scriptPolice on the backfoot, issued a press note at night and told that the | बैकफुट पर पुलिस, रात में प्रेसनोट जारी कर बताया सीएमओ पर नहीं संदेही पर एफआइआर, जांच शेष | Patrika News

बैकफुट पर पुलिस, रात में प्रेसनोट जारी कर बताया सीएमओ पर नहीं संदेही पर एफआइआर, जांच शेष

एफआइआर में एसडीओपी ने नाम के साथ बताया संदेही, लगाए विभिन्न धाराए, चर्चाओं का बाजार रहा गर्म

अनूपपुर

Updated: May 26, 2022 09:16:28 pm

अनूपपुर। बिजुरी नगरपालिका सीएमओ को प्रारंभिक दृष्टया में लोकधन के गबन का संदेही मानते हुए पुलिस के दर्ज एफआइआर पर अब स्वयं पुलिस बैकफुट पर वापस लौटती नजर आ रही है। २३ मई को दिन में मीडिया में प्रसारित हुई खबरों के बाद रात १० बजे पुलिस ने इस मामले में प्रेस नोट जारी किया, जिसमें बताया कि बिजुरी थाना में पंजीबद्ध अपराध की धारा 420, 467, 468, 471 में मुख्य नगरपालिका अधिकारी बिजुरी मीना कोरी को आरोपी नहीं बनाया गया है। विवेचना एवं प्राप्त तथ्यों के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। जबकि एसडीओपी कोतमा की ओर से दर्ज किए गए मामले में एसडीओपी ने आवेदक अनावेदक एवं साक्षियों के कथन तथा अनावेदक के हस्ताक्षर नमूना देने एवं अपेक्षित दस्तावेजों को प्रस्तुत करने में की गई हीलाहवाली के आधार पर प्रथम दृष्टया अनावेदक मीना कोरी नगर पालिका अधिकारी बिजुरी को फर्जी हस्ताक्षर कर कूट रचित दस्तावेज तैयार कर लोकधन का गबन करने का संदेही मानते हुए अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। इस एफआइआर के बाद जिलेभर में चर्चाएं गर्म रही, लोगों का कहना है कि यह किसी हत्या या उससे बड़ा संगीन अपराध नहीं था, जिसमें आरोपी की पहचान संदेह के आधार पर तय हो रहा था। यहां आरोप प्रत्यारोप दो पक्षों के बीच चल रहे थे, जिसमें सीएमओ के खिलाफ आरोप लगाए गए थे। जबकि सीएमओ की तरफ से भी दूसरे पक्ष पर आरोप लगाए गए। यहां पुलिस ने बिना जांच पड़ताल किए अपराध दर्ज किए है तो प्रावधानों के अनुसार दोनों पक्षों की ओर से दर्ज शिकायत पर दोनों पक्ष के खिलाफ भी अपराध पंजीबद्ध होते। आखिर दो माह से चली आ रही खींचातानी में एक ही दिन में पुलिस ने बिना जांच कैसे अपराध की रणनीति बना डाली, यहां तक दिन की बजाय रात में मामला दर्ज करना जरूरी समझा। विदित हो कि २२ मई की रात 11 बजे बिजुरी थाने में अध्यक्ष-उपाध्यक्ष सहित असंतुष्ट पार्षदों की शिकायत पर प्रारंभिक रूप में वित्तीय गड़बड़ी को दोषी मानते हुए सीएमओ पर मामला दर्ज किया है।
बॉक्स: भोपाल के अधिकारियों ने कलेक्टर से ली जानकारी
सीएमओ के खिलाफ कार्रवाई के बाद भोपाल स्तरीय अधिकारियों ने कलेक्टर से मामले पर जानकारी ली है। जिसमें कलेक्टर सोनिया मीणा ने अधिकारियों को सीएमओ के खिलाफ दर्ज प्रकरण पर जानकारी देते हुए आगे की विधिपूर्वक कार्रवाई की बात कही है। उन्होंने बताया कि पुलिस की कार्रवाई से अधिकारियों को अवगत कराया गया है।
--------------------------------------------
Police on the backfoot, issued a press note at night and told that the
बैकफुट पर पुलिस, रात में प्रेसनोट जारी कर बताया सीएमओ पर नहीं संदेही पर एफआइआर, जांच शेष

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रा के बीच अनंतनाग में आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिसकर्मी को मारी गोलीसीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'IND vs ENG: पुजारा के पचासे की बदौलत इंग्लैंड पर बढ़त 257 रनों की, तीसरा दिन रहा भारत के नामRajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरीAchievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.