति के तौर पर पार्क की दीवारों पर उकेड़ी गई कलाकृतियां बदरंग और खराब हो गई है। जबकि नियमित देखभाल के अभाव में पार्क के अंदर लगे लाखों के पेड़-पौधे भी धीरे-धीरे नष्ट हो रहे हैं। नगरपालिका का कहना है कि इसकी निगरानी के लिए पार्क में माली की मुस्तैदी कराई गई है। लेकिन २५ लाख से अधिक खर्च पर जनभागीदारी योजना के तहत बसाई गई चिल्ड्रेन पार्क बदहाल होकर शाीपस रह गई है।
उल्लेखनीय है कि पार्क के कायाकल्प को लेकर नगरपालिका द्वारा १०० से अधिक शोभादार पौधे को लगाने के साथ पार्क के चारों कोनो पर दूधिया रोशनी वाला उच्च क्षमता की रोशनी, पाथवे के दोनों ओर गार्डन लाइट लगाने के साथ लोगों के बैैठने के लिए बेंच लगाने की योजना था। पार्क को गंदगी से बचाने जगह जगह डस्टबीन और पेयजल सुविधा मुहैया कराने की व्यवस्था बनाना था। वहीं बैठने के लिए मुलायम घास की लॉन तैयार किया जाना प्रस्तावित था। पार्क को सार्वजनिक रूप में शादी-विवाह सहित अन्य कार्यक्रमों के लिए किराए पर भी उपलब्ध कराया जाता। नगरपालिका की जानकारी के अनुसार फिलहाल पार्क सौन्दर्यीकरण के लिए ३० लोहे की कुर्सिया व दूधिया रोशनी लगाया गया है। शेष कार्य जस के तस पड़े हैं।
वर्सन:
अभी ३० लोहे की कुर्सियां मंगवाई गई हैं। पार्क में बिजली सुविधा उपलब्ध कराया गया है। जल्द ही उसके सौन्दर्यीकरण का कार्य कराया जाएगा।
रामखेलावन राठौर, अध्यक्ष प्रशासनिक समिति नगरपालिका अनूपपुर।

Rajan Kumar Gupta
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned