scriptProcurement orders canceled at incomplete Agricultural Service Center, | अधूरे कृषि सेवा केन्द्र पर उपार्जन के आदेश निरस्त, प्रशासन ने बदला उपार्जन स्थल | Patrika News

अधूरे कृषि सेवा केन्द्र पर उपार्जन के आदेश निरस्त, प्रशासन ने बदला उपार्जन स्थल

700 किसानों को होती परेशानी, तीन साल से बहुद्देश्यीय कृषि सेवा केन्द्र का निर्माण कार्य अधूरा, विभाग ठेकेदार को तीन साल से कर रहा नोटिस

अनूपपुर

Published: December 02, 2021 12:12:42 pm

अनूपपुर। जिला मुख्यालय अनूपपुर स्थित आदिम जाति सहकारी समिति के अधीनस्थ मेडियारास में मंडी बोर्ड द्वारा निर्माण कराए जा रहे बहुद्देशीय कृषि सेवा केन्द्र के अधूरे कार्य और बिजली व पानी की असुविधा के साथ एप्रोच मार्ग की कमी पर अब प्रशासन ने उपार्जन के पूर्व जारी आदेश को निरस्त कर दिया है। जिसके बाद प्रशासन द्वारा स्वामी विवेकानंद स्मार्ट सिटी के बगल में मेडियारास उपार्जन केन्द्र को स्थापित करते हुए उपार्जन के निर्देश दिए हैं। जिला मुख्यालय के ही स्मार्ट सिटी के पास संचालित उपार्जन केन्द्र से अब मेडियारास सहित आसपास के गांवों के लगभग ७०० किसानों को बहुद्देशीय कृषि सेवा केन्द्र पर होने वाले परेशानियों से मुक्ति मिल गई है, वहीं उपार्जन के दौरान बनने वाली अव्यवस्था में उपार्जन प्रबंधकों को भी राहत मिल गई है। बताया जाता है कि जिले के उपार्जन केन्द्रों में पिछले वर्ष से भंडारित धान के भंडारण और नए उपार्जित होने वाले धान के रख-रखाव के साथ भंडारण को देखते हुए प्रशासन ने मेडियारास गांव स्थित निर्माणाधीन बहुद्देशीय कृषि सेवा केन्द्र को उपार्जन केन्द्र बनाते हुए उपार्जन कराने के निर्देश जारी किए थे। जिसमें दुलहरा, कासा, कोंडा, पिपरिया, लखनपुर गांव सहित अन्य गांवों के किसान धान का उपार्जन करते। जिसमें पत्रिका की पड़ताल में यह बात सामने आई कि प्रशासन द्वारा जो बहुद्देशीय कृषि सेवा केन्द्र को उपार्ज्रन केन्द्र बनाया गया है, वहां अव्यवस्थाएं व शेड अधूरी है। जिसमें किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। बताया जाता है कि मेडिय़ारास में निर्माणाधीन कृषक सेवा भवन का कार्य 1करोड़ 30 लाख रुपए की लागत से वर्ष 2016 में प्रारंभ किया गया था। जिसके अंतर्गत इस कार्य का ठेका मैसर्स शिव फर्म रीवा को दिया गया था। जिसके द्वारा 5 वर्ष में भी निर्माण कार्य पूर्ण नहीं किया गया है। ठेकेदार ने शुरूआती दौर में काम कराने के बाद बिना विभाग को सूचना दिए काम बंद दिया। जिसके कारण निर्माणाधीन भवन पिछले पांच साल से बनने के उपरांत उपयोग के अभाव में खंडहर बनने लगी है।
बॉक्स: तीन साल से काम बंद, विभाग ठेकेदार को भेज रहा नोटिस, कार्रवाई नहीं
कार्यपालन यंत्री मंडी बोर्ड रीवा सीलल गर्ग ने बताया कि ठेकेदार द्वारा २०१६ से कार्य आरम्भ किया गया था। जिसमें काम अधूरा छोड़ दिया है। यहां लगभग तीन साल से काम बंद हैं। इस दौरान सम्बंधित ठेकेदार को लगातार नोटिस जारी किया गया है। जिसमें ठेकेदार द्वारा पुराना पेमेंट १२-१५ लाख बकाया के भुगतान की बात कही है। अब अनूपपुर से भेजी गई रिपोर्ट पर हमने एमडी भोपाल को पत्र लिखकर ठेका निरस्त की बात कही है। ठेका निरस्त के आदेश के बाद अन्य दूसरे ठेकेदार से काम करवाकर बहुद्देशीय कृषि सेवा केन्द्र के बचे कार्य को पूरा कराया जाएगा। लेकिन अधिकारियों के इस कार्रवाई में आश्चर्य की बात है कि विभाग इन तीन सालों में सिर्फ नोटिस भेजा, जिसमें ठेकेदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।
बॉक्स: तीन साल से केन्द्र पर लटका है ताला, मंडी अधिकारियों ने भी नहीं दिखाई गंभीरता
पड़ताल में यह बात सामने आई कि ठेकेदार द्वारा यहां पिछले तीन साल से काम बंद कर ताला लगाकर छोड़ दिया गया है। जिसके कारण यहां अब भी २ शेड में एक शेड का कार्य अधूरा है, बिजली की सुविधा उपलब्ध नहीं हो सकी है और ना ही ट्रांसफार्मर लगाए जा सके हैं। वहीं मुख्य मार्ग से केन्द्र तक एप्रोच मार्ग का भी निर्माण नहीं कराया गया है। जिसके कारण अगर किसान अपनी उपज लेकर भी जाना चाहते तो मार्ग के अभाव में नहीं पहुंच पाते। इस दौरान अनूपपुर उपज कृषि मंडी के अधिकारियों ने लापरवाही बरती। बताया जाता है कि प्रदेश स्तर पर मंडी बोर्ड द्वारा प्रस्तावित १०२ बहुद्देशीय कृषि सेवा केन्द्र में १०० केन्द्र का निर्माण कार्य पूरा कर लिया है, लेकिन अनूपपुर और बनेरा मैहर मार्ग के दो कृषि सेवा केन्द्र को अब तक कार्य पूरा नहीं हो सका है।
वर्सन:
हमने ठेकेदार को नोटिस जारी किया है, जिसमें पुराना भुगतान की बात कह काम नहीं कर रहा है। जिसमें एमडी भोपाल को पत्र लिखकर ठेका निरस्त की कार्रवाई की अपील की गई है। आदेश मिलने के साथ ही अधूरा कार्य पूरा कराया जाएगा।
सलील गर्ग, कार्यपालन यंत्री मंडी बोर्ड रीवा।
---------------------------------------
कृषि सेवा केन्द्र अधूरा होने के साथ हैंडओवर भी नहीं हुआ था। जिसे देखते हुए पूर्व आदेश को निरस्त कर स्मार्ट सिटी के पास दो सेंटर बनाते हुए व्यवस्था बनाई गई है। मुख्य मार्ग होने से किसानों को परेशानी नहीं होगी।
विजय डहेरिया, जिला प्रबंधक नान, एवं डिप्ट कलेक्टर व एसडीएम जैतहरी।
---------------------------------------------------
Procurement orders canceled at incomplete Agricultural Service Center,
अधूरे कृषि सेवा केन्द्र पर उपार्जन के आदेश निरस्त, प्रशासन ने बदला उपार्जन स्थल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.