सप्तमी व्रत: कोविड सेंटर में इलाजरत माताओं ने संतान की दीर्घायु लिए शिव और विष्णु की पूजा अर्चना

कोविड सेंटर अनूपपुर हुआ धर्मामय, दीप और हवन की सुगंध फैली चहूंओर

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 26 Aug 2020, 06:03 AM IST

अनूपपुर। कोरोना संकट काल में भी भारतीय नारियों ने अपने पर्व, संस्कार, संस्कृति का महत्व बनाए रखा है। भाद मास के शुक्ल पक्ष सप्तमी में मनाए जाने वाला संतान सप्तमी व्रत २५ अगस्त को जिलेभर में मनाया गया। जिसमें माताओं ने संतान की दीर्घायु की कामना लिए घरों में ईष्टदेवों की विशेष पूजा अर्चना की। वहीं कोविड सेंटर अनूपपुर में एक भी ऐसे ही हृदयस्पर्शी दृश्य ने वहां उपस्थित कोरोना संक्रमितों को भावुक कर दिया। और यह सोचने पर विवश कर दिया कि माताएं विकट परिस्थितयों में भी अपने बच्चे पति और घर के सदस्यों के लिए कितना चिंतित औऱ शुभ चिंतक होती है। भारतीय सनातन परंपरा में भाद्र शुक्ल पक्ष की सप्तमी को माताएं अपने बच्चों की लम्बी आयु एवं उत्तम स्वास्थ्य के लिए उपवास रह कर पूजा पाठ करती हैं। जिले की कुछ महिलाएं कोरोना पाजिटिव पाई गई हैं। जिन्हे कोविड सेंटर अनूपपुर में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया है।
इस कठिन संकट काल में जब लोगों को अपने प्राण बचाना मुश्किल पड रहा है...इन महिलाओं ने कोविड सेंटर में ही उपवास रह कर अपने बच्चों के लिए मंगलकामना की। कोविड सेंटर में 18६ से अधिक मरीज हैं । जिसने भी इन माताओं की ममता, त्योहार के प्रति आस्था को देखा, वही भावुक हो गया। लोगों ने श्रद्धानवत होकर इन माताओं की लंबी उम्र की कामना करते हुए इन्हें प्रणाम् किया है।
विदित हो कि यह व्रत विशेष रूप से संतान प्राप्ति, संतान रक्षा और संतान की उन्नति के लिए किया जाता है। इस व्रत में भगवान शिव और माता गौरी की पूजा का विधान है। सप्तमी का व्रत विशेष महत्व रखता हैं। सप्तमी का व्रत मां अपनी संतान के लिए करती हैं। मंगलवार की सुबह से ही माताओं ने स्नान कर व्रत की तैयारी की। माताओं ने भगवान विष्णु एवं शिव की पूजा अर्चना कर व्रत शुरू का शुभारम्भ किया। निराहार व्रत रह कर संतान की रक्षा की कामना करते हुए खीर पूरी तथा गुड़ के पुए बनाए। भोलेनाथ को कलावा अर्पित करा स्वयं धारण किया और इस व्रत की कथा सुनी। माताओं ने अपने बच्चों की सुख समृद्घि के लिए ईश्वर से कामना की।
---------------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned