पीठासीन अधिकारी गए अवकाश पर, बिजुरी नगरपालिका उपाध्यक्ष पद के निर्वाचन की तारीख बढ़ी

पूर्व में भी उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर बुलाए गए सम्मिलन में बढ़ाई गई थी तिथि

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 17 Nov 2020, 11:42 AM IST

अनूपपुर। नगरपालिका बिजुरी परिषद के उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर बुलाए गए सम्मिलन और उपाध्यक्ष निर्वाचन के लिए होने वाले सम्मिलन के तारीखों के बढऩे का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। १७ नवम्बर को बिजुरी नगरपरिषद उपाध्यक्ष के लिए होने वाले सम्मिलन/ निर्वाचन की तारीख अब आगामी १ दिसम्बर तक के लिए बढ़ा दी गई है। १४ अक्टूबर को जारी आदेश के तहत उपाध्यक्ष के लिए सम्मिलन १७ नवम्बर को होना तय था। लेकिन इस निर्वाचन के लिए बनाए गए पीठासीन अधिकारी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पुष्पराजगढ़ अभिषेक चौधरी के अवकाश पर चले जाने के कारण इसे स्थगित कर आगामी तारीख पर सम्मिलन बुलाने निर्धारित किया गया है। कलेक्टर ने १३ नवम्बर को आदेश पत्र जारी करते हुए इसकी सूचना नगरपरिषद बिजुरी सीएमओ सहित पार्षदों को दी। जिसके बाद मंगलवार को होने वाले उपाध्यक्ष के लिए निर्वाचन में १३ दिनों का ब्रेक मिल गया है। इससे पूर्व कलेक्टर द्वारा १४ अक्टूबर को जारी आदेश पत्र में कहा गया था कि मप्र नगरपालिका अधिनियम १९६१ की धारा ४३(क) के तहत नगरपालिका परिषद बिजुरी के उपाध्यक्ष नीलम सचिन जैन के विरूद्ध लाया गया अविश्वास प्रस्ताव ७ अगस्त को पारित हो जाने से रिक्त पद की पूर्ति के लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पुष्पराजगढ़ को पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया जाता है। इस सम्मिलन की कार्रवाई नगरपालिका परिषद बिजुरी के सभाकक्ष में १७ नवम्बर को सुबह ११ बजे से की जाएगी। वहीं उपाध्यक्ष के खिलाफ 7 अगस्त को बुलाए गए सम्मिलन में उपाध्यक्ष के समर्थन में ४ मत तथा विरोध में 12 मत आए थे। असंतुष्ट पार्षदों की जीत के साथ नगरपालिका परिषद बिजुरी में उपाध्यक्ष पद आगामी चयन प्रक्रिया तक के लिए रिक्त हो गया था। नीलम सचिन जैन ने निर्दलीय से नगरपालिका बिजुरी में वार्ड क्रमांक 9 से पार्षद के रूप में चयनित हुई थी। लेकिन बाद में भाजपा का समर्थन प्राप्त कर लिया था। इनके खिलाफ 27 मई को बिजुरी के 15 पार्षदों में 12 असंतुष्ट पार्षदों ने विरोध का बिगुल बजाते हुए कलेक्टर कार्यालय पहुंच अविश्वास पत्र सौंपा था। जिसमें आरोप लगाया था कि उपाध्यक्ष नगरपालिका परिषद बिजुरी की कार्यप्रणाली से परिषद सदस्य/ पार्षदगण असंतुष्ट हैं। उपाध्यक्ष नगरपालिका परिषद बिजुरी में अपना विश्वास खो चुकी हैं।
बॉक्स: पूर्व में प्रस्तावित तिथि पर टली थी प्रक्रिया
उपाध्यक्ष के खिलाफ प्रशासन द्वारा 17 जुलाई को अविश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया निर्धारित की गई थी। लेकिन 17 जुलाई से पूर्व प्रशासन ने पत्र जारी करते हुए इसमें वर्ग 1 की जगह वर्ग 2 के अधिकारी के पीठासीन अधिकारी बनाए जाने पर त्रुटि बताते हुए सम्मिलन आगामी तिथि तक स्थगित कर दी थी। वहीं अब उपाध्यक्ष पद के लिए होने वाले निर्वाचन में पीठासीन अधिकारी के अवकाश पर जाने पर पुन: तारीख को आगे बढ़ाया गया है।
बॉक्स: कहां किनके पार्षद
बिजुरी नगरपालिका अंतर्गत कुल 15 वार्ड है। इनमें सीता राम यादव वार्ड क्रमांक-1 भाजपा, संतोषी सिंह वार्ड क्रमांक 2 निर्दलीय, सहेबिन पनिका वार्ड क्रमांक 3 भाजपा, सतीश द्विवेदी वार्ड क्रमांक 4 भाजपा, अन्नू देवी रजक वार्ड क्रमांक 5 निर्दलीय, रफअत जावेद अहमद वार्ड क्रमांक 6 बसपा, पिन्टू आशा रजक वार्ड क्रमांक 7 निर्दलीय, संजय कोल वार्ड क्रमांक 8 भाजपा, नीलम सचिन जैन वार्ड क्रमांक 9 निर्दलीय, पूनम केशकुमार चौधरी वार्ड क्रमांक 10 भाजपा, मुकेश जैन वार्ड क्रमांक 11 भाजपा, लक्ष्मी मुकेश शुक्ला वार्ड क्रमांक 12 कांग्रेस, कलावती राम सिंह वार्ड क्रमांक 13 भाजपा, बीके बंसल वार्ड क्रमांक 14 निर्दलीय, देवकी साहू वार्ड क्रमांक 15 कांग्रेस समर्थित पार्षद हैं।
वर्सन:
एसडीएम पुष्पराजगढ़ अवकाश पर चले गए हैं। कलेक्टर ने इस मामले में आदेश पत्र जारी करते हुए तिथि आगे के लिए निर्धारित कर दी है।
सरोधन सिंह, अपर कलेक्टर अनूपपुर।
-------------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned