शबद कीर्तन और अरदास के साथ मना गुरु नानक का प्रकाश जन्मोत्सव

श्रद्धा के साथ श्रद्धालुओं ने किया नदीघाटों पर किया कार्तिक पूर्णिमा स्नान, कोरजा में आयोजित हुआ मेला

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 01 Dec 2020, 12:18 PM IST

अनूपपुर। कार्तिक माह के अंतिम दिन ३० नवम्बर सोमवार को पडऩे वाली कार्तिक पूर्णिमामासी को मनाई जाने वाले गुरूनानक का प्रकाश जन्मोत्सव हर्षोल्लास और श्रद्धाभाव के साथ मनाया गया। जिला मुख्यालय सहित कोतमा, जैतहरी, बिजुरी, राजनगर, पुष्पराजगढ़, अमरकंटक सहित अन्य नगरीय क्षेत्रों में स्थापित गुरूद्वारों में गुरु नानक जयंती मनाई गई। सिक्खो के प्रथम गुरु गुरुनानक देव जी की याद में गुरुपर्व के मौके पर गुरूद्वारों में श्री गुरुग्रंथ साहिबजी का पाठ किया गया। वहीं कार्तिक पूर्णमासी के मौके पर अमरकंटक स्थित नर्मदा नदी घाट पर सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने स्नान कर माता नर्मदा के मंदिर में विशेष पूजा अर्जना की। इसके अलावा सोन, तिपान, जोहिला जैसी अन्य नदीघाटों पर भी कार्तिक मासव्रती महिलाओं ने स्नान कर मंदिरों में विशेष पूजा अर्चन की तथा परिजनों के सुख-समृद्धि की मंगलकामना की। अनूपपुर नगरपालिका वार्ड नंबर 3 स्थित श्री गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा में गुरु नानक देव का जन्मोत्सव शबद कीर्तन और अरदास के साथ आरम्भ हुआ। जिसमें नगर के सिक्ख और सिंधी सम्प्रदाय के लोगों ने गुरूद्वारा पहुंचकर गुरूनानक की याद में गुरु सिंहसभा के सामने मथ्था ठेका। हालंाकि कोरोना महामारी के चलते सभी कार्यक्रम शासन द्वारा जारी गाईड लाईन अनुसार सादगी के साथ मनाया गया। सुबह ही सभी संगत द्वारा श्रीनिशान साहिब जी सेवा की गई। इसके उपरांत महिला मंडल द्वारा श्री सुखमनी साहिब का पाठ व शबद कीर्तन गाए गए। साथ ही बच्चों द्वारा भी विभिन्न सेवाएं की गई। जिसमें शीशा जगवानी, कलप जगवानी, वीव जगवानी, पियूष तौलवानी, रिषभ थारवानी, आदवीक जगवानी, हर्षित भोजवानी, ईनाया जगवानी, ईशानी जनवानी, तवीशा थवानी, अनाया तौलवानी, अगमप्रीत कौर सहित करतार सिंह, भगवानदास, आकाश, सनी, अर्जुन दास, एतेजू मल, परविंदर सिंह, अमरप्रीत सिंह, ज्ञानी, बनप्रीत सिंह, सहित अन्य लोग शामिल रहे। सिंधु समाज द्वारा बंद पैकेट में लंगर का प्रसाद व कढा वितरित किया। बच्चों द्वारा गीत एवं पहेली का कार्यक्रम कर आतिशबाजी की गई।
बॉक्स: ५० वर्षो से लग रहा कार्तिक पूर्णमासी मेला
बिजुरी के वार्ड क्रमांक १३ कुर्जा गांव में कार्तिक मास पूर्णिमा के मौके पर राम मंदिर में मेले का आयोजन हुआ, जहां हनुमान की विशाल प्रतिमा के साथ दूसरी ओर मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम का मंदिर स्थापित है। बताया जाता है कि यहां पिछले ५० वर्षो से अधिक कार्तिक पूर्णमासी के मौके पर मेले का आयोजन होता है, जहां आसपास के दर्जन गांव से भक्तजन पहुंचकर विशेष पूजन अर्चन करते हैं। वहीं सुरक्षा में पुलिस की विशेष व्यवस्था बनी रहती है।
--------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned