गंभीर अपराध से पीड़ित व्यक्तियों को मिलेगा मुआवजा

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की बैठक आयोजित

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 31 Jul 2021, 02:05 PM IST

अनूपपुर। मप्र अपराध पीडि़त पतिकर योजना के अंतर्गत 27 जुलाई को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की बैठक जिला न्यायालय में आयोजित की गई। जिसमें प्राधिकरण के अध्यक्ष प्रधान जिला न्यायाधीश रत्नेश कुमार सिंह बिसेन, सदस्य कलेक्टर सोनिया मीणा, पुलिस अधीक्षक मांगीलाल सोलंकी तथा प्राधिकरण के अन्य सदस्य उपस्थित रहे। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव भू-भास्कर यादव द्वारा बताया गया कि ग्राम करण पठार के मिहिलाल की हत्या हो गई थी, उसकी पत्नी व बच्चों को 4 लाख रुपए प्रतिकर दिलाने के आदेश दिए गए है। इसी प्रकार बलात्कार की शिकार नाबालिग बच्ची के पुनर्वास के लिए 1लाख 97 हजार प्रतिकर दिलाने का आदेश पारित किया गया है। प्रतिकर की राशि पीडि़तों के खाते में सीधे अंतरित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि किसी व्यक्ति की हत्या हो जाने पर अधिकतम चार लाख रूपए। मारपीट में स्थायी रूप से अपंग हो जाने पर अधिकतम तीन लाख रूपए, नाबालिग बच्चों के साथ लैंगिक अपराध घटित हो जाने पर दो लाख रूपए दिया जाता है। जबकि एसिड अटैक के मामलों में उपचार का सम्पूर्ण खर्च और तीन लाख रूपए के क्षतिपूर्ति दी जाती है। सामूहिक बलात्कार के मामले में पीडि़त को तीन लाख रूपए की क्षतिपूर्ति जिला प्राधिकरण द्वारा प्रदान किया जाता है। पीडि़त का चाहे कोई भी जाति या समुदाय का हो यह योजना का लाभ उसे मिलता है। राशि प्राप्त करने के लिए अपराध घटित होने से १८० दिवस के भीतर आवेदन प्रस्तुत किया जाना चाहिए, यदि कोई विलम्ब का कारण बताते हुए से आवेदन प्रस्तुत करें उस पर भी विचार किया जाता है।
------------------------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned