अमरकंटक के सौंदर्यीकरण एवं बेहतर व्यवस्था के लिए बनेगा पायलट प्रोजेक्ट

अमरकंटक के सौंदर्यीकरण एवं बेहतर व्यवस्था के लिए बनेगा पायलट प्रोजेक्ट
अमरकंटक के सौंदर्यीकरण एवं बेहतर व्यवस्था के लिए बनेगा पायलट प्रोजेक्ट

Rajan Kumar | Updated: 12 Oct 2019, 03:11:06 PM (IST) Anuppur, Anuppur, Madhya Pradesh, India

नर्मदा मंदिर ट्रस्ट की बैठक में अमरकंटक विकास के लिए आमजनो की भागीदारी बढ़ाने पर दिया बल

अनूपपुर। अमरकंटक क्षेत्र के सौंदर्यीकरण एवं बेहतर व्यवस्था के लिए १० अक्टूबर को अमरकंटक सर्किट हाउस में शहडोल कमिश्नर की अध्यक्षता में प्रशासनिक अधिकारियों व नर्मदा मंदिर ट्रस्ट सदस्यों की बैठक आयोजित की गई। जिसमें कमिश्नर आरबी प्रजापति ने नर्मदा मंदिर (नर्मदा उद्गम) ट्रस्ट की बैठक में आमजनो के सहयोग को क्षेत्र के विकास के प्रयास में भागीदार बनाने पर बल दिया। आयुक्त ने कहा नर्मदा मंदिर माई की बगिया के अधोसंरचना विकास एवं पर्यटन की सुविधाओं में वृद्धि के लिए पायलट प्रोजेक्ट तैयार करें। बैठक में विधायक पुष्पराजगढ़ फुंदेलाल सिंह मार्को, कलेक्टर अनूपपुर एवं सचिव नर्मदा मंदिर ट्रस्ट चंद्रमोहन ठाकुर, नपाध्यक्ष अमरकंटक प्रभा पनाडिय़ा, पुलिस अधीक्षक किरणलता केरकेट्टा, डीएफओ एमएस भगडिय़ा, एसडीएम पुष्पराजगढ़ ऋषि सिंघई, सीएमओ अमरकंटक एवं कोषाध्यक्ष नर्मदा मंदिर ट्रस्ट पंकज साहू, अधिकृत पुजारी नर्मदा मंदिर ट्रस्ट राजेश कुमार द्विवेदी समेत ट्रस्ट के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।
बैठक में माई की बगिया में बेहतर व्यवस्था के लिए पुजारी एवं चौकीदार की अलग व्यवस्था का निर्देश दिया गया। इसके साथ ही माई की बगिया में बाउंड्रीवाल, गुलबकावली पार्क एवं शेड के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई। नर्मदा मंदिर के चारों तरफ पूर्व में निर्मित कमरों की भांति नए कमरों एवं हाल के निर्माण, बाउंड्रीवॉल के समीप क्यारी में पौधारोपण, पानी एवं धूप से बचाव के लिए शेड का निर्माण, गायित्री एवं सावित्री सरोवर में स्टॉप डैम का निर्माण, पेयजल की व्यवस्था एवं भूमिगत जल में सुधार के लिए वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की स्थापना को पायलट प्रोजेक्ट में शामिल करने के निर्देश दिए गए। इस दौरान ट्रस्ट द्वारा निर्मित 5 दुकानों की नीलामी एवं नर्मदा मंदिर के पीछे बने कॉटेज को 200 रुपए की दर से दिए जाने का बैठक में अनुमोदन किया गया। नर्मदा जयंती के अवसर पर महोत्सव के आयोजन की जिम्मेदारी ट्रस्ट को सौंपने के साथ यह भी निर्णय लिया गया कि नर्मदा मंदिर परिसर में कार्यरत समस्त कर्मचारी ट्रस्ट द्वारा लगाए जाएं। साथ ही गायित्री सावित्री नदी के पास बने शेड को कीर्तन हाल के रूप में विकसित किए जाने पर ट्रस्ट के पदाधिकारियों द्वारा सहमति प्रदान की गई।
बॉक्स: धार्मिक स्थल की किवंदितियों की प्रतिलिपि लगाए जाए
विश्वस्तर पर विकसित करने अमरकंटक के सभी ऐतिहासिक धार्मिक धरोहरों की जानकारी सम्बंधित किवंदितियों को लिपिबद्ध कर सम्बंधित स्थलों में प्रदर्शित करने के निर्देश दिए गए। साथ ही समस्त दर्शनीय स्थलों की जानकारी के साथ रहने ठहरने के स्थलों की जानकारी को वेबसाइट में उपलब्ध कराने के प्रस्ताव को पायलट प्रोजेक्ट में शामिल करने के निर्देश दिए। अमरकंटक विकास प्राधिकरण को टूरिस्ट गाइडों के पंजीयन करने एवं प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए कार्ययोजना बनाने की जिम्मेदारी सौंपीं गई। जबकि बैठक में परिसर के बाहर नारियल तोडऩे एवं अगरबत्ती जलाने की सुविधा करने के निर्देश दिए गए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned